देश भोपाल मध्‍यप्रदेश

मप्रः अब गाँव-गाँव में चलेंगी बसें, आराम से बैठकर जायेंगे यात्रीः शिवराज

– मुख्यमंत्री ने विदिशा जिले के कागपुर गाँव से शुरू की ग्रामीण परिवहन सेवा
कहा- ट्रांसपोर्टर्स को घाटे की पूर्ति के लिये राशि देगी सरकार

भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) ने कहा कि प्रदेश के गाँव-गाँव में सड़कों का जाल (Road network in the villages of the state) तो बिछ गया है, परंतु अभी ग्रामीण क्षेत्रों में आने-जाने के लिये यात्रियों को अच्छी परिवहन सेवा (Good transport service to passengers) नहीं मिल पा रही है। सरकार द्वारा आज ‘ग्रामीण परिवहन सेवा’ का शुभारंभ (Launch of ‘Rural Transport Service’) ग्राम कागपुर से किया जा रहा है। धीरे-धीरे इस सेवा का विस्तार पूरे मध्यप्रदेश में कर दिया जायेगा। अब गाँव-गाँव बसें चलेंगी और यात्री आराम से बसों में बैठकर यात्रा करेंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने गुरुवार को ग्रामीण परिवहन योजना के शुभारम्भ समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने विदिशा जिले के ग्राम कागपुर में ग्रामीण परिवहन योजना का विधिवत शुभारंभ किया। उन्होंने वाहन-चालकों को ग्रामीण परिवहन सेवा परिचालन प्रमाण-पत्र भी प्रदान किये। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर करोड़ों रुपये की लागत के विकास कार्यों का लोकार्पण/भूमि-पूजन किया। उन्होंने प्राथमिक एवं माध्यमिक कक्षा के विद्यार्थियों को मूंग वितरण किया। मुख्यमंत्रीने अंतरराष्ट्रीय स्पर्धा के लिये चयनित मध्यप्रदेश के शूटिंग बॉल खिलाड़ियों को भी सम्मानित किया।

उन्होंने कहा कि ट्रांसपोर्टर्स को छोटे रूट पर बस चलाने में घाटा होता है, जिससे वे वहाँ बसें नहीं चलाते। सरकार ने निर्णय लिया है कि उन्हें इन रूटों पर बस चलाने के लिये सरकार सहायता एवं सहूलियत देगी, जिससे वे लाभ अर्जित कर पायेंगे। यह अभूतपूर्व ग्रामीण परिवहन योजना है। सुदूर ग्रामों तक इसका विस्तार किया जायेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने तय किया है कि संजय सागर बाँध से पाइप-लाइन से पानी लाकर इस क्षेत्र के 165 गाँवों में पहुँचाया जायेगा। इस योजना पर 208 करोड़ 94 लाख व्यय होगा। डाउन स्ट्रीम के गाँवों में भी स्टॉप-डेम आदि के माध्यम से पानी पहुँचाया जायेगा। हर गाँव तक पानी पहुँचाने का प्रयास किया जायेगा। साथ ही नल-जल योजना द्वारा हर घर तक नल से पानी पहुँचाया जायेगा।

उन्होंने कहा कि सबको पक्का मकान मिलेगा। विदिशा जिले में 83 हजार 719 व्यक्तियों को आवास प्लस में प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत किये जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकार जनता को रोटी, कपड़ा, मकान, पढ़ाई-लिखाई और दवाई सुनिश्चित कर रही है। उन्होंने किसानों की आमदनी दोगुनी करने तथा स्व-सहायता समूहों की महिलाओं की आमदनी बढ़ाने की बात भी कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में शीघ्र ही पंचायत एवं स्थानीय निकाय के निर्वाचन होंगे। जिन स्थानों पर निर्विरोध निर्वाचन सम्पन्न होगा, वहाँ सरकार द्वारा विशेष सहूलियतें दी जायेंगी। ऐसी पंचायत एवं स्थानीय निकाय को सभी योजनाओं का लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि आँगनवाड़ी के संचालन में सभी सहयोग करें। किसान नि:शुल्क अनाज दें। वे स्वयं आँगनवाड़ियों के लिये ठेला लेकर निकले थे और बड़ी मात्रा में सामग्री एकत्रित हुई।

कार्यक्रम में राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत ने ग्रामीण परिवहन योजना की विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि ग्राम कागपुर से यह योजना आज पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में शुरू की गई है। छह माह बाद सारे मध्यप्रदेश में यह योजना एक साथ शुरू होगी। एक माह में 3 हजार किलोमीटर संचालन पर परिवहनकर्ता को 5 हजार रुपये की प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। नि:शक्तजन के लिये किराये में 50 प्रतिशत छूट रहेगी। महिलाओं को वाहन चलाने का प्रशिक्षण दिया जायेगा। कुशल ड्रायवर तैयार करने के लिये ‘ड्रायवर टेस्टिंग ट्रेक’ तैयार किये जाएंगे। इलेक्ट्रिक बसें भी चलाई जायेंगी।

मंत्री राजपूत ने बताया कि महिलाओं की सुरक्षा के लिये सभी टैक्सियों, बसों में पैनिक बटन लगाये जायेंगे। आगामी एक जुलाई को इसकी शुरूआत होगी। सड़क दुर्घटनाओं में घायलों को अस्पताल ले जाने वाले व्यक्तियों को 5 हजार रूपये का पुरस्कार दिया जायेगा। कार्यक्रम को सौदान सिंह, 1सांसद राजबहादुर सिंह एवं विधायक उपस्थित थे। सरस्वती-पूजन एवं कन्या-पूजन के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

मप्रः कैबिनेट को भेजेंगे बीयर पर आयात शुल्क घटाने संबंधी प्रस्ताव: गृह मंत्री डॉ. मिश्रा

Fri May 27 , 2022
– आबकारी संबंधी मंत्री-समूह की बैठक में हुआ निर्णय भोपाल। प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Home Minister Dr. Narottam Mishra) ने कहा कि मंत्री-समूह (group of ministers) ने तय किया है कि बीयर पर आयात शुल्क घटाने (import duty on beer) संबंधी सहमति पर प्रस्ताव तैयार कर केबिनेट को भेजा जायेगा। गुरुवार को […]