जबलपुर मध्‍यप्रदेश

 तालाब में डूबे तीनों बच्चों के शव बरामद

बालाघाट। जिले के मलाजखंड थाना अंतर्गत संतापुर (Santapur under Malajkhand police station) भीमा गांव के तालाब में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई। पुलिस ने बुधवार को तीनों के शव तालाब से बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं।

पुलिस के अनुसार ग्राम संतापुर भीमा (Santapur Bhima) में मंगलवार को तीनों बच्चे स्कूल से आने के बाद खेलने निकलने थे, लेकिन जब देर शाम तक घर नहीं पहुंचे तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू की। गांव के लोग उन्हें खोजते हुए तालाब पर पहुंचे तो वहां उनके कपड़े पड़े दिखाई दिए। इसके बाद उन्होंने पुलिस को घटना की जानकारी दी। पुलिस ने रात में पहुंचकर रेस्क्यू शुरू किया लेकिन अंधेरा होने के कारण सफलता नहीं मिली। इसके बाद बुधवार को सुबह पुनः रेस्क्यू किया गया। इस दौरान कुछ देर बाद तीनों बच्चों के शव बरामद हुए। पुलिस ने तीनों के शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिए हैं और फिलहाल मामले की जांच जारी है।


मलाजखंड थाना प्रभारी डोमन सिंह मरावी ने बताया कि ग्राम संतापुर भीमा में गांव से एक किलोमीटर दूर लघु तालाब में डूबने से तीन बच्चों की मौत हो गई। शव के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बिरसा में पोस्टमार्टम कराकर परिजनाें को सौंप दिया गया है। उन्होंने बताया कि मृतकों की पहचान आठ वर्षीय तनुष्का पुत्र मनोज उइके, छह वर्षीय प्रतिभा पुत्री नरेश धुर्वे और पांच वर्षीय वेदांत पुत्र चंद्रपाल उइके के रूप में हुई है।

बताया गया है कि तनुष्का उइके कक्षा चौथी, प्रतिभा धुर्वे दूसरी और वेदांत उइके आंगनबाड़ी में अध्ययनरत थे। एक ही मोहल्ले में तीनों की अर्थी आगे पीछे निकलने से पूरे गांव में शोक का माहौल व्याप्त है।

Share:

Next Post

ओसवाल फैक्ट्री के कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

Wed Jun 22 , 2022
राजगढ़। कुरावर थाना क्षेत्र के ग्राम पीलूखेड़ी स्थित ओसवाल फैक्ट्री (Oswal Factory) के आवासीय क्षेत्र में बुधवार शाम फैक्ट्री (Oswal Factory) के 29 वर्षीय कर्मचारी ने कमरे में पंखे के कुंदे से फांसी लगाकर खुदकुशी (suicide by hanging) कर ली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मौके से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए […]