इंदौर न्यूज़ (Indore News)

इंदौर में ध्वजा पूजन से हुई रणजीत अष्टमी की शुरुआत

  • कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी ने किया पूजन

इंदौर। शहर के सबसे प्राचीन मंदिर श्री रणजीत हनुमान मंदिर में मनने वाली रणजीत अष्टमी की शुरुआत आज ध्वजा पूजन से हुई। इसके लिए मंदिर में इंदौर कलेक्टर डॉ इलैया राजा टी पहुंचे और पारंपरिक विधि विधान से पूजन किया।

मंदिर में चार दिवसीय उत्सव में आज से हर शाम भजन संध्या का आयोजन भी होगा। 16 की सुबह बाबा रणजीत रथ पर सवार होकर नगर भ्रमण पर निकलेंगे। ये प्रभातफेरी हर साल की तरह इस साल भी परंपरागत मार्ग पर ही निकलेगी।

ध्वजा पूजन में मंदिर प्रशासन और भक्त मंडल के सदस्यों के साथ ही बड़ी संख्या में बाबा रणजीत के भक्त भी मौजूद रहे। कल शाम 7 बजे दीपोत्सव के बाद भजनसंध्या भी होगी। मंदिर परिसर 11 हजार दीप की रोशनी से जगमगाएगा। 15 दिसंबर को रथ में विराजित होने वाले विग्रह के साथ ही सवा लाख रक्षा सूत्र सिद्ध किए जाएंगे।


मंदिर के मुख्य पुजारी पं दीपेश व्यास ने बताया कि 16 दिसंबर की अलसुबह परंपरागत मार्ग से ही प्रभातफेरी निकाली जाएगी, जिसमें 5100 महिला भक्त (ध्वजवाहिनी) ध्वजा लेकर और भजन मंडलियां भजन करते हुए चलेगी। पं व्यास के मुताबिक, प्रभातफेरी महू नाका, अन्नपूर्णा, नरेंद्र तिवारी मार्ग से रणजीत हनुमान मंदिर लौटेगी।

Share:

Next Post

हाथ की बनावट में छिपे होते हैं गहरे राज, जानें क्या कहता है हस्तरेखा शास्त्र

Tue Dec 13 , 2022
डेस्क: हस्तरेखा शास्त्र मनुष्य का भाग्य बताने वाला महत्वपूर्ण शास्त्र है. इसमें हाथों की बनावट से लेकर उसकी लकीरों व चिह्नों के आधार पर व्यक्ति के भविष्य का अनुमान लगाया जाता है. आज हम उसी शास्त्र के अनुसार हथेली की बनावट व उसके आधार पर मनुष्य के स्वभाव व भविष्य की संभावनाओं के बारे में […]