इंदौर न्यूज़ (Indore News)

भिखारी बने समस्या, पकड़-पकडक़र छोड़े

  • प्रशासन का भिक्षुकमुक्त शहर अभियान दिखावा साबित हो रहा
  • ढाई हजार से अधिक सडक़ों पर ही चेतावनी देकर छोड़े… 22 को आश्रमों में रखवाया, फिर उन्हें समझाइश देकर छोडऩा पड़ा

इंदौर। इंदौर शहर को भिक्षुकमुक्त बनाने का कलेक्टर आशीषसिंह का सपना साकार होते नहीं दिख रहा है। भिक्षुकों को रेस्क्यू करने के बाद उन्हें रखने और पुनर्वास करने की जगह नहीं होने के कारण सिर्फ समझाइश देकर छोड़ा जा रहा है। विभाग ने बाल भिक्षुकों के लिए चलाई मुहिम में 22 को रेस्क्यू किया और आश्रमों में रखवाया, लेकिन फिर भी शहर की सडक़ों से भिक्षुकों की संख्या कम होने का नाम नहीं ले रही है। ढाई हजार से अधिक को सिर्फ समझाइश देकर छोड़ दिया गया।

टीम के सामने ही महिलाएं बच्चों को गोद में लेकर वाहन चालकों से पैसों की मांग कर रही हैं, लेकिन टीम हाथ पर हाथ धरे तमाशबीन की तरह सिर्फ देखती रह रही है। यह ढाई हजार का आंकड़ा प्रशासन द्वारा चलाई गई मुहिम का है, जबकि वास्तविकता बहुत अलग है। ऐसे भिक्षुक, जो नवनिहालों को गोद में लेकर भिक्षावृत्ति कर रहे हैं व चौराहों पर सामान बेचने के नाम पर भीख मांग रहे हैं, उन्हें रखने की जगह ही नहीं है। शहर के आउटर इलाकों में बस्तियां बनाकर घुमंतू प्रजाति के साथ-साथ राजस्थान और बिहार से आए लोग गांधी नगर, सांवेर रोड, हातोद इलाके में भारी तादाद में अस्थायी झोपडिय़ां बनाकर रह रहे हैं और दिन में शहर की सडक़ों पर भिक्षावृत्ति करते हैं।

Share:

Next Post

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने "पीएम श्री पर्यटन वायु सेवा" का शुभारंभ किया

Thu Jun 13 , 2024
भोपाल। मुख्यमंत्री (Chief Minister) मोहन यादव (mohan yadav) ने गुरुवार को सुबह 9 बजे राजा भोज अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट (Raja Bhoj International Airport) पर भोपाल से जबलपुर (bhopal to jabalpur) जाने वाली पहली फ्लाइट (Flight) को फ्लैग ऑफ किया। यह फ्लाइट भोपाल से जबलपुर होकर रीवा जाएगी, वहां से सिंगरौली लैंड होगी। मुख्यमंत्री भोपाल एयरपोर्ट पर […]