इंदौर न्यूज़ (Indore News)

कल रात दुबई से इंदौर आए 155 यात्रियों की पहली बार एयरपोर्ट पर हुई मंकीपॉक्स की स्कैनिंग

इंदौर।  दुनिया (world) में गंभीर महामारी (serious epidemic) घोषित हो चुकी मंकीपॉक्स (monkeypox) बीमारी को लेकर इंदौर में भी अलर्ट (alert) जारी किया गया है। कल रात से इंदौर (indore) के देवी अहिल्याबाई होलकर अंतरराष्ट्रीय विमानतल (devi ahilyabai holkar international airport)  पर पहली बार स्वास्थ्य विभाग (health department) द्वारा दुबई (dubai) से आए यात्रियों की मंकीपॉक्स की स्कैनिंग (scanning) शुरू की गई। अच्छी बात यह रही कि किसी भी यात्री में इस बीमारी के कोई लक्षण सामने नहीं आए हैं। अब विदेश से आने वाली हर फ्लाइट के यात्री की यह जांच की जाएगी।

विमानतल प्रबंधन के मुताबिक कुछ दिनों पहले केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा गाइड लाइन प्राप्त हुई थी, जिसमें विदेशों से भारत आने वाले यात्रियों की मंकीपॉक्स की स्कैनिंग के निर्देश दिए गए थे। इस पर जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को इसकी सूचना देते हुए जांच की व्यवस्था लागू करने का आग्रह किया गया था। बताया गया था कि इंदौर में हर शनिवार को एयर इंडिया की दुबई से फ्लाइट आती है, जो कल से ही बदले समय रात 11.45 बजे आएगी। इसे गंभीरता से लेते हुए कल से ही स्वास्थ्य विभाग ने अपनी टीम को एयरपोर्ट पर फ्लाइट के आने से पहले ही नियुक्त कर दिया था। अधिकारियों ने बताया कि फ्लाइट के आने के बाद सभी यात्रियों की स्वास्थ्य विभाग की टीम ने स्कैनिंग की। इनमें मंकीपॉक्स के लक्षणों के देखने के साथ ही यात्रियों से पूछताछ भी की गई। इस फ्लाइट से कुल 155 यात्री इंदौर आए थे। अधिकारियों ने बताया कि किसी भी यात्री में मंकीपॉक्स के कोई लक्षण नहीं पाए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने यह भी व्यवस्था की है कि अगर किसी मरीज में कोई लक्षण पाए जाते हैं तो उसे तुरंत उपचार के लिए हॉस्पिटल भेजा जाएगा और उसके सैंपल्स को जांच के लिए शासन द्वारा अधिकृत लैब भेजा जाएगा।

Share:

Next Post

राजबाड़ा, गोराकुंड के व्यापारी आज भी सुबह से मोटरें लगाकर दुकानों और तलघर से निकालते रहे पानी

Sun Aug 7 , 2022
इंदौर। बारिश के चलते कल शहर के कई क्षेत्रों में जलजमाव की स्थिति बनी थी। सबसे ज्यादा खराब हालत बड़ा गणपति से गोराकुंड और राजबाड़ा तक के हिस्से में हुई, जहां सडक़ निर्माण के कारण जगह-जगह खुदाई के कार्य चल रहे हैं। कई मल्टी के तलघरों और दुकानों में पानी भर गया था, जिसे व्यापारी […]