इंदौर न्यूज़ (Indore News)

कैसे होगी जनता की सुरक्षा, वाट्सएप पर शिकायत का ऐलान और 67 में से 34 पुलिस अधिकारियों के वाट्सएप ही बंद

  • शिकायत यह है कि शिकायतों के लिए दिए गए वाट्सएप नंबर ही बंद है

इंदौर, रोहित पचौरिया। पुलिस द्वारा आमजनों की शिकायतें सुनने से लेकर त्वरित निराकरण के लिए सिटीजन कॉप नामक एप से लेकर व्हाट्सएप का ऐलान किया गया, जबकि इंदौर पुलिस की वेबसाइट पर मौजूद लगभग 67 पुलिस अधिकारियों में से आधे यानी 34 पुलिस अधिकारियों के नंबरों पर वाट्सएप एकाउंट ही मौजूद नहीं हैं। इनमें 18 थाना प्रभारी तो 16 अन्य बड़े पुलिस अफसर शामिल हैं।

पुलिस द्वारा ऐलान किया गया है कि अगर कोई शख्स गुप्त रूप से वाट्सएप पर भी थाना प्रभारियों व अन्य पुलिस अफसरों को कोई सूचना देगा तो पुलिस तुरंत एक्शन लेगी। इन नंबरों को जानने के लिए जिलेवार पुलिस विभाग की वेबसाइट बनी हुई है, जिसमें अफसरों की जानकारी व उनके संपर्क नंबरों किए गए हैं। इसी तरह इंदौर पुलिस के नाम से भी वेबसाइट चालू है। इस वेबसाइट पर पब्लिक इन्फॉर्मेशन ऑफिसर्स पर क्लिक करने पर इंदौर के थाना प्रभारी से लेकर एसपी-डीएसपी, कमिश्नर स्तर तक के लगभग 67 पुलिस अफसरों के पद और मोबाइल नंबर सहित अन्य जानकारियां मौजूद हैं, लेकिन जब इन सभी सरकारी मोबाइल नंबरों को खंगाला गया तो पता चला कि इनमें से 33 ही पुलिस अफसरों के नंबर वाट्सएप पर एक्टिव हैं और 34 नंबरों पर तो वाट्सएप एकाउंट ही नहीं हैं। कुछ नंबर जो वाट्सएप पर तो एक्टिव हैं, उन नंबरों पर प्रोफाइल फोटो और नाम पूर्व में पदस्थ रहे अफसर का ही डला हुआ है।

स्टेटस वाट्सएप भी बंद
अगस्त-2023 में इंदौर पुलिस ने दावा किया था कि आम व्यक्ति द्वारा डायल-100 या अन्य माध्यमों से दर्ज करवाई एफआईआर का स्टेटस उसे वाट्सएप पर ही मिल जाएगा। तत्कालीन जोन-1 के डीसीपी आदित्य मिश्रा की पहल पर उक्त सुविधा के लिए 6262302020 वाट्सएप नंबर जारी किया गया था, जबकि उक्त नंबर वाट्सएप पर है ही नहीं।


यातायात पुलिस भी फिसड्डी साबित
यातायात विभाग का भी यही आलम है। विभाग के वैसे तो वेबसाइट पर 8 नंबर मिलते हैं, लेकिन इनमें से 7 का वाट्सएप एकाउंट ही नहीं है। सिर्फ एक डीएसपी यानी उपपुलिस अधीक्षक का ही नंबर वाट्सएप पर दर्शाया जाता है, जबकि पूर्व में यह भी कहा जाता रहा कि जहां भी जाम लगे या यातायात व्यवस्था दुरुस्त न हो, वहां के फोटो जनता खींचकर वाट्सएप पर भेजें।

इन थानों के टीआई नहीं हैं वाट्सएप पर
जिन 18 थाना प्रभारियों के सरकारी न बरों पर वाट्सएप एकाउंट एक्टिव नहीं है, उनमें छोटी ग्वालटोली, तेजाजी नगर, कनाडिय़ा, परदेशीपुरा, बाणगंगा, खजराना, महिला थाना, यातायात पूर्व, यातायात पश्चिमी, पंढरीनाथ सराफा, एरोड्रम, महू थाना, मानपुर, बडग़ोंदा, देपालपुर, गौतमपुरा और हातोद थाना प्रभारी शामिल हैं।

इन 16 पुलिस अधिकारियों के भी व्हाट्सएप एकाउंट बंद
थाना प्रभारियों के अलावा एसपी, डीएसपी स्तर के भी अधिकारियों ने सरकारी नंबरों पर अपना वाट्सएप एकाउंट नहीं खोल रखा है। इनमें एएसपी पूर्व जोन-1, सीएसपी कोतवाली, एसपी आजाद नगर, डीएसपी मुख्यालय का तो नंबर वाट्सएप पर एक्टिव नहीं है। इसी तरह डीएसपी महिला प्रकोष्ठ, डीएसपी यातायात, एएसपी यातायात, एसपी मु यालय, सीएसपी मुख्यालय, एसपी पश्चिम जोन-1, सराफा सीएसपी, मल्हारगंज सीएसपी, महू पुलिस एसडीओपी, एसडीओपी महू, देपालपुर डीएसपी के अलावा सांवेर के एसडीओपी का भी एकाउंट वाट्सएप पर नहीं खुला है।

Share:

Next Post

सीढ़ियां चढ़ते समय कहीं आप भी तो नहीं महसूस कर रहे ऐसा

Tue Mar 26 , 2024
मुंबई (Mumbai)। अगर सीढ़ियां चलते समय सांस फूले या पसीना या फिर थकावट आ रहा है तो सावधान हो जाना चाहिए. क्योंकि ये दिल से जुड़ी बीमारियों के संकेत हैं. ऐसे में बिना समय गंवाए तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए. एक्सपर्ट्स के मुताबिक, (According to experts) अगर थोड़ी सीढ़ियां चढ़ते ही सीने में दर्द […]