भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

कृषि कानूनों की आड़ में किसानों को भ्रमित कर रही कांग्रेस

  • भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा का कांग्रेस से सवाल

भोपाल। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने आरोप लगाया है कि कृषि कानूनों को लेकर विपक्षी दल वामपंथी और कांग्रेस किसानों को भ्रमित कर रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस से सवाल पूछा है कि स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट क्यों लागू नहीं की गई? उस रिपोर्ट के अधिकांश सुझावों को मोदी सरकार ने कृषि बिल में शामिल किए हैं। उन्होंने आरोप लगाया है कि किसान आंदोलन की आड़ में अवार्ड लौटा कर कुछ लोग देश में अस्थिरता लाने की कोशिश कर रहे हैं। किसान आंदोलन से अवार्ड वापसी का क्या संबंध है? उन्होंने कहा कि धारा 370 से दिग्विजय सिंह का क्या संबंध है? उन्होंने कहा कि ये सिर्फ इसलिए 370 हटाने का विरोध करते रहे हैं, क्योंकि इन्हें कश्मीर में आतंकवाद को बनाए रखने के लिए धारा 370 का होना जरूरी लगता है। कृषि कानूनों को लेकर भाजपा 15 व 16 दिसंबर को प्रदेश के 7 जिलों में किसान सम्मेलन आयोजित कर रही है। प्रदेश अध्यक्ष ने इसकी जानकारी देने के लिए प्रेस से बातचीत की। कहा कि इस कानून के जरिए किसान पूरी तरह आत्मनिर्भर बनेंगे। नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री बनते ही किसानों की आय दोगुनी करने का संकल्प लिया था।

खत्म होगी कृषि व्यवसाय से अनिश्चितता
शर्मा ने कहा कि कांग्रेस और अन्य दलों के लोग एमएसपी को लेकर भ्रम फैला रहे हैं, जबकि केंद्र सरकार कई बार यह स्पष्ट कर चुकी है कि एमएसपी लागू रहेगी। ये भ्रम फैला रहे हैं कि मंडियां खत्म हो जाएंगी, जबकि नए कानूनों में मंडियों के आधुनिकीकरण की बात है। उन्होंने कहा कि कांट्रेक्ट फॉर्मिंग में किसान पहले ही अपनी उपज की कीमत तय कर सकेगा और कृषि व्यवसाय से अनिश्चितता खत्म होगी। संबंधित कानून में किसान की भूमि से कुछ भी छेड़छाड़ करने की अनुमति नहीं है। शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश किसानों के लिए एक वेलफेयर स्टेट के रूप में उभरा है। यहां सरकार ने किसानों को बेहतर आधारभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने का काम किया है। 2003 में यहां सिर्फ 7 लाख हेक्टेयर में सिंचाई होती थी, जिसे भाजपा सरकार ने 40 लाख हेक्टेयर तक पहुंचाया है। सिंचाई के लिए पर्याप्त बिजली मिल रही है।

Share:

Next Post

प्रदेश में बोर्ड कक्षाएं 18 दिसंबर से नियमित रूप से संचालित होंगी

Tue Dec 15 , 2020
स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा बैठक में मंत्री सहमति भोपाल। स्कूल शिक्षा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार इन्दर सिंह परमार ने कहा है कि कक्षा 10 वीं और 12 वीं के विद्यार्थियों के लिए स्कूल आगामी 18 दिसंबर से नियमित रूप से पूरे निर्धारित समय तक के लिए संचालित होंगी। यह निर्णय बोर्ड की परीक्षाओं को ध्यान […]