जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

पेट या कमर दर्द को न करें अनदेखा, इस गंभीर बीमारी के हो सकते हैं लक्षण, जानें बचाव

किडनी स्टोन का दर्द न केवल असहनीय होता है बल्कि ये व्यक्ति का हाल से बेहाल कर देता है। कडनी स्टोन बनने के कई कारण हो सकते हैं। इसका दर्द पेट या पीठ में कहीं भी हो सकता है। एक्सपर्ट के अनुसार, कम पानी पीने की समस्या इसके बनने का सबसे अहम कारण होता है। इसके अलावा, गलत खानपान भी किडनी स्टोन बनने का कारण हो सकता है। ऐसे में डॉक्टर्स का कहना है कि खानपान में कुछ सुधार करके किडनी स्टोन के बनने की क्षमता को कम किया जा सकता है।

अधिक पानी पिएं-
एक व्यक्ति को प्रतिदिन 12-16 कप पानी पीना चाहिए। हृदय और गुर्दे की समस्या वाले लोगों को अपने विशेषज्ञों की सलाह का पालन करना चाहिए। इसके अलावा, यूरीन को साफ और गंदमुक्त रखने के लिए पर्याप्त मात्रा में पानी जरूर पिएं।

कम सोडियम वाला आहार रखें-
ज्यादा नमक वाली चीजें या सोडियम का ज्यादा सेवन आपके शरीर में कैल्शियम के स्तर को बढ़ाता है और यूरीन में साइट्रेट को कम करता है। इससे किडनी स्टोन का खतरा बढ़ जाता है। ताजा फलों का सेवन करें- रोजाना ताजा फलों का सेवन किडनी स्टोन के बनने की संभावना को कम करता है।

मीट का सेवन सीमित करें-
मीट का सेवन अधिक करने करने से यूरीन में यूरिक एसिड, कैल्शियम और ऑक्सालेट के लेवल को बढ़ा सकता है। इससे किडनी स्टोन बनने का खतरा बढ़ सकता है। प्रतिदिन केवल 6-8 औंस मीट खाने की सलाह दी जाती है।


सीमित मात्रा में कैल्शियम का सेवन-
आप डेयरी प्रोडक्ट का सेवन करके शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बनाए रख सकते हैं। सप्लीमेंट की तुलना में फल, सब्जी और डेयरी प्रोडक्ट से कैल्शियम प्राप्त करना बेहतर है, क्योंकि बहुत अधिक कैल्शियम(calcium) किडनी स्टोन के खतरे को बढ़ा सकता है।

खट्टे फलों और जूस का सेवन बढ़ाएं-
खट्टे फलों में पाया जाने वाला साइट्रेट किडनी स्टोन (kidney stone) के निर्माण को रोकता है। नींबू और चूना साइट्रेट के सबसे अच्छे स्रोत साबित हुए हैं। इसके अलावा, संतरे और अंगूर (Grape) भी किडनी स्टोन के बनने को रोकते हैं।

ऑक्सालेट की मात्रा सीमित करें-
ऑक्सालेट एक प्राकृतिक रूप से पाया जाने वाला पदार्थ है जो कई प्रकार की खाने की चीजों में पाया जाता है। पालक, बेरीज, बीट, चॉकलेट, फ्रेंच फ्राइज, नट्स, सोया प्रोडक्ट आदि में ऑक्सालेट (oxalate) की हाई मात्रा पाई जाती है। इनका सेवन सीमित मात्रा में करें।

Share:

Next Post

धीरे-धीरे साकार हो रहा राम भक्तों का सपना, राम मंदिर की नींव निर्माण का काम अंतिम दौर में, देखें तस्वीरें

Thu Sep 16 , 2021
अयोध्या। अयोध्या (Aayodhya) में राम मंदिर (Ram Temple) बनने का सपना धीरे-धीरे पूरा हो रहा है। मंदिर की नींव (temple foundation) के निर्माण का कार्य अंतिम दौर में हैं। श्रीराम जन्मभूमि (Shri Ram Janmabhoomi) तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय (Champat Ray) ने बताया कि नींव की अब तक 46 लेयर पड़ चुकी हैं। […]