बड़ी खबर

‘अब इन दवाओं को लेने की जरूरत नहीं’, कोरोना के इलाज के लिए सरकार ने जारी कीं नई गाइडलाइंस

नई दिल्‍ली। भारत में कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के मामलों में लगातार गिरावट देखी जा रही है, जिसे लेकर अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health Ministry) के स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय (DGHS) ने कोरोना बीमारी के इलाज को लेकर अपनी गाइडलाइंस में भी बदलाव किए हैं, जिसके तहत बिना लक्षण वाले और हल्के मामलों के लिए एंटीपीयरेटिक (बुखार के लिए) और एंटीट्यूसिव (ठंड लगने पर) को छोड़कर बाकी सभी दवाओं को हटा दिया गया है। इसी के साथ, नई गाइडलाइंस में जरूरी न होने के मरीजों को सीटी स्कैन न कराने की भी सलाह दी गई है। गाइडलाइंस में बॉडी हाइड्रेशन के साथ सही खानपान पर जोर दिया गया है।

27 मई को जारी किए गए संशोधित दिशानिर्देशों में उन सभी दवाओं को प्रभावी ढंग से हटा दिया गया, जिन्हें डॉक्टर बिना लक्षण वाले या हल्के लक्षण वाले कोरोना मरीजों के लिए भी लिख रहे थे। इन दवाओं में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन, आइवरमेक्टिन, डॉक्सीसाइक्लिन, जिंक, मल्टीविटामिन आदि शामिल हैं। नई गाइडलाइंस में कहा गया है कि बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों को इनमें से किसी दवा की जरूरत नहीं है। जबकि कोरोना के अलावा पहले से अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों के लिए दवाएं जारी रखी जानी चाहिए।

कब ले सकते हैं कौन सी दवा
हल्के मामलों में बुखार, सांस फूलने, ऑक्सीजन लेवल या किसी भी लक्षण पर खुद निगरानी रखने की सलाह दी गई है। नई सरकारी गाइडलाइंस के मुताबिक, कोरोना के लक्षण दिखने पर लोग एंटीपायरेटिक और एंटीट्यूसिव दवाएं (Antipyretic and Anti-tussive) ले सकते हैं, वहीं खांसी के लिए 5 दिनों तक दिन में दो बार 800 एमसीजी की डोज पर बुडेसोनाइड ले सकते हैं। इन सब के अलावा किसी और दवा की जरूरत नहीं है। अगर लक्षण बने रहते हैं या और बिगड़ते हैं, तो मरीज की तुरंत जांच की जानी चाहिए।

जरूरी न होने पर न करवाएं सीटी स्कैन
सरकार की नई गाइडलाइंस में डॉक्टरों से कहा गया है कि वे जरूरी न होने के मरीज को सीटी स्कैन कराने की राय भी न दें। मालूम हो कि कई रिपोर्ट्स में ये बताया गया है कि सीटी स्कैन मशीन से निकलने वाले रेडिएशन काफी नुकसानदायक होते हैं, जो कैंसर का खतरा बढ़ा देते हैं। वहीं, मास्क, हाथों की स्वच्छता और फिजिकल डिस्टेंस के पालन करने के महत्व पर जोर देते हुए मरीजों को बॉडी हाइड्रेशन के साथ स्वस्थ और संतुलित खानपान की सलाह दी गई है। इसी के साथ, मरीजों और उनके परिवारों को फोन, वीडियो-कॉल आदि के जरिए जुड़े रहने और पॉजिटिव बातचीत करने के लिए भी कहा गया है।

देश में कोरोना संक्रमण के हालात
देश में कोरोना संक्रमण के नए मामलों की संख्या लगातार कम हो रही है। आज पिछले 61 दिनों में सबसे कम 1,00,636 नए केस आए हैं। देश में कोविड से मृत्यु दर 1.20 फीसदी है और रिकवरी रेट 93.94 फीसदी है। एक्टिव केस की संख्या भी घटकर 14 लाख हो गई है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, देश में कोविड से अब तक 3,49,186 लोगों की मौत हो चुकी है। इसमें सिर्फ महाराष्ट्र में 1 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। रविवार को तमिलनाडु में संक्रमण के सबसे ज्यादा 20,421, केरल में 14,672, महाराष्ट्र में 12,557 और कर्नाटक में 12,209 नए मामले सामने आए। इन चारों राज्यों में एक्टिव केस की संख्या 8,44,974 है, जो देश के कुल एक्टिव मामलों का 60 फीसदी है।

Next Post

WTC Final: MS धोनी का ये भरोसेमंद खिलाड़ी बनेगा Virat Kohli के लिए बड़ी मुसीबत

Mon Jun 7 , 2021
डेस्‍क। आईसीसी वर्ल्‍ड टेस्‍ट चैंपियनशिप (ICC World Test Championship) का खिताबी मुकाबला भारत और न्‍यूजीलैंड (India vs New Zealand) के बीच 18 जून से खेला जाना है। ये मैच इंग्‍लैंड के साउथैंप्‍टन में आयोजित होना है। इसमें विराट कोहली के पास बतौर कप्‍तान अपना पहला आईसीसी टूर्नामेंट जीतने का सुनहरा मौका भी है। लेकिन उनकी […]