इंदौर न्यूज़ (Indore News)

2 एकड़ में खड़े होने वाले सारे कंटेनरों की सुरक्षा सीआरपीएफ के जिम्मे

चलते-फिरते इन होटलों में है सारी सुविधाएं, चार कैटेगरी में बंटे 65 कंटेनरों में कीचन, लॉण्ड्री, लाइब्रेरी से लेकर मेडिकल टीम रहती है तैनात

इंदौर। राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के साथ चल रहे 60 से अधिक कंटेनरों को एक ही जगह पर खड़ा करने के लिए कम से कम 2 एकड़ जमीन की जरूरत पड़ती है। सीआरपीएफ की कड़ी निगरानी में ये कंटेनर खड़े रहते हैं। इंदौर में भी चिमनबाग मैदान के पीछे इन कंटेनरों के लिए अलग से पुख्ता सुरक्षा के बीच व्यवस्था की गई, जहां पर अंदर जाने की अनुमति किसी को भी नहीं है और राहुल गांधी जिस कंटेनर में रात बिताते हैं वे अलग से घेरा बनाकर कड़ी सुरक्षा में रहते हैं।

60 से अधिक कंटेनर जो यात्रा में चल रहे हैं उसे अलग-अलग चार झोनों में बांटा गया है। यलो झोन के कंटेनर में एक-एक बैड, अटैच्ड बाथरुम और अन्य सुविधाएं हैं। ऐसे ही एक कंटेनर में राहुल और अन्य में दिग्गज कांग्रेस नेता रूकते हैं। वहीं ब्लू जोन कंटेनर में दो बिस्तर और बाथरूम की व्यवस्था है, तो रेड और ऑरेंज जोन वाले कंटेनरों में 4 और उससे अधिक लोगों के रूकने की व्यवस्था की गई है। महिला यात्रियों के लिए अलग से कंटेनर और शौचालय की व्यवस्था है। कुछ कंटेनर, जिन पर टी लिखा है वे शौचालयों के इस्तेमाल में आते हैं। 150 से अधिक लोगों की हाउस कीपिंग सहित कैटरिंग व अन्य की टीम भी साथ चल रही है। धूम्रपान से लेकर शराब व अन्य सामग्री पूरी तरह से प्रतिबंधित रहती है। कंटेनरों की धुलाई-सफाई के साथ ही 24 घंटे सीआरपीएफ जवान निगरानी करते हैं। लाइब्रेरी कंटेनर के साथ खाना बनाने के लिए किचन और लॉण्ड्री, जिसमें कपड़े धुलाई, प्रेस सहित अन्य सुविधाएं हैं। इसके कंटेनर यात्रा के साथ चलते हैं। जहां भी रात बिताना होती है उसके पहले ये सभी कंटेनरों का काफिला पहुंच जाता है और फिर सर्कस की तरह चंद घंटों में पूरा सेटअप कर लिया जाता है। 150 दिन की इस यात्रा में कंटेनर के जरिए एक नया प्रयोग भी राजनीतिक यात्रा में किया जा रहा है। राहुल के लिए अलग से खाना बनता है, मगर कई बार वे यात्रा में चल रहे लोगों के साथ चर्चा और खाने के लिए शामिल हो जाते हैं। कुल मिलाकर चलते-फिरते होटलों का यह कंसेप्ट अनूठा ही है।

कांग्रेस ने बकायदा टेंडर बुलाकर व्यवस्थाओं का दिया है ठेका

भारत जोड़ो यात्रा की तैयारी के वक्त एक मुद्दा यह आया कि इतने लोगों के लिए अलग-अलग जगह पर होटलें उपलब्ध नहीं होंगी, जिसके चलते चलती-फिरती होटल यानी इन कंटेनरों का आइडिया आया और इसके लिए बकायदा कांग्रेस ने टेंडर भी बुलाए, जिसमें जानी-मानी इवेंट प्लानिंग कम्पनी विच क्रॉफ्ट सहित अन्य ने हिस्सा लिया। अंत में मुंबई की ही इवेंट मैनेजमेंट को इसका जिम्मा सौंपा गया। वहीं इंदौर में कांग्रेस विधायक संजय शुक्ला का इवेंट मैनेजमेंट बखूबी संभालने वाले सुनिल अग्रवाल भी मदद कर रहे हैं। दिग्विजय सिंह ने श्री अग्रवाल की प्रशंसा की और उनके ईवेंट और मीडिया मैनेजमेंट को सराहा।

9 सदस्यीय कोर टीम के पास है यात्रा के सारे सूत्र

भारत जोड़ो यात्रा की जो प्लानिंग की गई उसके सूत्रधार तो दिग्विजय सिंह रहे ही, वहीं पूरी यात्रा को कॉर्डिनेट करने के लिए 9 सदस्यीय कोर टीम बनाई गई है, जिसमें दिग्विजय सिंह के अलावा जयराम रमेश, पवन खेड़ा, श्रीनिवास पीवी, केसी वेणुगोपाल, ज्योति मणि, केबी बायजू, अलंकार सवाई और वैभव वालिया शामिल हैं। इंदौर के चिमनबाग का जिम्मा स्थानीय कांग्रेस नेता अनिल यादव को सौंपा गया, जिन्हें कैम्प साइड क्रू की जिम्मेदारी मिली है। वे कंटेनरों से संबंधित व्यवस्था में मदद कर रहे हैं।

Share:

Next Post

11 बटुकों का यज्ञोपवित संस्कार, शोभा यात्रा में पगड़ी पहनकर नृत्य किया महिलाओं ने

Mon Nov 28 , 2022
नागदा। सर्व ब्राह्मण महासभा के तत्वावधान में दीपावली मिलन समारोह व बटुकों का यज्ञोपवित संस्कार का आयोजन रखा गया। रविवार को पाडल्या रोड आदित्य विद्या मंदिर में आयोजित समारोह में पं. चंद्रशेखर दवे, सुंदरलाल जोशी अरविंद शिकारी के आचार्यत्व में वैदिक मंत्रोच्चार के साथ 11 बटुकों का नि:शुल्क यज्ञोपवित संस्कार किया गया। इसके बाद इन्हें […]