जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

चेहरे पर लगा लें रसोई में रखी यह एक चीज, छूमंतर हो जाएगी झुर्रियों की समस्‍या, मिलेंगे कई लाभ

नई दिल्‍ली। समय के साथ-साथ चेहरे पर भी उम्र बढ़ने के निशान दिखने लगते हैं. हालांकि, यह प्राकृतिक क्रिया है और इसे रोका नहीं जा सकता है, लेकिन कुछ उपाय इन झुर्रियों (Wrinkles) और लकीरों (Fine Lines) को हल्का करने में कारगर साबित होते हैं. इतना ही नहीं, यदि सही समय पर आप अपनी त्वचा का ख्याल रखने लगें तो सालों तक त्वचा जवां और निखरी हुई बनी रहती है. कच्चा दूध (Raw Milk) भी रसोई की ऐसी ही एक चीज है जिसे झुर्रियों को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है. यह सेहत ही नहीं बल्कि स्किन के लिए भी कमाल का साबित होता है.

झुर्रियों के लिए कच्चा दूध (Raw Milk For Wrinkles)
दूध में विटामिन ए, विटामिन डी, प्रोटीन, बायोटिन, पौटेशियम और कैल्शियम पाया जाता है. वहीं, पके और कच्चे दूध में कई हद तक फर्क होता है. कच्चा दूध अनपेस्चुराइज्ड होता है और उपरोक्त गुणों से भरपूर भी जिस चलते यह सेहत ना सही लेकिन स्किन के लिए कई गुना बेहतर होता है. आप खासकर झुर्रियों को कम करने के लिए महंगे प्रोडक्ट्स की बजाय इस साधारण से कच्चे दूध को अपने स्किन केयर रूटीन (Skin Care Routine) का हिस्सा बना सकते हैं.

रोजाना चेहरे पर लगाए जाने पर कच्चे दूध में मौजूद पोषक तत्व झुर्रियों और चेहरे की लकीरों को हल्का करने लगते हैं. इसके अलावा, आप कच्चे दूध का मास्क (Milk Mask) भी तैयार कर सकते हैं. इसके लिए कच्चे दूध में केले और अनानास को मसल कर मिलाएं और फिर इसमें अलसी के बीजों का तेल डालें. अब इस मास्क को चेहरे पर तकरीबन आधा घंटा लगा कर रखने के बाद हल्के गर्म पानी से धो लें.

इस मास्क के अलावा कच्चे दूध में पपीते का गूदा, विटामिन ई कैप्सूल, शहद और नींबू का रस मिलाकर भी 20 से 25 मिनट तक लगाया जा सकता है. चेहरे पर हफ्ते में एक बार मास्क लगाना त्वचा के लिए अच्छा होता है.

ये भी हैं फायदे
कच्चे दूध से चेहरे की झुर्रियां तो हटती ही हैं, लेकिन यह चेहरे के लिए एक अच्छे क्लेंजर की तरह साबित होता है. इसे चेहरे की गंदगी हटाने के लिए भी रोजाना लगाया जा सकता है.

कच्चे दूध में 2 चम्मच ओट्स और एक चम्मच भरकर शहद मिलाकर चेहरे पर स्क्रब (Scrub) की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है. यह डेड स्किन सेल्स को हटाने में मदद करता है.

केले के साथ कच्चे दूध को लगाने पर चेहरा मॉइश्चराइज होता है और चेहरे को नमी भी मिलती है.

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी सिर्फ सामान्‍य सूचना के लिए हैं हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Share:

Next Post

सूरमा के बतोले

Fri Jun 17 , 2022
मियां मैं शेर हूं शेरों की गुर्राहट नहीं जाती मैं लहजा नर्म भी कर लूं तो झुंझलाहट नहीं जाती भोपाल की दूसरी पीढ़ी के सहाफी (पत्रकार) लज्जाशंकर हरदेनिया 3 दिन पेले 88 बरस के हो गए। ऊपर लिखा ये शेर इनके किरदार पे एकदम फिट बैठता हेगा। सरकार किसी की बी रई मियां खां को […]