भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

33 लाख आबादी की प्यास बुझाएगी 6000 करोड़ की परियोजना

  • बाणसागर फेज टू और टमस समूह जल प्रदाय योजना का शिलान्यास करेंगे पीएम
  • रीवा के 2251 और सतना जिले के 785 गांवों में पाइप लाइन से पहुंचेगा पानी

भोपाल। सतना और रीवा जिले को पूरी तरह से पेयजल संकट से मुक्ति दिलाने 6000 करोड़ रुपये की बाणसागर और टमस समूह जल प्रदाय योजना का शिलान्यास 24 अप्रैल को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी करने जा रहे हैं। योजना के जरिए 33.90 लाख आबादी को पेयजल उपलब्ध कराया जाएगा। इसके तहत सतना जिले के 785 गांवों को और रीवा जिले के 2251 गांवों को घर-घर पेयजल सप्लाई किया जाएगा। इस योजना में रीवा जिला पूरी तरह कवर हो जाएगा तो सतना जिले के शेष तीन ब्लाक भी कवर होंगे जिसके बाद पूरा सतना जिला इस योजना से कवर हो जाएगा। इस योजना के पूरे होने के बाद लोगों को पेयजल संकट से पूरी तरह निजात मिल जाएगी और घर पर बारहों महीनें टोंटी के जरिये पेयजल उपलब्ध हो सकेगा।

तीन योजनाओं का होगा एक साथ शिलान्यास
6000 करोड़ की यह योजना जल जीवन मिशन के तहत जल निगम पूरा करेगा। यह योजना तीन हिस्सों में है। पहला हिस्सा सतना बाणसागर ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना फेज 2 होगी, जो 2319 करोड़ की होगी। इसमें सतना जिले के 785 और रीवा जिले के 210 गांवों में पेयजल पहुुंचाया जाएगा। दूसरा हिस्सा 2319 करोड़ की रीवा बाणसागर ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना है। इसमें रीवा जिले के 1411 गांवों में पेयजल पहुंचाया जाएगा। तीसरा हिस्सा 951 करोड़ रुपये की टमस ग्रामीण समूह जल प्रदाय योजना है। इसमें रीवा जिले के 630 गांवों को पेयजल पहुंचाया जाएगा।

सतना बाणसागर फेज 2
सतना बाणसागर फेज 1 में सतना जिले के सोहावल, मझगवां और नागौद विकास खंड छूट गए थे। फेज 2 में इन्हें शामिल कर लिया गया है। इसमें कुल 995 गांवों को पेयजल दिया जाएगा। जिसमें सोहावल के 238 गांव, मझगवां के 304 और नागौद के 243 गांवों सहित रीवा विकास खंड के 88 और सिरमौर के 122 गांव शामिल किए गए हैं। इससे 12.37 लाख लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध होगा। इस प्रोजेक्ट का ठेकेदार केईसी इंटरनेशनल लिमि. एंड एसपीएमएल इन्फ्रा लिमि. कोलकाता है। दो साल में प्रोजेक्ट पूरा होगा। इसका इंटेक वेल सतना जिले के रामनगर विकास खंड के झिन्ना गांव में बनाया जाएगा। पेयजल सप्लाई के लिये 3527 किमी पाइप लाइन बिछाई जाएगी। इसमें 16323 घरेलू नल कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके लिये 291 टंकिया बनाई जाएंगी।


रीवा बाणसागर परियोजना
रीवा बाणसागर समूह जल प्रदाय परियोजना में कुल 1411 गांवों को पेयजल दिया जाएगा। जिसमें विकासखंड गंगेव के 183 गांव, रायपुर कर्चुलियान के 242, रीवा के 107, सिरमौर के 122, मऊगंज के 284, हनुमना के 293 और नई गढ़ी विकासखंड के 180 गांव शामिल किए गए हैं। इससे 14.47 लाख लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध होगा। इस प्रोजेक्ट का ठेकेदार दिलीप बिल्डकॉन लिमि. एंड स्काईवे इंफ्रा प्रोजेक्ट प्रा. लिमि. है। दो साल में प्रोजेक्ट पूरा होगा। इसका इंटेक वेल सतना जिले के रामनगर विकास खंड के झिन्ना गांव में बनाया जाएगा। पेयजल सप्लाई के लिये 4067 किमी पाइप लाइन बिछाई जाएगी। इसमें 1.29 लाख घरेलू नल कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके लिये 392 टंकिया बनाई जाएंगी।

टमस समूह जल प्रदाय प्रोजेक्ट
टमस ग्रामीण समूह जल प्रदाय परियोजना में कुल 630 गांवों को पेयजल दिया जाएगा। जिसमें नईगढ़ी विकासखंड के 66 गांव, जवा 237, त्यौंथर 261 और गंगेव के 66 गांव शामिल किए गए हैं। इससे 7.04 लाख लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध होगा। इस प्रोजेक्ट का ठेकेदार एनसीसी लिमि. हैदराबाद है। दो साल में प्रोजेक्ट पूरा होगा। इसका इंटेक वेल रीवा जिले के जवा विकासखंड के भटिगवां गांव में बनाया जाएगा। पेयजल सप्लाई के लिये 1937 किमी पाइप लाइन बिछाई जाएगी। इसमें 131715 घरेलू नल कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके लिये 197 टंकिया बनाई जाएंगी।

Share:

Next Post

सुनी सुनाई : मंगलवार 11 अप्रैल 2023

Tue Apr 11 , 2023
प्रदेशाध्यक्ष बनने की शर्त! क्या भाजपा हाईकमान मप्र में चुनाव से पहले संगठन में बदलाव करना चाहता है? इस खबर की सच्चाई तो नहीं पता, लेकिन भाजपा के अंदर खाने में यह खबर तेजी से वायरल है कि पार्टी हाईकमान ने एक केन्द्रीय मंत्री को संगठन की कमान सौंपकर मप्र लौटने का प्रस्ताव दिया था। […]