इंदौर

‘ओमिक्रॉन’ का डर : अंतरराष्ट्रीय उड़ानें 20 से 50 प्रतिशत तक हुईं महंगी

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक लगने के डर से बढ़ेे यात्री, जिससे टिकटें भी हुई महंगी
इंदौर से दुबई के लिए 30 हजार में मिलने वाला टिकट 40 से 60 हजार के बीच, देश के अन्य प्रमुख एयरपोर्ट से चलने वाली उड़ानों का भी यही हाल
इंदौर। कोरोना (corona) के नए वेरिएंट  (new variants) ‘ओमिक्रॉन’ (omicron) को लेकर दुनिया में डर का माहौल है। दक्षिण अफ्रीका (south africa) सहित जिन देशों में यह वायरस (virus) सामने आया है कि ऐसे देशों (countries) की उड़ानों पर कई देश रोक लगा रहे हैं, वहीं इसके मामले लगातार दुनिया के कई देशों में सामने आ रहे हैं। इसे देखते हुए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों (international flights) पर रोक की तैयारी भी की जा रही है। भारत में भी इसे लेकर सख्ती चल रही है। इसके चलते अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के टिकट (tickets) आम दिनों की तुलना में 20 से 50 प्रतिशत तक महंगे हो गए हैं।

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों (international flights) पर रोक के डर से यात्री रोक के पहले ही अपने गंतव्य तक पहुंचना चाहते हैं। कई लोग अनलॉक (unlock) के बाद अपने परिजनों से मिलने देश में आए हुए हैं, वहीं कई भारतीय विदेश गए हुए हैं। ऐसे सभी लोग दहशत में हैं कि अगर पहले की तरह अंतरराष्ट्रीय उड़ानों (international flights) पर रोक लग गई तो वे फंस जाएंगे। इसके चलते अचानक अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में टिकट बुकिंग (booking) बढ़ गई है और इसका ही नतीजा है कि टिकटों की कीमतें आसमान छूने लगी हैं। ट्रेवल एजेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया (travel agents association of india) के प्रदेश अध्यक्ष हेमेंद्र सिंह जादौन ने बताया कि इंदौर से दुबई के बीच चलने वाली साप्ताहिक उड़ान में आम दिनों में जहां 29 से 30 हजार के बीच टिकट मिलता था, वहीं अगले सप्ताह इस फ्लाइट में टिकट (tickets) नहीं है। वहीं इसके बाद दो सप्ताह में टिकट के दाम 40 और उसके बाद दो सप्ताह में 43 हजार हैं, वहीं इस दौरान बिजनेस क्लास के टिकट 60 हजार से ज्यादा में मिल रहे हंै। यानी इस फ्लाइट के टिकट भी 20 से 50 प्रतिशत तक महंगे (expensive) हो गए हैं।

दिल्ली-मुंबई से चलने वाली अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में भी इतनी ही तेजी
जादौन ने बताया कि देश में सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय उड़ानें (international flights) दिल्ली और मुंबई से संचालित होती हैं। यहां से दुनिया के सभी प्रमुख देशों के बीच चलने वाली भी सभी उड़ानों में भी टिकटों (tickets) के दाम 20 से 50 प्रतिशत तक बढ़ चुके हैं। ऊंची कीमत के बाद भी यात्री उड़ानों पर रोक के डर से लगातार टिकट (ticket) बुक करवा रहे हैं। उन्होंने बताया कि अनलॉक (unlock) के बाद जहां ज्यादातर यात्री विदेशों में घूमने के लिए टिकट (ticket) बुक करवा रहे थे, वहीं अब ज्यादातर वापस अपने देशों में लौटने के लिए बुकिंग (booking) करवा रहे हैं।

Share:

Next Post

अनिल अंबानी की Reliance Capital के खिलाफ दिवाला कार्यवाही शुरू, RBI ने NCLT में दिया आवेदन

Fri Dec 3 , 2021
नई दिल्ली। अनिल अंबानी की रिलायंस कैपिटल लिमिटेड के खिलाफ गुरूवार को दिवाला कार्यवाही शुरू कर दी गई। भारतीय रिजर्व बैंक ने कर्ज में डूबी आरसीएल के खिलाफ दिवाला प्रक्रिया शुरू करने के लिए राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण एनसीएलटी से मंजूरी मांगी है। आरबीआई ने एक बयान जारी कर इस संबंध में जानकारी दी है। […]