देश

नितिन गडकरी ने कहा- आठ यात्रियों तक के वाहनों के लिए छह एयरबैग अनिवार्य हैं

नई दिल्ली। भारतीय बाजार (Indian market) में बिकने वाले वाहनों में यात्रियों की सुरक्षा को लेकर सरकार ने कई कदम उठाए हैं। केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Highways Minister Nitin Gadkari) ने शुक्रवार को एक ट्वीट कर कहा कि उन्होंने आठ लोगों को ले जाने वाले मोटर वाहनों के लिए न्यूनतम छह एयरबैग अनिवार्य करने के लिए जीएसआर अधिसूचना के मसौदे को मंजूरी दे दी है।

गडकरी ने कहा, “यह आखिरकार सभी सेगमेंट में यात्रियों की सुरक्षा सुनिश्चित करेगा, भले ही वाहन की कीमत/वैरिएंट कुछ भी हो।” 8 यात्रियों तक को ले जाने वाले मोटर वाहनों में, सवार लोगों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए, जीएसआर अधिसूचना (GSR Notification) के मसौदे में कम से कम 6 एयरबैग होना अनिवार्य कर दिया गया है। मंत्रालय ने पहले ही 1 जुलाई 2019 से ड्राइवर एयरबैग और इस साल 1 जनवरी से फ्रंट को-पैसेंजर एयरबैग के फिटमेंट को लागू करना अनिवार्य कर दिया है।

यह फैसला M1 वाहन श्रेणी में लिया गया है कि आगे और पीछे दोनों कंपार्टमेंट (compartment) में बैठे लोगों के सामने और पीछे से होने वाले टक्करों के असर को कम करने के लिए चार अतिरिक्त एयरबैग अनिवार्य हैं। इसमें दो साइड/साइड टोरसो एयरबैग और दो साइड कर्टेन/ट्यूब एयरबैग शामिल होंगे जो कार के सभी यात्रियों को कवर करेंगे। उन्होंने कहा कि भारत में मोटर वाहनों को पहले से कहीं ज्यादा सुरक्षित बनाने के लिए यह एक महत्वपूर्ण कदम है।

बता दे की भारत उन शीर्ष देशों में से एक है जहां हर साल चिंताजनक रूप से बड़ी संख्या में सड़क दुर्घटनाएं दर्ज होती हैं। इन सड़क हादसों में बड़ी संख्या में मौतें और गंभीर चोटें आती हैं। जबकि यातायात उल्लंघन को दुर्घटनाओं के पीछे प्रमुख कारणों के रूप में जिम्मेदार ठहराया जाता है। लेकिन अपर्याप्त सुरक्षा उपाय, विशेष रूप से छोटे एंट्री लेवल के वाहनों में भी बड़ी संख्या में मौतें का कारण होती हैं।

Share:

Next Post

एक दिन पहले स्वच्छता के ब्रांड एम्‍बेसडर बने थे रजा मुराद, अब निगम ने बदला फैसला

Fri Jan 14 , 2022
भोपाल. फिल्म अभिनेता रजा मुराद अब भोपाल (Bhopal) के स्वच्छता ब्रांड एम्बेसडर नहीं होंगे. नगर निगम ने चौबीस घंटे के अंदर ही अपना फैसला पलट दिया है. नगरीय प्रशासन मंत्री भूपेन्द्र सिंह (Urban Administration Minister Bhupendra Singh) के एतराज के बाद रजा मुराद (Raza Murad) की नियुक्ति का आदेश निरस्त कर दिया गया है. भोपाल […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.