बड़ी खबर

कश्मीर में सुरक्षाबलों ने लश्कर के दो पाकिस्तानी आतंकियों को किया ढेर, बड़े पैमाने पर हथियार बरामद

नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर में बुधवार (19 जून) को दो पाकिस्तानी आतंकियों को सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया. एक सर्च ऑपरेशन के दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया था, जिसके बाद जवाबी कार्रवाई में आतंकियों को ढेर कर दिया गया. भारतीय सेना के ब्रिगेडियर दीपक मोहन ने इसकी जानकारी दी है. उन्होंने बताया कि मारे गए आतंकी पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन ‘लश्कर-ए-तैयबा’ से जुड़े हुए थे. एनकाउंटर में ढेर हुआ एक आतंकी 2020 से ही घाटी में एक्टिव था.

दरअसल, सुरक्षाबलों को जानकारी मिली थी कि बारामूला जिले के सोपोर में आतंकी छिपे हुए हैं, जिसके बाद जवान वहां पहुंचे और उन्होंने दहशतगर्दों की तलाश शुरू कर दी. स्थानीय लोगों को वहां से हटाया गया और फिर आतंकियों को ढूंढा जाने लगा. तभी आतंकियों ने हमला कर दिया. इस दौरान की गई जवाबी कार्रवाई में दो पाकिस्तानी आतंकी मारे गए, जबकि एक पुलिसकर्मी और सेना का एक जवान भी घायल हुआ. दोनों का अस्पताल में इलाज चल रहा है और फिलहाल उनकी हालत स्थिर है.


ब्रिगेडियर दीपक मोहन ने गुरुवार (20 जून) को बताया, “पिछले कुछ दिनों से सुरक्षाबलों को सोपोर के रफियाबाद इलाके में कुछ आतंकियों की आवाजाही की सूचना मिल रही थी. 19 जून को हमें जम्मू-कश्मीर पुलिस से विशेष जानकारी मिली कि आतंकवादियों को हादीपोरा गांव के एक घर में देखा गया. इस सूचना के बाद भारतीय सेना, सीआरपीएफ और जम्मू-कश्मीर पुलिस ने ज्वाइंट काउंटर-टेरर ऑपरेशन चलाया और इलाके को घेर लिया गया.”

दीपक मोहन ने आगे बताया, “सुरक्षाबलों ने घरों में मौजूद नागरिकों को सुरक्षित बाहर निकाला. ऑपरेशन के दौरान आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी की और जवाबी कार्रवाई में दो आतंकवादियों को मार गिराया गया. मारे गए आतंकियों के नाम उस्मान और उमर है, जो पाकिस्तान से थे और लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे.”

Share:

Next Post

पहले सुपरबग अब कुछ और... भारतीय मूल की सुनीता विलियम्स अंतरिक्ष में फंसीं, NASA पर उठे सवाल

Thu Jun 20 , 2024
डेस्क: भारतीय मूल की अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स और उनके सहयोगी 6 जून को अंतरिक्ष यान में सवार होकर अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन (ISS) पर पहुंचे थे. वहां पहुंचने के बाद सुनीता और उनके क्रू के 8 सदस्यों कई मुश्किलें हुईं. तब NASA ने अनुमान लगाया था कि वे एक सप्ताह तक यहां रहेंगे, उसके बाद […]