इंदौर न्यूज़ (Indore News) मध्‍यप्रदेश

इंदौर के स्कूलों में त्योहार की तरह मनेगा प्रवेशोत्सव

इंदौर में पार्षद से लेकर मंत्री तक बच्चों का करेंगे स्वागत

इंदौर। सरकारी स्कूलों (Government Schools) में ग्रीष्मकालीन अवकाश (Summer Vacation) के बाद कल से विद्यार्थियों (students) के लिए विधिवत कक्षाएं शुरू हो जाएंगी। प्रवेश उत्सव (Entrance festival) को लेकर इंदौर (Indore) जिले में पार्षद, सरपंच, स्थानीय जनप्रतिनिधि से लेकर मंत्री तक बच्चों का स्वागत करेंगे। इसके लिए शिक्षा विभाग के अधिकारी कार्यक्रम को अंतिम स्वरूप प्रदान कर रहे हैं।



स्कूल शिक्षा मंत्री उदयप्रताप सिंह के निर्देश हैं कि स्कूलों में प्रवेश उत्सव को नया स्वरूप प्रदान किया जाए। इसके लिए तीन दिवसीय आयोजन किए जा रहे हैं। कल से ग्रीष्मकालीन अवकाश के बाद कक्षाओं में बच्चों का पहुंचना शुरू हो जाएगा। 18 जून को स्कूली बच्चों से सरपंच, पार्षद, स्थानीय जनप्रतिनिधि, विधायक, सांसद और मंत्री रूबरू होंगे। इंदौर शहर में बाल विनय मंदिर में सांसद शंकर लालवानी शामिल होंगे तो सांवेर, मांगलिया और लसूडिय़ा में मंत्री तुलसी सिलावट बच्चों का स्वागत-सत्कार करेंगे। इसी प्रकार 19 जून को क्षेत्र के अधिकारी, विशिष्टजन, समाजसेवी बच्चों के बीच अपने विचार रखेंगे और भविष्य से भेंट कार्यक्रम संपन्न कराएंगे। 20 जून को भी स्कूलों में विशेष कार्यक्रम किए जाएंगे। कुल मिलाकर स्कूल प्रारंभ होने का पहला सप्ताह विद्यार्थियों को नवाचार की गतिविधियों से अवगत कराने को समर्पित रहेगा। जिला शिक्षा अधिकारी मंगलेश व्यास ने बताया कि प्राचार्य से जानकारियां ली जा रही हैं। किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी ।

शिक्षकों की कमी
जिले के अधिकारियों का कहना है कि इंदौर में पर्याप्त शिक्षक हैं। जरूरत पडऩे पर अतिथि शिक्षकों की सेवाएं ली जाती हैं। वहीं प्रवेश उत्सव तो मनाया जा रहा है, लेकिन 500 से ज्यादा ऐसे स्कूल हैं, जहां पर शिक्षकों की कमी लंबे समय से बनी हुई है। यह बात पिछले सप्ताह हुई समन्वयक बैठक में भी सामने आई थी, जिसमें शिक्षकों ने यह भी कहा था कि 10वीं-12वीं का परिणाम इसलिए खराब आया कि स्कूलों में शिक्षक पर्याप्त संख्या में नहीं हैं।

Share:

Next Post

बंगाल में अब क्यों बवाल? ममता-राज्यपाल में फिर ठनी, गवर्नर ने दिया बड़ा आदेश

Mon Jun 17 , 2024
कोलकाता: पश्चिम बंगाल में सियासी बवाल जारी है. इस बीच एक और बड़ी राजनीतिक घटना घटी है. पश्चिम बंगाल के राज्यपाल सी.वी. आनंद बोस ने कोलकाता पुलिस के ड्यूटी पर तैनात कर्मियों को राजभवन परिसर तुरंत खाली करने का आदेश दिया है. यह आदेश उन आरोपों के मद्देनजर आया है, जिनमें आरोप लगाया गया था […]