देश

बंदोपाध्याय ममता बनर्जी के मुख्य सलाहकार, हरिकृष्ण द्विवेदी बने मुख्य सचिव

कोलकाता। पश्चिम बंगाल सरकार (Government of West Bengal) व केंद्र सरकार(central government) के बीच सोमवार को घमासान का पीक नजर आया। केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय(Union Ministry of Personnel) के आदेश के बाद भी बंगाल सरकार(Government of West Bengal) ने सोमवार को मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय (Chief Secretary Alapan Bandopadhyay) को रिलीव कर दिल्ली नहीं भेजा। इतना ही नहीं बाद में बंदोपाध्याय को सेवानिवृत्त मानकर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Chief Minister Mamata Banerjee) का मुख्य सलाहकार नियुक्त (Appointed chief advisor) कर दिया गया। उनकी जगह वरिष्ठ आईएएस अधिकारी हरि कृष्ण द्विवेदी (Hari Krishna Dwivedi) को बंगाल का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया है।
दरअसल, मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को लेकर केंद्र व बंगाल सरकार के बीच ठन गई थी। केंद्र ने गत दिनों पीएम की समीक्षा बैठक में उनके व ममता बनर्जी के देरी से पहुंचने व तुरंत लौट जाने के चंद घंटों बाद बंदोपाध्याय को दिल्ली में प्रतिनियुक्ति पर बुला लिया था। केंद्रीय कार्मिक मंत्रालय ने बंगाल सरकार को उन्हें तत्काल रिलीव करने को कहा था। वैसे बंदोपाध्याय 31 मई को ही रिटायर होने वाले थे, लेकिन ममता सरकार के आग्रह पर केंद्र ने उन्हें तीन माह का सेवा विस्तार दिया था, लेकिन इसके चार दिन पहले केंद्र ने अचानक उन्हें दिल्ली बुला लिया था।



ममता बनर्जी केंद्र के इस आदेश को मानने को तैयार नहीं हुई। उन्होंने बंदोपाध्याय को रिलीव नहीं किया और पीएम मोदी को पत्र लिखकर यह आदेश वापस लेने का आग्रह किया। इसे केंद्र ने नामंजूर कर दिया। इसके बाद सीएम ममता बनर्जी ने आनन-फानन में प्रशासनिक उलटफेर करते हुए बंदोपाध्याय को मुख्य सचिव पद से सेवानिवृत्ति कर उन्हें अपना मुख्य सलाहकार नियुक्त कर दिया।

तानाशाह की तरह व्यवहार कर रहे अमित शाह : ममता
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का कहना है-‘मैं अलपन बंदोपाध्याय को बंगाल नहीं छोड़ने दूंगी। वह अब मुख्यमंत्री के मुख्य सलाहकार हैं। अब वह दिल्ली नहीं जाएंगे। केंद्र किसी अधिकारी को राज्य सरकार की सहमति के बिना ज्वाइन करने के लिए बाध्य नहीं कर सकता। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह हिटलर, स्टालिन जैसे तानाशाहों की तरह व्यवहार कर रहे हैं।

केंद्र करेगा अनुशासनात्मक कार्रवाई
चूंकि बंदोपाध्याय वरिष्ठ आईएएस अधिकारी रहे हैं, इसलिए उनकी सेवा शर्तें केंद्र के अधीन हैं। केंद्र सरकार उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई पर विचार कर रही है। सूत्रों के अनुसार उन्हें केंद्र का आदेश नहीं मानने के लिए कारण बताओ नोटिस भेजा जा सकता है।

गृह सचिव द्विवेदी पदोन्नत
इस बीच, 1988 के बैच के आईएएस अधिकारी हरि किशन द्विवेदी को बंगाल का नया मुख्य सचिव नियुक्त किया गया है। हरि किशन द्विवेदी वर्तमान में राज्य के गृह सचिव के रूप में कार्यरत हैं।

Share:

Next Post

EPFO का बड़ा फैसला, 6 करोड़ खाताधारक दूसरी बार ले सकेंगे कोविड एडवांस

Tue Jun 1 , 2021
नई दिल्ली। कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus Pandemic) ने देश की जनता की आर्थिक स्थिति बिगाड़ दी है। लोगों को राहत देने के लिए सरकार (Government) हर संभव प्रयास कर रही है। अब कर्मचारी भविष्य निधि संगठन Employees Provident Fund Organization(EPFO) ने देश में महामारी(Pandemic) की दूसरी लहर(Second Wave) के प्रभाव के मद्देनजर अपने सब्सक्राइबर्स […]