देश

जम्मू-कश्मीर सब इंस्पेक्टर भर्ती मामला: CBI ने 30 ठिकानों पर की छापेमारी

नई दिल्ली: सीबीआई (CBI) ने जम्मू कश्मीर सब इस्पेंक्टर भर्ती घोटाले (Jammu and Kashmir Sub Inspector Recruitment Scams) में मामला दर्ज कर 30 जगहों पर छापेमारी की है. ये छापेमारी जम्मू में 28 जगहों पर और श्रीनगर और बेंगलुरु (Srinagar and Bangalore) में एक-एक ठिकानों पर की गई है. आरोप है कि 27 मार्च 2022 को हुये सब इस्पेक्टर भर्ती एग्जाम (PSI recruitment) में काफी धांधली की गई थी जिसके बाद इस परीक्षा को रद्द कर मामले की जांच सीबीआई को सौंपी गई है.

सीबीआई ने भर्ती घोटाले में 33 आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है जिसमें जम्मू कश्मीर स्टाफ सेलेक्शन बोर्ड (JKSSB) के सदस्य नारायण दत्त, बीएसएफ के डॉ करनल सिंह, सब इंस्पेक्टर की परीक्षा लेने वाली कंपनी Merittrex Service और जम्मू के अखनूर में Edumax Coaching Class चलाने वाले अविनाश गुप्ता शामिल हैं.

आरोप है कि सबसे ज्यादा Edumax Coaching के बच्चों ने ही सब इंस्पेक्टर की परीक्षा पास की थी. 27 मार्च 2022 को हुई सब इंस्पेक्टर की परीक्षा में 97 हजार छात्र शामिल हुए थे जिसमें से 1200 लड़कों ने परीक्षा को पास की थी. इस परीक्षा के नतीजे 4 जून 2022 को आए थे. लेकिन परीक्षा में धांधली की शिकायत मिलने के बाद इसे रद्द कर दिया गया था.

परीक्षा में गड़बड़ी के आरोपों के बाद उम्मीदवारों और अधिकारियों के बीच साजिश का शक जाहिर किया गया था. सब इंस्पेक्टर के पदों के लिए लिखित परीक्षा आयोजित करने में काफी गड़बड़ी पाई गई थी. आरोप के मुताबिक जम्मू, राजौरी और सांबा जिलों के चयनित उम्मीदवारों की संख्या काफी ज्यादा थी साथ ही JKSSB की ओर से नियमों का उल्लंघन करते हुए कथित तौर पर बेंगलुरु की एक प्राइवेट फर्म को पेपर सेट करने का काम सौंपा था. जम्मू कश्मीर के उप राज्यपाल ने परीक्षा में धांधली की जांच के लिए 10 जून को आदेश पारित किया था. इससे पहले पेपर लीक और एग्जाम में अनियमिताओं का खुलासा हो चुका था और बड़े लेवल पर पैसों की हेरफेर के आरोप भी लगे थे.

Share:

Next Post

यूक्रेन भारतीय छात्रों को वापस अपने देश आने की अनुमति नहीं दे रहा, जानिए वजह

Fri Aug 5 , 2022
नई दिल्ली। यूक्रेन (Ukraine) अभी भारतीय छात्रों (Indian students) को देश में वापस अपने देश आने की अनुमति नहीं देना चाहता है। भारत सरकार (Indian government) यूक्रेन से लौटे भारतीय छात्रों द्वारा पढ़ाई जारी रखने के मुद्दे पर वहां के शैक्षिक अधिकारियों (educational officers) के संपर्क में है। विदेश राज्य मंत्री मीनाक्षी लेखी ने राज्यसभा […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.