उत्तर प्रदेश

सरकार के अंतिम समय में बंदरबांट करने  में जुटी भाजपा: सपा 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को कहा कि बंदरबांट में उलझी भाजपा सरकार से जनता को कोई उम्मीद नहीं बची है। कोरोना संक्रमण, जानलेवा व्लैक फंगस के मंहगे इलाज में सरकार की लापरवाही, जीवन रक्षक दवाइयों के अकाल और ठप्प विकास कार्यों के साथ हर मोर्चे पर विफल भाजपा सरकार में गरीब, किसानों, नौजवानों और समाज के शोषित वंचित और पिछड़े वर्गो के हितों पर कुठाराघात ही होता रहा है।

उन्होंने यहां जारी बयान में कहा कि समय से प्रभावी कदम न उठाने, स्थितियों के सही आंकलन में विफलता और गलत प्रबंधन के चलते उत्तर प्रदेश भाजपा राज में आंकडे बताते हैं कि आबादी के हिसाब से टीकाकरण में यूपी पिछड़ा हुआ है। नीति आयोग के रिकॉर्ड में उत्तर प्रदेश को सबसे फिसड्डी राज्य का दर्जा मिला हुआ है। भुखमरी, गरीबी, भेदभाव और इंडस्ट्री तथ इंफ्रास्ट्रक्चर आदि सूचकांक रैंकिंग में राज्य बदहाल है।

फाइनेंशियल एक्सप्रेस में दर्शाया गया है कि किस तरह कोरोना के नमूनों की जांच में हेरा-फेरी की गई। मसलन उप्र में 21 अप्रैल को 2,25,570  नमूनों की जांच की गई। अगर उनमें 20 फीसदी या 45,114 लोग कोविड संक्रमित थे तो उनमें करीब 22,000 मामलों को सरकारी रिकॉर्ड से निकाल दिया गया और केवल  33,106 संक्रमण केस दर्ज किए गए।

इस तरह उस दिन जांच संक्रमण दर 14.7 फीसदी ही रही। इसी तरह की धोखाधड़ी से संक्रमण के पुष्ट मामलों में उत्तर प्रदेश को चौथा स्थान मिल गया है। सच तो यह है कि भाजपा राज में बेकारी-बेरोजगारी रिकॉर्ड तोड़ रही है। मंहगाई थमने का नाम नहीं ले रही है।  पेट्रोल-डीजल-रसोई गैस सबके दाम आसमान छू रहे है।

Next Post

कुछ गतिविधि को छोड़ कल खुल जायेगा इन्दौर, धार्मिक, मॉल और जिम स्थल खुलेंगे

Fri Jun 11 , 2021
इन्दौर। आज शुक्रवार शाम हुई क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटी (crisis management committee) की बैठक में पूरे इंदौर को खोलने का निर्णय लिया गया है। इसके आदेश रात तक जारी हो जाएंगे। मीटिंग में सभी जनप्रतिनिधियों ने कोविड प्रभारी मंत्री तुलसी सिलावट की मौजूदगी में एकमत से कहा कि शहर में अब पॉजिटिविटी रेट (Positivity Rate) बहुत […]