देश भोपाल मध्‍यप्रदेश

MP ने फिर बनाया एक दिन में देश में सर्वाधिक कोविड टीके लगाने का रिकॉर्ड

– प्रदेशवासियों ने फिर दिखाया वैक्सीनेशन के प्रति अपार उत्साहः मुख्यमंत्री

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) ने बुधवार को कोविड वैक्सीनेशन (Covid Vaccination) में एक बार फिर देश में सर्वाधिक टीके (maximum number of Covid vaccines) लगाने का रिकार्ड कायम किया है। दरअसल, दिसम्बर अंत तक शत-प्रतिशत पात्र नागरिकों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाने के उद्देश्य से बुधवार को टीकाकरण महाअभियान-6 संचालित किया गया। रात आठ बजे तक साढ़े 18 लाख से अधिक नागरिकों को वैक्सीनेट किया गया। यह आंकड़ा बुधवार को देशभर में सबसे अधिक रहा।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये प्रदेशवासियों में सजगता के साथ वैक्सीन के प्रति विश्वास जागा है। आज हुए टीकाकरण महाअभियान-6 में फिर एक बड़ी सफलता मिली है। एक दिन में साढ़े 18 लाख से अधिक वैक्सीन डोज लगाकर मध्यप्रदेश फिर देश में अग्रणी रहा है। इस सफलता के लिए मुख्यमंत्री चौहान ने प्रदेशवासियों और टीकाकरण महाअभियान में सहभागी बने लोगों के प्रति आभार व्यक्त करते हुए बधाई भी दी है।

उन्होंने कहा कि हमने तय किया है कि आगामी दिसम्बर माह अंत तक प्रदेश के सभी पात्र नागरिकों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाकर प्रदेश को शत-प्रतिशत वैक्सीनेटेड कर लिया जायेगा। इस महती कार्य में प्रदेश की जनता सक्रिय भागीदारी कर रही है।

मुख्यमंत्री ने पुन: रिकॉर्ड बनाने पर दी बधाई
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने वैक्सीन महाअभियान के अंतर्गत एक बार फिर देश में सर्वाधिक टीकाकरण का रिकॉर्ड बनाने के लिए प्रदेश की जागरूक जनता, स्वास्थ्य विभाग की टीम, क्राइसिस मैनेजमेंट समितियों के सदस्यों, सामाजिक संस्थाओं, कोरोना वॉलेंटियर्स, धर्म-गुरुओं, जन-प्रतिनिधियों एवं सामाजसेवियों को हार्दिक बधाई दी है।

उन्होंने कहा कि कोरोना रोधी टीकाकरण में मध्यप्रदेश लगातार रिकॉर्ड बना रहा है। वैक्सीनेशन महाअभियान में आज शाम तक मध्यप्रदेश में लगभग 18 लाख से ज्यादा पात्र नागरिकों को वैक्सीन लगाई गई, जो देश में सबसे ज्यादा है। हमें ऐसे ही प्रदेश में जन-भागीदारी का उत्कृष्ट उदाहरण प्रस्तुत करना है और प्रदेश के हर पात्र नागरिक को कोरोना रोधी टीके के दोनों डोज लगवाना सुनिश्चित करना है। मुख्यमंत्री ने कहा कि स्मरण रहे कि दिसंबर माह अंत तक हमें प्रदेश में टीकाकरण का 100 प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करना है, जो आप सबके सहयोग से ही संभव है।

टीकाकरण महाअभियान-6 में बुधवार, 24 नवम्बर को रात्रि 8 बजे तक साढ़े 18 लाख से अधिक कोविड टीके लगाकर मध्यप्रदेश देश में नम्बर-1 रहा है। महाअभियान में बुधवार को 12 हजार 412 टीकाकरण केन्द्रों पर सुबह से ही कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिये लोगों का आना-जाना लगा रहा। रात्रि 8 बजे तक 18 लाख 56 हजार से अधिक नागरिकों को वैक्सीन डोज लगाई जा चुकी थी। प्रदेश में अब तक 8 करोड़ 31 लाख 79 हजार 755 व्यक्तियों को कोरोना वैक्सीन की डोज लग चुकी है। इनमें से 5 करोड़ 8 लाख 44 हजार 816 को वैक्सीन की पहली डोज और 3 करोड़ 23 लाख 34 हजार 937 व्यक्तियों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं।

