विदेश

लगातार तीसरे साल इस मामले में पाकिस्तान बना चौथा सबसे खराब देश

नई दिल्ली। भारत के खिलाफ जहर उगलने वाले पाकिस्तान के लिए बुरी खबर है। पाकिस्तानी पासपोर्ट (Pakistani Passport) को लगातार तीसरे साल अंतरराष्ट्रीय यात्रा (International Travel) के लिए चौथा सबसे खराब स्थान दिया गया है। हालांकि हेनली पासपोर्ट इंडेक्स (Henley Passport Index) के अनुसार 2021 की तुलना में 2022 की पहली तिमाही (Quarter) में भारत की पासपोर्ट शक्ति में सुधार हुआ है।

पाकिस्तानी पासपोर्ट के साथ दुनिया भर में केवल 31 गंतव्यों (Destinations) तक वीजा-मुक्त या वीजा-ऑन-अराइवल पहुंच है। पीएम इमरान खान (PM Imran Khan), जो पाकिस्तान को ‘रियासते मदीना’ बनाना चाहते थे, उनके शासनकाल में पाकिस्तानी पासपोर्ट की औकात और खराब हुई है और इसको 108वें नंबर पर रखा गया है। पाकिस्तानी नागरिक अपने पासपोर्ट के साथ सिर्फ 31 देशों की ही वीजा फ्री (Visa Free) यात्रा कर सकते हैं। सीरिया 109, इराक 110 और अफगानिस्तान 111वें नंबर पर हैं।

हेनले एंड पार्टनर्स फर्म का हेनले पासपोर्ट इंडेक्स 2006 से नियमित रूप से दुनिया के सबसे अधिक यात्रा-अनुकूल पासपोर्ट (Travel-Friendly Passport) की निगरानी कर रहा है। हेनले पासपोर्ट इंडेक्स साल 2006 से हर साल पासपोर्ट को लेकर रैंकिंग (Ranking) जारी करता है, जिससे पता चलता है कि, किस देश का पासपोर्ट दुनिया में सबसे ज्यादा स्वतंत्र (Independent) हैं।

पिछले 16 साल के दौरान पिछले 2 सालों से कोविड महामारी (Covid Pandemic) की वजह से पासपोर्ट रैंकिंग (Passport Ranking) और भी ज्यादा जरूरी हो गई है. पासपोर्ट की रैकिंग में कोविड महामारी की वजह से लगाए जा रहे प्रतिबंधों को शामिल नहीं किया गया है. हेनले पासपोर्ट इंडेक्स-2022 की रिपोर्ट में जापान (Japan) और सिंगापुर (Singapore) को 192 देशों में पहले नंबर पर रखा गया है। जापान और सिंगापुर के पासपोर्ट धारक 192 देशों की वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं।

इसमें अफगान नागरिकों की तुलना में 166 ज्यादा गंतव्य (Destinations) हैं, जो 199 पासपोर्ट के सूचकांक (Index) में सबसे नीचे है और अफगान नागरिक बिना अग्रिम वीजा (Advance Visa) की आवश्यकता के सिर्फ 26 देशों तक पहुंच सकते हैं। दक्षिण कोरिया और जर्मनी विश्व के 190 देशों में वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं और ये दोनों देश दूसरे स्थान पर हैं, जबकि फिनलैंड, इटली, लक्जमबर्ग और स्पेन सभी एक साथ तीसरे स्थान पर हैं। इन सभी देशों के लोग विश्व के 189 देशों में वीजा फ्री यात्रा कर सकते हैं।

यूरोपीय संघ (The European Union) के देश हमेशा की तरह सूची में शीर्ष स्थान पर कब्जा जमाए हुए हैं और फ्रांस, नीदरलैंड और स्वीडन एक स्थान और आगे बढ़कर चौथे स्थान पर ऑस्ट्रिया और डेनमार्क के साथ शामिल हो गए हैं। इन देशों के लोग 188 देशों की यात्रा वीजा फ्री कर सकते हैं। इंडेक्स में आयरलैंड और पुर्तगाल पांचवें स्थान पर हैं। संयुक्त राज्य अमेरिका और यूनाइटेड किंगडम, जिन्होंने 2014 में एक साथ शीर्ष स्थान हासिल किया था, उनकी रैंकिंग कम हो गई है और साल 2022 की रैकिंग में ये दोनों देश छठे स्थान पर हैं।

2021 की तुलना में 2022 की पहली तिमाही (First Quarter) में भारत की पासपोर्ट शक्ति में सुधार हुआ है। अब यह हेनले पासपोर्ट इंडेक्स में 83वें स्थान पर है, जो पिछले साल 90वें स्थान पर था। 2020 में भारतीय पासपोर्ट (Indian Passport) का रैंक 84 आंका गया था, जबकि 2016 में भारत (India), माली (Mali) और उज्बेकिस्तान (Uzbekistan) के साथ 85वें स्थान पर था।

Share:

Next Post

35 KM के इस छोटे से हाइवे पर जाने का मतलब मौत से खेलना, अब तक 900 लोग गवा चुके है जान

Thu Jan 13 , 2022
नई दिल्ली। नेशनल हाइवे (National Highway) 24 पर 35 किमी का ऐक ऐसा स्ट्रेच है जिसने 2017 से 2021 के बीच 272 करोड़ रुपये का रेवेन्यू (Revenue) जनरेट किया है, लेकिन हापुड़ से मुरादाबाद (Hapur, Moradabad) के बीच स्थित ये हाइवे इसी दौरान करीब 900 लोगों की जान ले चुका है। सरकारी डेटा में सामने […]