भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

मप्र में एक और बड़ी प्रशासनिक सर्जरी की तैयारी

  • कलेक्टर के बाद अब बदले जाएंगे एसपी

भोपाल। मप्र में 14 जिलों के कलेक्टर समेत 27 आईएएस अफसरों के तबादले के बाद सरकार अभी और प्रशासनिक सर्जरी करने की तैयारी कर रही है। इसके तहत इस बार प्रशासनिक सर्जरी के तहत जिलों के एसपी, एएसपी-डीएसपी के तबादले किए जाएंगे। दरअसल, सरकार पुलिस विभाग में उन अफसरों के तबादले करने की तैयारी कर चुकी है जो एक ही स्थान पर दो साल से अधिक समय सेे पदस्थ हैं। संभवत: इस बार 18 एसपी और 50 एएसपी-डीएसपी स्तर के अधिकारियों के तबादले होंगे।
जानकारी के अनुसार 30 नवंबर के पहले एक और तबादला सूची जारी हो सकती है। 3 साल या ज्यादा समय से जमे कलेक्टर के दायित्व बदले जा सकते हैं। साथ ही आईपीएस अधिकारियों की तबादला सूची का भी इंतजार है। विधानसभा चुनाव के ठीक एक साल पहले शिवराज सरकार ने दो दर्जन से ज्यादा आईएएस अफसरों को बदल दिया है। 27 अधिकारियों के तबादले में 14 कलेक्टर भी शामिल हैं। अब आईपीएस अधिकारियों की तबादला सूची का भी इंतजार हो रहा है। पुलिस अधीक्षकों के तबादला की लगातार चर्चा चल रही है। गौरतलब है कि मप्र के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस का कार्यकाल इसी महीने पूरा हो रहा है।

अब पुलिस की बारी
प्रदेश में आईएएस के फेरबदल के बाद जल्द आईपीएस अफसरों की बारी आएगी। सरकार भारतीय पुलिस सेवा और राज्य पुलिस सेवा के अफसरों की बड़ी तबादला सूची जारी करने की तैयारी में है। जिन्हें अभी फील्ड में तीन साल चुके हैं या विधानसभा चुनाव तक तीन साल होने वाले हैं, ऐसे एसपी हटेंगे। इसके अलावा 50 के लगभग एएसपी और डीएसपी स्तर के अफसरों को हटाया जाएगा। सरकार अगले साल नवंबर में होने वाले विधानसभा चुनाव की जमावट के हिसाब से आईपीएस और एसपीएस अफसरों की तबादला सूची जारी करेगी। इस सर्जरी में 52 में से 15-18 जिलों में एसपी बदलने के आसार हैं। ऐसा माना जा रहा है कि तबादलों में डीआईजी, आईजी, एडीजी और डीजी रैंक के अफसर भी प्रभावित होंगे।

इनके तीन साल पूरे हो रहे हैं
चुनाव आयोग की गाइड लाईन के अनुसार जो मैदानी अफसर एक ही स्थान पर तीन साल से जमे हुए हैं उन्हें हर हाल में बदलना जरूरी है। इसके तहत धार एसपी आदित्य प्रताप सिंह का हटना तय है। उन्हें तीन साल से ज्यादा हो चुके हैं। इसी तरह हरदा एसपी मनीष अग्रवाल, ग्वालियर एसपी अमित सांघी, सिंगरौली एसपी वीरेन्द्र सिंह, जबलपुर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, आगर एसपी राकेश कुमार सगर, बुरहानपुर एसपी राहुल कुमार लोढ़ा, बैतूल एसपी सिमाला प्रसाद, देवास एसपी शिवदयाल, खंडवा एसपी विवेक सिंह, छतरपुर एसपी सचिन शर्मा, डीसीपी साई कृष्णा थोटा दतिया एसपी अमन राठौड़ चुनाव के पहले तीन साल पूरे कर लेंगे। दो एसपी डेपुटेशन पर केंद्र में जाएंगे। इस कारण छिंदवाड़ा एसपी विवेक अग्रवाल और नरसिंहपुर एसपी विपुल श्रीवास्तव को रिलीव किया जा सकता है। इनकी जगह नए एसपी बनाए जाएंगे।

प्रमोटी को मिलेगी जिलों की कमान
सूत्रों का कहना है कि जिलों में आईपीएस अधिकारियों की पदस्थापना में प्रमोटी को महत्व दिया जाएगा। नई सूची में वर्ष 1995-96 बैच के प्रमोटी आईपीएस को फील्ड पोस्टिंग मिल सकती है। ऐसे कई अफसर हैं, जो आईपीएस तो बन चुके हैं, लेकिन एसपी नहीं बन पाए हैं। इन अफसरों को किसी जिले में एसपी की कमान देकर पदस्थ किया जा सकता है। प्रदेश में एसपी स्तर के पुलिस अफसर प्रमोशन के बाद डीआईजी बन जाएंगे।. इनका प्रमोशन अगले साल जनवरी में होगा। इसमें रीवा एसपी नवनीत भसीन, सागर तरुण नायक, सीधी मुकेश श्रीवास्तव, उज्जैन सत्येन्द्र शुक्ला, विदिशा मोनिका शुक्ला, कटनी सुनील कुमार जैन, राजगढ़ अवधेश गोस्वामी, डीसीपी ट्रैफिक महेश चंद्र जैन शामिल हैं। इनके प्रमोशन की वजह से संभावना है कि इनमें से भी कई एसपी हट जाएंगे।

Share:

Next Post

शीतकालीन सत्र के दौरान द्वितीय अनुपूरक बजट सहित अन्य विधेयक होंगे प्रस्तुत

Mon Nov 21 , 2022
भोपाल। मध्य प्रदेश की 15वीं विधानसभा का अंतिम शीतकालीन सत्र 19 दिसंबर से होगा। पांच दिवसीय इस सत्र में सरकार वर्तमान वित्तीय वर्ष का द्वितीय अनुपूरक बजट प्रस्तुत करेगी। इसके साथ ही नगर पालिक विधि संशोधन, लोक सुरक्षा विधेयक सहित अन्य संशोधन विधेयक प्रस्तुत किए जाएंगे। विधानसभा सचिवालय ने रविवार को सत्र बुलाए जाने की […]