इंदौर न्यूज़ (Indore News) चुनाव 2024

7 सेकंड तक दिखेगा खुद का वोट, पहली बार क्यूआर कोड वाली पर्ची बंटी

आज अंतिम प्रशिक्षण का विशेष सत्र, 16 को रवाना होंगे स्टेडियम से मतदान दल, आज से वाहनों का अधिग्रहण भी शुरू

इन्दौर। इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (electronic voting machines) पर कांग्रेस सहित विपक्षी दलों द्वारा आरोप लगाए जाते रहे हैं। इसके चलते कुछ वर्ष पूर्व चुनाव आयोग ने वीवीपैट मशीनों (vvpat machines) का भी इस्तेमाल किया, जिसके जरिए मतदाता यह जान सकता है कि उसने जिस उम्मीदवार के चुनाव चिन्ह का बटन दबाया है वह उसी के खाते में दर्ज हुआ अथवा नहीं। वोट डालने के बाद जो पारदर्शी विंडो रहती है उस पर 7 सेकंड तक खुद का वोट देखा जा सकेगा।


वीवीपैट एक स्वतंत्र इकाई एक स्वतंत्र इकाई है, जो कि इवीएम से जुड़ी रहेगी। जैसे ही वोटर अपना वोट कास्ट करेगा वह पारदर्शी विंडो जो कि वीवीपैट मशीन में लगी है, उससे वह सात सेकंड तक देख सकेगा कि उसने किस अभ्यर्थी, किस चुनाव चिन्ह व किस क्रम में अपना मत दिया है। सात सेकंड के बाद यह स्लिप कटकर मशीन के एक सीलबंद ड्राप बॉक्स में गिर जाएगी। वीवीपेट एक स्वतंत्र प्रिंटर प्रणाली, जिसे ईवीएम से जोड़ा जायेगा वोटर वेरिफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल (वीवीपैट) एक स्वतंत्र प्रिंटर प्रणाली है, जिसे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन से जोड़ा जाता है और इससे मतदाताओं को अपना मतदान बिलकुल सही होने की पुष्टि करने में मदद मिलती है। मतदाताओं का भरोसा बढ़ाने के लिये ईवीएम को वीवीपैट से जोड़ा गया है। ईवीएम और वीवीपेट मशीनों का निर्माण सार्वजनिक क्षेत्र के सिर्फ दो प्रतिष्ठित संस्थानों ईसीआईएल (इलेक्ट्रॉनिक्स कॉर्पोरेशन ऑफ इण्डिया लिमिटेड) और बीईएल (भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड) में एक स्वतंत्र तकनीकी विशेषज्ञ समिति के तकनीकी विशेषज्ञों की देखरेख और निर्वाचन आयोग के निरीक्षण में कराया जाता है, ताकि इसके साथ किसी तरह की छेड़छाड़ नहीं की जा सके। मतदान दलों का चार दिवसीय प्रशिक्षण हुआ और इस दौरान 13 हजार को प्रशिक्षण दिया गया। ऐसे मतदान कर्मी जिन्होंने प्रशिक्षण लिया है और उनकी कुछ जिज्ञासाएं शेष हैं वे आज होलकर साइंस कॉलेज में आयोजित प्रशिक्षण में शामिल हो सकते हैं। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम ऐसे कर्मियों के लिये ही आयोजित किया गया है। प्रशिक्षण के चार दिनों में 13 हजार से अधिक कर्मियों को मतदान के संबंध में प्रशिक्षित किया गया। प्रशिक्षण के दौरान मतदान दलों को सुव्यवस्थित और नियमों के अनुरूप मतदान कराने, ईवीएम संचालन, मतदान कराने की प्रक्रिया, मतदान दलों के अधिकार-कर्तव्य, मतदान संबंधी भारत निर्वाचन आयोग द्वारा दिए गए निर्देशों, मतदान संबंधी नियम और कानूनों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई।

Share:

Next Post

मेंदोला की विधानसभा में एक दिन पहले ही मन गई भाईदूज

Tue Nov 14 , 2023
इंदौर। विधानसभा क्षेत्र 2 (Assembly Constituency 2) में भाई दूज के एक दिन पहले ही भाई दूज मन गई, विधायक (MLA) और भाजपा प्रत्याशी आज वार्ड 21 में पहुंचे तो हर गली में सैकडों बहने अपने इस लाडले भाई का इंतजार कर रही थी।मेंदोला के पहुंचते ही बहनों ने अपने भाई पर आशीर्वाद की झड़ी […]