इंदौर देश मध्‍यप्रदेश

अभिसरण परियोजनाः मनरेगा से होगा पर्यटन स्थलों का विकास

खरगौन। मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड ने तय किया है कि हर जिले में पर्यटन संवर्धन अभिसरण परियोजना लागू की जाए। जिसका उद्देश्य पर्यटन स्थलों पर मूलभूत अधोसंरचना विकसित कर पर्यटन स्थल का रखरखाव, संरक्षण करते हुए स्थल को लोकप्रिय बनाना है। पुरातात्विक धरोहर, सम्पत्तियों के संरक्षण के साथ स्थानीय परम्पराओं, खान-पान, कला, संस्कृति एवं शिल्प को भी प्रोत्साहित किया जाना है।

इसी सिलसिले में कलेक्टर अनुग्रहा पी की अध्यक्षता में सोमवार को जिला पुरातत्व, पर्यटन एवं संस्कृति परिषद की बैठक हुई, जिसमें बताया गया कि अभिसरण परियोजना अंतर्गत मनरेगा, स्वच्छ भारत मिशन, वित्त आयोग, सीएसआर, सांसद/विधायक निधि आदि से पर्यटन स्थलों पर मूलभुत सुविधाएँ जैसे शौचालय, पेयजल, व्यवस्थित दुकानें, विश्राम स्थल, मुक्ताकाशी मंच, पहॅुच मार्ग, सौन्द्रयीकरण आदि कार्य किया जाना है। कलेक्टर ने सभी अनुविभागीय अधिकारी-राजस्व को अनुविभाग में आने वाले समस्त पर्यटन स्थलों का चिन्हांकन कर आवश्यक सुविधाओं हेतु प्रस्ताव बनाए जाने के निर्देश दिए।

जिला पंचायत सीईओ गौरव बेनल ने बताया कि पर्यटन स्थलों पर अधोसंरचना विकास कार्य पूर्ण होने के पश्चात् स्थल को लोकप्रिय बनाए जाने के उद्देश्य से लोक महोत्सव, खान-पान महोत्सव, केम्पिंग, हेरिटेज वॉक, ट्रेकिंग, जंगल वॉक, रॉक क्लाईम्बिंग, पैराग्लाईडिंग, नौकायान आदि गतिविधियां सम्पन्न करायी जायेगी।

जिले के विभिन्न पर्यटन स्थल, सुधार हेतु किए जाने वाले कार्य एवं आय- व्यय आदि का ब्यौरा प्रजेंटेशन के माध्यम से जिला पंचायत के तकनीकी सहायक नीरज अमझरे द्वारा किया गया। बैठक में समस्त एसडीएम, एसडीओ-फारेस्ट, मुख्य नगर पालिका अधिकारी खरगोन, अतिरिक्त क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग, ग्रामीण यांत्रिकी सेवा संभाग खरगोन/महेश्वर, जिला पंचायत के वरिष्ठ लेखाधिकारी आदि उपस्थित थे।

टंट्या मामा गुफा स्थल, भापसी कुण्ड एवं झरना होगा लोकप्रिय स्थल

झिरन्या विकासखण्ड की ग्राम पंचायत बिलखेड़ में जिला मुख्यालय से 60 किलोमीटर दूर चित्तौडगढ़ भुसावल राजमार्ग पर हेलापड़ावा चौकी से एक किलोमीटर की दूरी पर स्थित टंट्या मामा गुफा स्थल, भापसी कुण्ड एवं झरना है। यहां के प्राकृतिक सौन्दर्य से आच्छादित वनक्षेत्र में झरनों के कल-कल प्रवाह से पर्यटक आनंदित होंगे एवं इस रमणिक स्थल का लुत्फ उठायेंगे। इसके लिए झरने तक जाने हेतु पहुँच मार्ग, पार्किंग, सुरक्षा व्यवस्था, रैलिंग, गाईड, सुविधाघर आदि व्यवस्थाए किए जाने हेतु अनुविभागीय अधिकारी-राजस्व भीकनगांव को निर्देशित किया। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

वैवाहिक समारोह में कोविड प्रोटोकाल का उल्लंघन पाये जाने पर होगी कार्यवाही

Tue Jul 6 , 2021
होटल/मैरिज गार्डन संचालक सहित संबंधित आयोजक भी होंगे दोषी इंदौर। इंदौर जिले में कोविड के नियंत्रण के लिये व्यापक एहतियात बरती जा रही है। इसके मद्देनजर सभी होटल/मैरिज गार्डन संचालकों को निर्देश दिये गये हैं कि वे अपने यहाँ होने वाले आयोजनों में निर्धारित संख्या के साथ ही वैवाहिक तथा अन्य आयोजन सुनिश्चित करवायें। कोविड […]