जो जहां मिला, उसको वहां लगाये टीके
प्रदेश में 12 हजार से अधिक टीकाकरण केन्द्रों के अतिरिक्त मोबाइल यूनिट्स द्वारा खेत, निर्माण कार्य स्थल और जंगल में जो जहाँ मिला, वहां पहुंचकर स्वास्थ्य विभाग की टीम ने टीके लगाने का सराहनीय कार्य किया। टीकाकरण केन्द्रों के अलावा मोबाइल टीमों ने खेतों पर काम करने वाले किसानों, निर्माण स्थल पर कार्य कर रहे श्रमिकों और सड़क मार्ग से आवागमन करने वाले मुसाफिरों को भी कोविड वैक्सीन के टीके लगाये।

जन-समुदाय को जोड़कर टीका लगवाने की रणनीति हुई सफल
कोविड टीकाकरण महाअभियान-6 में सुबह से ही टीकाकरण केन्द्रों पर वैक्सीन लगाने के लिये लोगों का जो आना शुरू हुआ, तो दिन भर जारी रहा। जन-समुदाय की भागीदारी से टीकाकरण महाअभियान-6 को व्यापक सफलता मिली है।

महाअभियान को सफल बनाने के लिये राज्य सरकार द्वारा विशेष रणनीति बनाई गई। मुख्यमंत्री चौहान के आग्रह पर इस विशेष रणनीति में जन-प्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियों, जन-अभियान परिषद सहित सामाजिक संस्थाओं और धर्म-गुरुओं ने वैक्सीनेशन के लिए प्रेरक की भूमिका निभाई। स्कूली और महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं, एनसीसी और एनएसएस के छात्र-छात्राओं ने आम नागरिकों और छोटे बच्चों के परिजन को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया। महाअभियान की विशेष रणनीति को अमली जामा पहनाने में स्वास्थ्य विभाग के साथ अन्य विभागों का भी सक्रिय सहयोग रहा।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने दी बधाई
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने कोविड टीकाकरण महाअभियान-6 की सफलता पर टीकाकरण से जुड़े अधिकारी-कर्मचारियों के कार्य की सराहना की। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग के साथ महिला-बाल विकास, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, वन, राजस्व, स्कूल शिक्षा एवं उच्च शिक्षा विभाग के ग्राम-स्तर से लेकर जिला-स्तर तक पदस्थ अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा ऐसे व्यक्तियों से व्यक्तिगत सम्पर्क किया गया, जिन्होंने अभी तक कोरोना वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज नहीं लगवाई। आज हुए समन्वित प्रयासों से लाखों की संख्या में प्रदेश के नागरिकों को कोरोना से वैक्सीन का सुरक्षा कवच प्रदान करने में सफलता मिली। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

MP: राष्ट्रीय कबीर-कालिदास समेत अन्य प्रतिष्ठित सम्मानों की घोषणा

Thu Nov 25 , 2021
भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में संस्कृति विभाग (Culture Department) ने बुधवार को वर्ष 2019 और 2020 के लिए राष्ट्रीय कबीर सम्मान, कालिदास सम्मान, अशोक कुमार सम्मान, लता मंगेशकर सम्मान, मैथिलीशरण गुप्त सम्मान, इकबाल सम्मान, शरद जोशी सम्मान, नानाजी देशमुख सम्मान, कुमार गंधर्व सम्मान और अन्य शिखर सम्मानों की घोषणा (Pinnacle Honors Announcement) की है। […]