देश व्‍यापार

मुकेश अंबानी को पछाड़कर फिर एशिया के सबसे अमीर शख्स बने गौतम अडाणी

नई दिल्ली (New Delhi)। दुनिया के टॉप अरबपतियों (World’s top Billionaires list) की सूची में बड़ा फेरबदल (Big reshuffle) हुआ है। अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी (Gautam Adani) ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के प्रमुख मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) को एक बार फिर पछाड़कर एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं।


ब्लूमबर्ग बिलेनियर्स इंडेक्स की शनिवार को जारी ताजा सूची के मुताबिक अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी की नेटवर्थ 5.45 अरब डॉलर से उछलकर 111 अरब डॉलर पर पहुंच गई है। इसके साथ ही वह दुनिया के अमीरों की सूची में 11वें और एशिया में पहले नंबर पर पहुंच गए हैं। आरआईएल प्रमुख मुकेश अंबानी 109 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दुनिया के अमीरों की सूची में 12वें और एशिया में दूसरे नंबर पर खिसक गए हैं।

इंडेक्स की ताजा सूची के मुताबिक फ्रांस के बर्नार्ड अरनॉल्ट 207 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ पहले पायदान पर पर बने हुए हैं। जबकि एलन मस्क 203 अरब डॉलर की नेटवर्थ के साथ दूसरे और जेफ बेजोस 199 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ तीसरे नंबर पर हैं। इसी तरह मेटा के सीईओ मार्क जकरबर्ग 166 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ चौथे, लैरी पेज 153 अरब डॉलर के साथ पांचवें, बिल गेट्स 152 अरब डॉलर के साथ छठे, सर्गेई ब्रिन 145 अरब डॉलर के साथ सातवें, स्टीव बालमर 144 अरब डॉलर के साथ आठवें, वॉरेन बफे 137 अरब डॉलर के साथ नौवें और लैरी एलिसन 132 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ दसवें नंबर पर हैं।

उल्लेखनीय है कि अमेरिका के माइकल डेल की नेटवर्थ में सबसे ज्यादा गिरावट देखने को मिली है। डेल की संपत्ति में 11.7 अरब डॉलर की गिरावट आई है। इससे वह अमीरों की सूची में 11वें पायदान से 13वें नंबर पर फिसल गए हैं। भारतीय शेयर बाजार में लिस्टेड अडाणी की कंपनियों के शेयरों में बीते कुछ दिनों में आए जोरदार उछाल के चलते उनकी संपत्ति में और अधिक बढ़ोत्तरी हुई है और वह एशिया के सबसे अमीर शख्स बन गए हैं।

Share:

Next Post

मई में जीएसटी राजस्व संग्रह 1.73 लाख करोड़ रुपये पर पहुंचा

Sun Jun 2 , 2024
नई दिल्ली (New Delhi)। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के नतीजे के पहले एग्जिट पोल (Exit poll.) के बीच नई सरकार (New government) के लिए खजाना भर गया है। मई में वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) राजस्व संग्रह (Goods and Services Tax (GST) revenue collection.) सालाना आधार पर 10 फीसदी बढ़कर 1.73 लाख करोड़ रुपये […]