बड़ी खबर

देश के अधिकांश हिस्सों में बिगड़ा मौसम का मिजाज, 16 तक भारी बारिश की चेतावनी

नई दिल्ली (New Delhi)। देश (Country) के पूर्वी, मध्य और दक्षिण भाग (Eastern, central and southern parts) में मौसम (Weather conditions) का मिजाज एक बार फिर बिगड़ (once again worsened) गया है। पश्चिम बंगाल (West Bengal) के उप हिमालयी क्षेत्रों, बिहार, झारखंड, पश्चिम मध्य प्रदेश समेत आंतरिक कर्नाटक और तमिलनाडु तक में पिछले 24 घंटे के दौरान अलग-अलग स्थानों पर भारी वर्षा हुई है। कई जगहों पर आंधी और तूफान का असर देखा गया है।

पूर्वी उत्तर प्रदेश और राजस्थान के कई इलाकों में धूल भरी आंधी चली और कई जगहों पर ओले भी गिरे हैं। मौसम विभाग ने कहा कि इन राज्यों के अधिकतर इलाकों में अभी 16 मई तक ऐसा ही मौसम बने रहने का अनुमान है। साथ ही बारिश, बिजली गिरने और तेज हवाएं चलने की चेतावनी भी जारी की गई है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के आंकड़ों के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में मध्य महाराष्ट्र, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक, केरल और महाराष्ट्र के कुछ इलाकों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई। इस दौरान झारखंड, पश्चिमी मध्य प्रदेश और मध्य महाराष्ट्र के अलग-अलग इलाकों में ओलावृष्टि दर्ज की गई।


बिहार और झारखंड के अलावा छत्तीसगढ़, गंगेय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, पूर्वी उत्तर प्रदेश, गुजरात क्षेत्र, मराठवाड़ा, तेलंगाना के कई क्षेत्रों में गरज के साथ बारिश हुई और तेज हवाएं चलीं। आईएमडी के मुताबिक, वर्तमान में उत्तरी पाकिस्तान में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में और दक्षिण राजस्थान में निचले क्षोभमंडल में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। इसके प्रभाव से पूर्वी और मध्य भारत में 14 मई तक बारिश, बिजली गिरने और तेज हवाएं चलने की संभावना है। वहीं, दक्षिणी प्रायद्वीपीय भारत में 16 मई तक ऐसा मौसम बना रहेगा। उसके बाद उत्तर पश्चिम भारत में गर्मी का नया दौर शुरू हो सकता है। दो दिन पहले आंधी-तूफान के साथ हुई मूसलाधार बारिश के चलते अभी उत्तर पश्चिम भारत में मौसम का मिजाज ठंडा है और अधिकतम तापमान में दो से तीन डिग्री तक गिरावट दर्ज की गई है।

उत्तराखंड के पांच जिलों में ऑरेंज अलर्ट, तेज हवाएं चलने की संभावना
मौसम विभाग ने उत्तराखंड के पांच जिलों के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया, जिसमें अलग-अलग स्थानों पर बिजली गिरने और ओले गिरने की चेतावनी दी गई है। उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में इस दौरान 40-50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की भी संभावना है। इसके अलावा राज्य के अन्य जिलों के लिए भी यलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने कच्चे मकान और असुरक्षित भवनों को नुकसान पहुंचने की आशंका जताई है और प्रशासन को बचाव के लिए एहतियाती कदम उठाने की सलाह दी है। आम लोगों से घर में रहने और गरज के समय बिजली के उपकरणों का इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है। पशुओं को भी खुले में नहीं रखने को कहा है।

जम्मू-कश्मीर में तेज हवाओं के साथ बारिश
तपती गर्मी के बीच जम्मू-कश्मीर में मौसम ने एक बार फिर करवट ली है। बीते 24 घंटों में प्रदेश के अधिकतर इलाकों में तेज हवाओं के साथ बारिश हुई। हालांकि, दोपहर बाद अधिकतर क्षेत्रों में मौसम साफ हो गया, लेकिन मौसम विभाग ने आशंका जताई है कि 13 मई तक कश्मीर के पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश और बर्फबारी हो सकती है। जम्मू के भी कुछ इलाकों में बारिश की संभावना जताई गई है। 13 मई शाम के बाद 19 मई तक मौसम खुश्क रहेगा।

Share:

Next Post

कैश कांड के बाद आलमगीर आलम पड़े अलग-थलग, कांग्रेस ने बनाई दूरी

Mon May 13 , 2024
रांची (Ranchi) । झारखंड (Jharkhand) में कुछ दिनों पहले ‘नोटों का पहाड़’ मिला था। कैश (cash) गिनते-गिनते कई मशीनें गरमा गईं। अब तक ईडी (ED) ने 35 करोड़ रुपए से ज्यादा कैश जब्त किए हैं। दरअसल, करीब 32 करोड़ रुपए चंपाई सोरेन सरकार में मंत्री आलमगीर आलम \Minister Alamgir Alam| के निजी सचिव के नौकर […]