इंदौर न्यूज़ (Indore News)

100 करोड़ से ज्यादा खर्च होंगे सम्मेलन और समिट के महाआयोजनों पर

बदलने लगी शहर की सूरत, एयरपोर्ट से कन्वेंशन सेंटर के अलावा 37 होटलों के आसपास का पूरा एरिया भी होगा चकाचक

इंदौर। जनवरी माह में होने वाले दो बड़े आयोजनों की तैयारी शहरभर में युद्ध स्तर से चल रही है। 100 करोड़ से अधिक की राशि प्रवासी भारतीय सम्मेलन और फिर उसके साथ होने वाले ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट पर खर्च की जाएगी। एयरपोर्ट से लेकर कन्वेंशन सेंटर तक के हिस्से को तो चमकाया ही जा रही है, वहीं जिन 37 होटलों में मेहमान ठहरेंगे उसके आसपास के क्षेत्र का भी हुलिया बदला जा रहा है। लोहा मंडी के पास खाली पड़े भूखंड पर अस्थायी हेलीपेड के निर्माण का भी निर्णय लिया है। निगम, प्राधिकरण के जिम्मे शहर सौंदर्यीकरण से जुड़े कार्य हैं, तो पुलिस-प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था, आने वाले महेमानों के ठहरने के साथ-साथ अन्य सभी प्रबंध कर रहा है।

मेट्रो प्रोजेक्ट के काम में भी अब तेजी लाई जाएगी। मेट्रो कार्पोरेशन के प्रबंध संचालक मनीष सिंह ने कलेक्टर और आयुक्त के साथ चल रहे कार्यों का अवलोकन किया। श्री सिंह का कहना है कि अगले साल अगस्त-सितम्बर तक प्रायरिटी कॉरिडोर का काम पूरा हो जाएगा और इस रुट पर ट्रायल रन करेंगे। सम्मेलन और समिट के दौरान भी मेट्रो का काम बंद नहीं होगा। दूसरी तरफ इन दोनों बड़े महाआयोजनों के लिए इंदौर-भोपाल में धुआंधार तैयारी चल रही है। 8, 9, 10 को प्रवासी भारतीय सम्मेलन और फिर 11-12 को ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन होना है। सम्मेलन में चूंकि राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री आ रहे हैं, लिहाजा उनके प्रोटोकॉल के आधार पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था तो रहेगी ही, वहीं नगर निगम के जिम्मे पूरे शहर को साफ-सुथरा करने से लेकर सडक़ों के सुधार, फुटपाथ, डिवाइडर की रंगाई-पुताई, सफाई से लेकर अन्य कार्य हैं। कल भी आयुक्त प्रतिभा पाल ने बापट से ब्रिलियंट तक चल रहे कार्य का अवलोकन किया। अनुमान है कि 100 करोड़ रुपए से अधिक की राशि इन आयोजनों पर खर्च की जाएगी। हालांकि इसमें विकास कार्य से लेकर अन्य खर्च शामिल नहीं है।

Share:

Next Post

सोच के साथ बदला नजरिया, एक यात्रा राहुल के अंदर भी

Tue Nov 29 , 2022
धक्के खाते, गालियां सुनते और खुद की बिगाड़ी छवि को स्वीकार करते कांग्रेस के युवराज तेज-तेज कदमों से सडक़ें ही नहीं नाप रहे, बल्कि जनमानस को पढ़-समझ भी रहे हैं इंदौर, राजेश ज्वेल। चलते हुए जीवन की रफ्तार में एक लय है… कांग्रेस (Congress) के युवराज ने लगता है ये लय पकड़ ली है। अपनी […]