बड़ी खबर

जहांगीरपुरी हिंसा: 200 वीडियो, 25 गिरफ्तारियां और दोनों पक्षों के दावे पर दावे… जानिए कहां तक पहुंची जांच


नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जयंती पर हुई हिंसा के मामले में क्राइम ब्रांच एक्टिव हो गई है. अभी तक इस मामले में 25 लोगों की गिरफ्तार किया जा चुका है. क्राइम ब्रांच की 14 टीमें जांच में जुटी हैं. जहांगीरपुरी में जहां हिंसा हुई थी, वहां, और आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों से करीब 200 वीडियो जुटाए गए हैं. इन्हीं के आधार पर आरोपियों की पहचान की जा रही है.

दिल्ली पुलिस ने इस मामले में सोमवार को जुलूस के आयोजकों पर भी मामला दर्ज किया है. जुलूस के दौरान ही हिंसा फैली थी. उधर, जहांगीरपुरी में बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है. इसके साथ ही ड्रोन से गलियों में नजर रखी जा रही है.

उधर, राजनीतिक आरोपों के बीच दिल्ली पुलिस कमिश्नर ने लोगों को भरोसा दिलाया कि इस मामले में जाति धर्म के आधार पर कार्रवाई नहीं की जाएगी, बल्कि सबूतों के आधार पर कार्रवाई होगी. उन्होंने कहा, जो भी दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी.

पुलिस ने बताया कि जहांगीरपुरी में जो जुलूस निकला था, उसकी अनुमति प्रशासन से नहीं ली गई थी. इसके अलावा हिंसा के दौरान फायरिंग करने वाले मुस्लिम युवक सोनू को भी गिरफ्तार किया गया है. जहांगीरपुरी हिंसा में 8 पुलिसकर्मियों समेत 9 लोग जख्मी हुए हैं.


इसके अलावा 25 लोगों को अब तक हिरासत में लिया गया है. इनमें से दो नाबालिग भी हैं. वहीं, इस मामले में पुलिस ने विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रेम शर्मा से भी पूछताछ की गई. पुलिस के मुताबिक, करीब 200 वीडियो की जांच की जा रही है, जिससे ये पता लगाया जा सके कि हिंसा कैसे फैली और इसके पीछे कौन कौन है?

डिप्टी कमिश्नर ऑफ पुलिस ऊषा रंगनानी ने बताया कि बिना परमिशन के जुलूस निकालने पर आयोजनकर्ताओं पर मामला दर्ज किया गया है. एक आरोपी को पूछताछ में भी शामिल किया गया. इससे पहले डीसीपी ने बताया था कि बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं पर मामला दर्ज किया गया है. जहांगीरपुरी में करीब पुलिस के 500 और अन्य सुरक्षा एजेंसियों के जवानों ने पेट्रोलिंग की. इसके अलावा क्षेत्र में नजर रखने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल किया जा रहा है.

पुलिस ने इस मामले में 28 साल के सोनू को गिरफ्तार किया है. वह वीडियो में फायरिंग करता नजर आ रहा था. वह जहांगीरपुरी के सी ब्लॉक का रहने वाला है. इतना ही नहीं जब पुलिस की टीम सोनू की तलाशी के लिए घर गई, तो उसके घरवालों ने टीम पर हमला कर दिया. उधर, बीजेपी नेताओं ने आरोप लगाया है कि हिंसा के मामले में मुख्य आरोपी मोहम्मद अंसार का संबंध सत्ताधारी पार्टी आप से है. इतना ही नहीं बीजेपी ने अरविंद केजरीवाल को पत्र लिखकर अंसार को पार्टी से बाहर करने की मांग की है.

Share:

Next Post

birthday special : कभी घर-घर जाकर कॉस्मेटिक प्रोडक्ट्स बेचा करते थे Arshad Warsi

Tue Apr 19 , 2022
फिल्म ‘मुन्नाभाई’ एमबीबीएस’ से सर्किट के किरदार में मशहूर हुए अभिनेता अरशद वारसी (Arshad Warsi) फिल्मों में अपने बेहतर कॉमिक टाइमिंग के लिए जाने जाते हैं। अभिनेता अरशद वारसी (Arshad Warsi) का जीवन बहुत संघर्षों भरा रहा। 19 अप्रैल, 1968 को मुंबई के एक मुस्लिम परिवार में जन्मे अरशद वारसी के सर से छोटी उम्र […]