इंदौर न्यूज़ (Indore News)

बड़ी खबर, खराब किडनी अच्छे टिशु डालकर ठीक हो सकेगी

  • डायलिसिस के भरोसे जी रहे लोगों के लिए अच्छी खबर… दो लाख लोगों को हर साल किडनी ट्रांसप्लांट की जरूरत
  • विदेश में चल रही रिसर्च, किडनी स्टोन और पानी कम पीना बन रहा मुख्य वजह

इंदौर (Indore)। हर साल 2 लाख लोगों को किडनी ट्रांसप्लांट की जरूरत है, लेकिन इसकी तुलना में डोनर नहीं मिल रहे हैं, जिसके कारण वेटिंग लिस्ट बढ़ती जा रही है। अब जल्द ही खराब किडनी में अच्छे टिशु डालकर उसे एक बार फिर ठीक किया जा सकेगा, जिसके बाद किडनी बदलने की जरूरत नहीं पड़ेगी। विदेश के डाक्टर की यह रिसर्च जल्द ही किडनी की मरीजों के लिए लाभदायक साबित होगी।

यह कहना था कान्फ्रेंस में आए डाक्टर महेश आर. देसाई का। उन्होंंने बताया कि भविष्य में आने वाली रिसर्च जल्द ही किडनी के डोनर मिलने की परेशानी को भी खत्म कर देगी। इंदौर यूरोलॉजी सोसाइटी द्वारा आयोजित कान्फ्रेंस में यूसीकॉन के क्रोनिक प्रोस्टेटाइटिस, ब्लेडर ट्रांसप्लांट, यूरो-ओंको सेशन, यूरेथ्रोप्लास्टी, मूत्रमार्ग का पुनर्निर्माण, जनानंग का पुनर्निर्माण एवं बच्चों में यूरोलॉजी से जुड़ी समस्याओं जैसे कई विषयों पर 5 राज्यों के 600 से अधिक डाक्टरों ने चर्चा की। कांफ्रेंस के ऑर्गेनाइजिंग चेयरमैन एवं वरिष्ठ यूरो सर्जन डॉ. आरके लाहोटी ने बताया कि पेशाब से संबंधित समस्याएं खासकर पेशाब की रुकावट होने पर नतीजे गंभीर हो सकते हैं।


अगर किसी इन्फेक्शन के कारण पेशाब करने में दिक्कत आ रही है, तो यह चिंता का विषय है। पेशाब करने में परेशानी, जलन, रुक – रुक कर आना या अचानक बंद हो जाना, खून का आना, मवाद का पडऩा, पेट के निचले हिस्से में भारीपन, ब्लेडर में इन्फेक्शन होना, खांसते व छींकते वक्त पेशाब का निकाल जाना, किडनी व यूरेथरा में पथरी, तेज दर्द जैसे लक्षण दिख रहे हैं तो सावधान होकर आगे जांचें कराने की जरूरत है। कॉन्फ्रेंस में क्रोनिक प्रोस्टेटाइटिस पर पर भी चर्चा हुई। किशोर से लेकर बुजुर्ग तक किसी भी उम्र के पुरुषों में इसके लक्षण देखे जा सकते हैं और ये एक बार जाने के बाद फिर बिना किसी चेतावनी के वापस आ जाते हैं।

पथरी होने पर बीयर फायदेमंद नहीं
पथरी हो जाने पर बीयर पीने की सलाह देने या पीने वाले अधिकतर लोगों की यह अनुभव के आधार पर या सुनी सुनाई धारणा होती है, जो कि अन्य मरीजों के लिए घातक साबित हो सकती है। डा. देसाई के अनुसार पथरी होने पर बीयर पीने से पथरी का आकार और बढ़ जाता है। यह घातक है। तरल पदार्थ व पानी का अधिक से अधिक सेवन और सही समय पर जांच विभिन्न तरह की परेशानियों से बचा सकता है। कान्फ्रेंस के आर्गनाइजिंग चेयरमैन डा. आर.के. लाहोटी के अनुसार मूत्राशय संबंधी परेशानियों में बिना देर किए डाक्टर की सलाह लेना चाहिए। अगर तुरंत ध्यान न दिया जाए तो यह जीवन के लिए घातक है। स्टोन के कारण दर्द अंडकोष में सूजन, जनानंग में गैंगरिंग के साथ-साथ कैंसर जैसी घातक बीमारी भी घर कर लेती है।

Share:

Next Post

आ रही रॉयल एनफील्ड की नई बाइक, कंपनी ने जारी किया फर्स्ट टीजर

Mon Oct 9 , 2023
नई दिल्ली: भारत में मिडिल वेट बाइक बनाने वाली कंपनी रॉयल एनफील्ड (Royal Enfield) जल्द ही हिमालयन 452 बाइक लॉन्च करने वाली है. हालांकि, कंपनी ने लॉन्च से पहले ही इस बाइक टीजर जारी कर दिया है. इस टीजर में कंपनी ने बाइक का पूरी तरह खुलासा कर दिया है जिससे कई जानकारियां सामने आई […]