उज्‍जैन न्यूज़ (Ujjain News)

बस स्टैण्ड के महिला यात्री प्रतीक्षालय में पुरुषों का जमावड़ा

  • महिलाओं की बजाय पुरुष बैठे रहते हैं-रोकटोक करने वाला कोई नहीं

उज्जैन। देवासगेट बस स्टैण्ड परिसर में पुराने टिकिट घर को तोड़कर महिला यात्री प्रतीक्षालय बनाया गया था लेकिन यहाँ महिलाओं को बैठने का स्थान नहीं मिल पाता। महिलाओं की जगह यहाँ अधिकांश समय पुरुष ही बैठे नजर आते हैं। सिंहस्थ के दौरान देवासगेट बस स्टैण्ड से इंदौर तथा देवास की बसों का संचालन बंद कर दिया गया था और नानाखेड़ा बस स्टैण्ड से तभी से यह बसें चलाई जा रही है लेकिन ग्रामीण और अंचल क्षेत्रों में चलने वाली बसों को देवासगेट बस स्टैण्ड से ही संचालित किया जा रहा है। हालांकि अभी भी यहाँ से इंदौर तथा देवास के लिए बस चालकों द्वारा सवारियाँ बैठाई जाती है। यही कारण है कि देवासगेट बस स्टैण्ड परिसर में यात्रियों की दिनभर भीड़ रहती है। यहाँ बने महिला यात्री प्रतीक्षालय में दिनभर पुरुष बैठे रहते हैं। इस कारण महिला यात्रियों को बस स्टैण्ड परिसर में बाहर बैठना पड़ता है।

Share:

Next Post

39 मरीज घरों पर ठीक हो जाए तो कोरोना मुक्त हो जाएगा उज्जैन

Fri Mar 4 , 2022
6 नए केस आए लेकिन ठीक होने पर 9 मरीजों की छुट्टी हुई पिछले 24 घंटे में उज्जैन। कोरोना की दम तोड़ती तीसरी लहर के बीच आज फिर 6 नए पॉजीटिव केस जिले में सामने आए हैं लेकिन इनके मुकाबले पिछले 24 घंटे में 9 लोगों की छुट्टी हुई है। जिसके चलते पूरे जिले में […]