बड़ी खबर

कोरोना के चलते स्वतंत्रता दिवस कार्यक्रम में होंगे कई अहम बदलाव, तैयारियां शुरू

नई दिल्‍ली । देश भर में फैले कोरोना महामारी का असर इस बार दिल्ली में लाल किले पर होने वाले स्वतंत्रता दिवस समारोह पर भी नजर आएगा। मौजूदा संकट की इस स्थिति को देखते हुए कई अहम बदलाव इस बार के कार्यक्रम के लिए जा रहे हैं। इसके तहत इस बार स्कूली बच्चे इस समारोह का हिस्सा नहीं होंगे। पुलिस के जवान पीपीई किट में नजर आ सकते हैं। साथ ही मेहमानों की संख्या भी कम रखी जाएगी।

सूत्रों के अनुसार दोपहर में राष्ट्रपति भवन के कार्यक्रम में ‘कोरोना वॉरियर्स’ पर फोकस रहेगा और इस बार मेडिकल प्रोफेशनल्स सहित स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम कर रहे अन्य अहम लोगों को सम्मान के तौर पर आमंत्रित किया जा सकता है।

वहीं, 15 अगस्त को लाल किले पर होने वाले कार्यक्रम में केवल 250 गणमान्य लोगों को आमंत्रित करने की योजना है। आमतौर पर इस कार्यक्रम के लिए हर साल 900 से 1000 लोगों को आमंत्रित किया जाता है। अखबरा की रिपोर्ट के अनुसार भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) के एक अधिकारी ने ये जानकारी दी। हालांकि, फाइनल लिस्ट रक्षा मंत्रालय तैयार करेगी।

स्कूली बच्चे नहीं इस बार कार्यक्रम में शामिल
हर साल 15 अगस्त का एक आकर्षण हजारों स्कूली बच्चे भी होते हैं जो तिरंगे के रंग के कपड़े पहने नजर आते हैं। हालांकि, इस बार में वे इस बार के कार्यक्रम में नजर नहीं आएंगे। डीसीपी (नॉर्थ), ‘मनोज भारद्वाज ने बताया, इस साल महामारी के कारण बच्चे हिस्सा नहीं लेंगे। एनसीसी कैडेट कार्यक्रम का हिस्सा हो सकते हैं। सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा ध्यान रखा जाएगा। स्टाफ पीपीई किट में होंगे और कई जगहों पर सैनेटाइजेशन की प्रक्रिया की जाएगी।’

सूत्रों के अनुसार वहीं, राष्ट्रपति भवन में भी होने वाले सलाना कार्यक्रम में क्या कुछ इंतजाम किये जाएंगे, इसे लेकर अभी बहुत सी चीजें तय होनी बाकी हैं। इसमें कितने लोगों को आमंत्रित किया जाए, चाय पेश की जाए या नहीं, ये सबकुछ तय होना बाकी है। सूत्रों के अनुसार बहुत कुछ अगस्त के बीच में कोरोना की स्थिति पर निर्भर करेगा।

सूत्रों के मुताबिक मेडिकल पेशेवर और स्वास्थ्य क्षेत्र के विशेषक्षों को आमंत्रित किया जा सकता है। इस लिस्ट में हालांकि आमतौर पर मंत्री, नेता, अधिकारी, जज, स्वतंत्रता सेनानी, मीडिया के जाने-माने लोगों और नागरिक पुरस्कार हासिल किए लोगों को बुलाया जाता है।

सूत्रों के अनुसार राष्ट्रपति भवन समारोह लोगों की संख्या 60 से 90 के बीच सीमित रह सकती है। गणतंत्र दिवस की तरह मुगल गार्डन में कार्यक्रम आयोजित नहीं किए जा सकते क्योंकि बारिश होने की आशंका रहेगी। अगर स्टाफ द्वारा चाय दिया जाता है तो उनकी संख्या को लेकर भी फैसला होना बाकी है।

लाल किले पर शुरू हो गई तैयारियां
15 अगस्त के समारोह के लिए इस बीच लाल किले पर तैयारी शुरू हो गई है। बैठने की जगह निर्धारित करने का काम किया जा रहा है। प्रबंधन में लगे एक अधिकारी ने बताया कि इस बार कुर्सियों को इस तरह रखा जाएगा ताकि सोशल डिस्टेंसिंह का पूरा पालन हो सके। एक अगस्त को लाल किला आम लोगों के लिए बंद कर दिया जाएगा। आम तौर पर हर साल इसे 7 अगस्त को बंद किया जाता है।

एक अधिकारी के अनुसार इस बार एक अप्रत्याशित चुनौती ये भी सामने आ रही है कि काम करने वाले नहीं मिल रहे हैं। अधिकारी ने कहा कि आमतौर पर हर साल 2000 लोग इसकी तैयारी में लगते हैं लेकिन इस बार इनकी संख्या आधी है। कई लोग लॉकडाइन और मौजूदा स्थिति के कारण अपने गांव चले गए हैं।

Next Post

उज्जैन जिले में 24 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले

Fri Jul 24 , 2020
उज्जैन। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी किए गए बुलेटिन में आज 1179 लोगो की सैम्पल रिपोर्ट प्राप्त हुई जिसमें 24 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले हैं। इनमें 17 उज्जैन, 2 बडऩगर में, नागदा में 3 और महिदपुर के 2 मरीज शामिल है। जिले में 186 मरीज उपचाररत् है। जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1080 तक […]