देश

मैहर में 10 साल की बच्ची से दरिंदगी, शारदा देवी मंदिर समिति के 2 कर्मियों पर आरोप

सतना। मध्य प्रदेश के सतना जिले के मैहर में एक दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां आदिवासी बस्ती की 10 वर्षीय मासूम के साथ 2 युवकों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है। मां शारदा की पवित्र नगरी मैहर से आई इस ह्रदयविदारक घटना को सुनकर हर कोई हैरान हैं। मैहर के देवी धाम अंधरा टोला में 10 साल की नाबालिग के साथ 2 युवकों ने घिनौनी हरकत की है। साथ ही उसके साथ विभत्स व्यवहार भी किया है जिससे लड़की की हालत गंभीर है। बच्ची को परिजनों की मदद से सिविल अस्पताल मैहर लाया गया जहां उसका उपचार जारी है।

सूचना के बाद मौके पर पहुची पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। कांग्रेस के मुताबिक नाबालिग के साथ में अमानवीय व्यवहार किया गया। उसके गुप्तांग में डंडा डाल दिया गया था। मासूम को दोनों आरोपी कल दोपहर 2 बजे मां शारदा पहाड़ी के बगल के पहाड़ पर लेकर गए थे जहां पर उसके साथ ऐसी वारदात को अंजाम दिया गया। दोनों आरोपी मां शारदा प्रबंधक समिति के कर्मचारी बताए जा रहे हैं जिन्हें मैहर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, मंदिर प्रशासक ने इनको नौकरी से भी बाहर कर दिया है।


कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर उठाए सवाल
इस मामले में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और पीसीसी चीफ कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर हमला बोला है। उन्होंने ट्वीट करके लिखा, “मैहर में छोटी बच्ची के साथ दुष्कर्म की घटना अत्यंत निंदनीय है। बच्ची के साथ निर्भया कांड की तरह अमानवीय व्यवहार किये जाने की बात भी सामने आ रही है। प्रदेश में आए दिन बच्चियों के साथ अत्याचार की घटनाओं ने साबित कर दिया है कि शिवराज सरकार बहन-बेटियों को सुरक्षा देने में पूरी तरह नाकाम हो चुकी है। मैं मुख्यमंत्री से मांग करता हूं कि बेटी को अच्छे से अच्छा उपचार उपलब्ध कराया जाए और उसे तत्काल एक करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता दी जाए।”

CM शिवराज ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश
तो वहीं, इस घटना को गंभीरता से लेते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए है। उन्होंने कहा, ”मैहर में बेटी के साथ दुष्कर्म की जानकारी मिली है, मन पीड़ा से भरा हुआ है, व्यथित हूं। मैंने पुलिस को निर्देश दिए हैं कि कोई भी अपराधी बचना नहीं चाहिए। पुलिस ने अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रशासन को निर्देश दिए हैं कि बेटी के समुचित इलाज की व्यवस्था की जाए। कोई भी अपराधी बचेगा नहीं, कठोरतम् कार्रवाई की जाएगी।”

वहीं, कांग्रेस के मीडिया प्रभारी केके मिश्रा ने सरकार की नाकामी बताते हुए प्रदेश के गृह मंत्री के इस्तीफे की मांग की है। उन्होंने कहा, गृह मंत्री अमित शाह के बार-बार मध्य प्रदेश दौरे के बावजूद निर्भया कांड जैसी घटनाओं का होना बेहद शर्मनाक है। गृह मंत्री को बर्खास्त किया जाए वरना मणिपुर जैसे हालात भी बन सकते हैं।

Share:

Next Post

प्रोफेसर खाम खान सुआन हौसिंग की याचिका पर 31 जुलाई को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

Fri Jul 28 , 2023
नई दिल्‍ली । हैदराबाद विश्‍वविद्यालय (Hyderabad University) के प्रोफेसर खाम खान सुआन हौसिंग की याचिका पर (On Professor Kham Khan Suan Hsing’s Petition) सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) 31 जुलाई को (On July 31) सुनवाई करेगा (Will Hear) । प्रोफेसर पर कथित रूप से मेइती समुदाय के खिलाफ अपमानजनक टिप्‍पणी का आरोप है। मणिपुर की एक […]