उत्तर प्रदेश बड़ी खबर राजनीति

UP Election: AIMIM ने 4 हिंदुओं को भी दिया है टिकट, जानें कहां से चुनाव लड़ेंगे ओवैसी के ये प्रत्याशी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है और सभी राजनीतिक दलों ने करीब-करीब आधी सीटों पर उम्मीदवारों का ऐलान भी कर दिया है। इस बार असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM भी उत्तर प्रदेश के चुनावी मैदान में है। ओवैसी पिछले कई महीनों से उत्तर प्रदेश में और खासकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में जनसभाएं कर रहे हैं। वह मुसलमानों से अपील कर रहे हैं कि सपा बसपा को वोट ना करें बल्कि उन्हें वोट दें।

ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए अभी तक 27 उम्मीदवार मैदान में उतारे हैं। इनमें से कई उम्मीदवार काफी प्रभावी भी हैं। माना जा रहा है कि एआईएमआईएम उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में करीब 80 सीटों पर अपने उम्मीदवारों का ऐलान कर सकती है। ये सभी सीटें मुस्लिम और दलित बाहुल्य होंगी। असदुद्दीन ओवैसी की छवि एक कट्टर मुस्लिम नेता की है लेकिन उनकी की पार्टी एआईएमआईएम ने इस बार उत्तर प्रदेश चुनावों में अभी तक जारी लिस्ट में 4 हिन्दू उम्मीदवारों को भी टिकट दिया है।

आइए जानते हैं किन सीटों पर असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम ने हिंदू उम्मीदवारों को टिकट दिया है और कौन हैं ये:

मेरठ की हस्तिनापुर सीट: बता दें कि मेरठ की हस्तिनापुर सीट एससी सीट है और यहां से एआईएमआईएम ने विनोद जाटव को टिकट दिया है। विनोद जाटव, जाटव दलित समाज से आते हैं। उधर, हस्तिनापुर सीट से समाजवादी पार्टी ने योगेश वर्मा तो वहीं बीजेपी ने वर्तमान विधायक दिनेश खटीक पर भरोसा जताया है। उधर बीएसपी ने हस्तिनापुर सीट से संजीव जाटव को टिकट दिया है।


गाजियाबाद की साहिबाबाद सीट : गाजियाबाद जिले की साहिबाबाद सीट से एआईएमआईएम के उम्मीदवार पंडित मदन मोहन झा हैं। बता दें कि मदन मोहन झा ब्राह्मण समुदाय से आते हैं। बीजेपी ने साहिबाबाद सीट से अपने विधायक सुनील कुमार शर्मा पर भरोसा जताया है और उन्हें फिर से टिकट दिया है। सुनील कुमार शर्मा ने 2017 का विधानसभा चुनाव जीता था और पूरे प्रदेश में सबसे बड़े अंतर से जीत का रिकॉर्ड भी बनाया था।

उधर, बीएसपी ने अजीत कुमार पाल को टिकट दिया है जबकि समाजवादी पार्टी ने अमरपाल शर्मा को टिकट दिया है। अमरपाल शर्मा पिछली बार कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़े थे और रिकॉर्ड अंतर से चुनाव हारे थे। वहीं कांग्रेस ने साहिबाबाद विधानसभा सीट से कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रहे स्वर्गीय राजीव त्यागी की पत्नी संगीता त्यागी को उम्मीदवार बनाया है।

बुढ़ाना सीट से भीम सिंह बालियान : एआईएमआईएम ने मुजफ्फरनगर जिले की बुढ़ाना विधानसभा सीट से भीम सिंह बालियान को प्रत्याशी बनाया है। भीम सिंह बालियान जाट समुदाय से आते हैं। बता दें कि बुढ़ाना विधानसभा सीट पर टिकैत परिवार का भी प्रभाव है। बुढ़ाना विधानसभा क्षेत्र जाट बाहुल्य क्षेत्र है और यहां पर जाटों की संख्या काफी अधिक है।

रालोद गठबंधन से राजपाल बालियान : सपा रालोद गठबंधन ने इस सीट से रालोद प्रत्याशी राजपाल बालियान को उम्मीदवार बनाया है जबकि बीजेपी ने अपने विधायक उमेश मलिक पर फिर से भरोसा जताया है। अनीस अल्वी को बीएसपी ने मैदान में उतारा है, वहीं कांग्रेस ने देवेंद्र कश्यप को मैदान में उतारा है।

रामनगर सीट से विकास श्रीवास्तव : बाराबंकी जिले की रामनगर सीट से एआईएमआईएम ने विकास श्रीवास्तव को उम्मीदवार बनाया है। विकास श्रीवास्तव कायस्थ समुदाय से आते हैं और इस चुनाव में एआईएमआईएम के प्रत्याशी होंगे। अभी तक समाजवादी पार्टी और बीजेपी ने इस सीट से प्रत्याशी का ऐलान नहीं किया है। वहीं पर कांग्रेस ने ज्ञानेंद्र शुक्ला को यहां से उम्मीदवार बनाया है।

Share:

Next Post

सिद्धू के ‘पाक प्रेम’ की चर्चा तो बानगी है, पंजाब में सुरक्षा को सबसे बड़ा मुद्दा बनाएगी भाजपा

Tue Jan 25 , 2022
नई दिल्ली। पंजाब विधानसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन सुरक्षा को सबसे बड़ा मुद्दा बनाएगा। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने इस बात को साफ कर दिया है। भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि पंजाब का चुनाव आने वाली पीढिय़ों को सुरक्षित करने और पंजाब को स्थिरता देने का चुनाव है। उन्होंने कहा कि अगर […]