व्‍यापार

सर्राफा कारोबार में आज उठापटक की आशंका

 

मुंबई: कोरोना (corona) काल में अमेरिका (America) में लेबर मार्केट में लगातार सुधार आने की वजह से गुरुवार को विदेशी बाजार में सोने-चांदी में लगातार दो दिन की बढ़ोतरी के बाद कमजोरी दर्ज की गई. बीते सत्र में विदेशी बाजार (Foreign market) में सोना और चांदी गिरावट के साथ बंद हुए थे. वहीं दूसरी ओर घरेलू वायदा बाजार यानि MCX पर भी सोना-चांदी गिरावट के साथ बंद हुए थे. अमेरिकी श्रम विभाग (US Labour Department) के आंकड़ों के मुताबिक 17 अप्रैल को खत्म होने वाले हफ्ते में अमेरिका में बेरोजगारी भत्ता (Initial Weekly Jobless Claims) मांगने वालों की संख्या 39 हजार घटकर 5.47 लाख हो गई है, जबकि उसके पिछले हफ्ते में यह आंकड़ा 5.86 लाख था.

जानकारों का कहना है कि जॉब मार्केट में सुधार और ग्लोबल मार्केट में कच्चे तेल की कीमतों में कमजोरी से सोने-चांदी की कीमतों पर दबाव देखने को मिला है. हालांकि सोने-चांदी के फंडामेंटल अभी भी मजबूत हैं, क्योंकि डॉलर इंडेक्स अभी भी सात हफ्ते के निचले स्तर के करीब कारोबार कर रहा है और कोरोना (Coronavirus) के मामले लगातार भारत और जापान में बढ़ रहे हैं.

सोने-चांदी पर जानकारों का नजरिया

केडिया एडवाइजरी (Kedia Advisory) के मैनेजिंग डायरेक्टर अजय केडिया (Ajay Kedia) के मुताबिक इंट्राडे में MCX पर सोना जून वायदा में 48,000-48,180 रुपये के लक्ष्य के लिए 47,700 रुपये के भाव पर खरीदारी की जा सकती है. सोने के इस सौदे के लिए 47,500 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं. वहीं दूसरी ओर चांदी मई वायदा में 69,800-70,500 रुपये के लक्ष्य के लिए 69,100 रुपये के भाव पर खरीदारी की जा सकती है. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 68,600 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है.

इंडिया इंफोलाइन सिक्योरिटीज (IIFL Securities) के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता (Anuj Gupta) के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना जून वायदा में 48,400 रुपये के लक्ष्य के लिए 47,800 रुपये के भाव पर खरीदारी फायदेमंद है. सोने के इस सौदे के लिए 47,500 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं. दूसरी ओर चांदी मई वायदा में 69,000 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 70,200 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. चांदी के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 68,400 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

मोतीलाल ओसवाल (Motilal Oswal) के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अमित सजेजा (Amit Sajeja) के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना जून वायदा में 47,600 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 48,200 रुपये का लक्ष्य हासिल किया जा सकता है. सोने के इस सौदे के लिए 47,350 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है. दूसरी ओर चांदी मई वायदा में 69,200 रुपये के भाव पर खरीदारी करके 70,200 रुपये का लक्ष्य हासिल कर सकते हैं. चांदी के इस सौदे के लिए 68,700 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं.

कमोडिटी मार्केट एक्सपर्ट वीरेश हीरेमथ के मुताबिक आज के कारोबार में MCX पर सोना जून वायदा में 47,500 रुपये के लक्ष्य के लिए 47,800 रुपये के भाव पर बिकवाली का मौका है. सोने के इस कॉन्ट्रैक्ट के लिए 48,000 रुपये का स्टॉपलॉस लगा सकते हैं. दूसरी ओर चांदी मई वायदा में 68,800 रुपये के लक्ष्य के लिए 69,300 के भाव पर बिकवाली कर सकते हैं. चांदी के इस सौदे के लिए 69,600 रुपये का स्टॉपलॉस लगाना चाहिए.

पृथ्वी फिनमार्ट प्राइवेट लिमिटेड (Prithvi Finmart Pvt Ltd) के डायरेक्टर (कमोडिटी एंड करेंसी) मनोज कुमार जैन (Manoj Kumar Jain) के मुताबिक आज डॉलर इंडेक्स और रुपये में उतार-चढ़ाव होने की वजह से सोने-चांदी में उठापटक देखने को मिल सकता है. हालांकि बुलियन को निचले स्तर पर सपोर्ट मिल सकता है. उनका कहना है कि विदेशी बाजार में सोने में सपोर्ट लेवल 1,772-1,758 डॉलर प्रति औंस और रेसिस्टेंस 1,800-1,814 डॉलर प्रति औंस है. वहीं चांदी में 25.88-25.55 डॉलर प्रति औंस का सपोर्ट और 26.60-26.88 डॉलर प्रति औंस का रेसिस्टेंस है. MCX पर सोने में सपोर्ट लेवल 47,500-47,330 रुपये और रेसिस्टेंस 48,000-48,280 रुपये है. चांदी में 68,800-68,500 रुपये का सपोर्ट और 69,900-70,400 रुपये का रेसिस्टेंस है. मनोज का कहना है कि MCX पर सोना जून वायदा में 48,200 रुपये के लक्ष्य के लिए 47,650 रुपये के आस-पास खरीदारी की जा सकती है. सोने के इस सौदे के लिए 47,300 रुपये का स्टॉपलॉस लगाया जा सकता है.

Next Post

जीडीपी के 1 प्रतिशत से भी कम में 18+ को लग जाएगी कोरोना वैक्सीन

Fri Apr 23 , 2021
नई दिल्ली। कोरोना महामारी(Corona Pandemic) की दूसरी लहर(Second Wave) विकराल रूप धारण करती जा रही है ऐसे में अब हर कोई वैक्सीन (Vaccine)की ओर नजरें टिकाए बैठा है. एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगर देश के 18 साल से ऊपर (18+) के सभी लोगों को टीका लगवाया जाता है तो इसकी लागत […]