इंदौर न्यूज़ (Indore News)

अब अवैध कब्जों को नेस्तनाबूद करने के लिए चलेगा एकेवीएन का बुलडोजर

दो अधिकारियों पर प्राणघातक हमले के बाद प्रशासन गुस्से में
औद्योगिक शहर में अवैध शराब बेचने वालों को जड़मूल से खत्म करेगा प्रशासन
इंदौर।
औद्योगिक क्षेत्र (Industrial area) में कहां और कितने अतिक्रमण (encroachment)  हैं यह जानकारी जुटाने के लिए सर्वे करने गए दो अधिकारियों पर हुए प्राणघातक हमले के बाद मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास निगम (Madhya Pradesh Industrial Development Corporation) सहित स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों ने अतिक्रमण (encroachment) करने, अवैध शराब (illegal liquor) बिकने वाले ठिकानों को जड़मूल सहित नेस्तनाबूद (extermination) करने की ठान ली है। प्रशासनिक अधिकारियों का कहना है कि सरकारी जमीनों पर कब्जा व अवैध काम करने वाले असामाजिक तत्वों (anti-social elements) को इस बार कड़ा सबक सिखाया जाएगा।


इस बार इतनी सख्त कार्रवाई की जाएगी कि अतिक्रमण (encroachment) करने वालों के लिए यह बानगी बन जाएगी। स्थानीय प्रशासन व पुलिस बल के सहयोग से अब मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास निगम यानी एकेवीएन (AKVN) का बुलडोजर सारे अवैध ठीये सहित सभी अतिक्रमणों को नेस्तनाबूद करेगा। औद्योगिक क्षेत्र में कब्जे कर किराए पर चलाई जा रही झुग्गी-झोपड़ी, सरकारी जमीन पर बसी अवैध कालोनी (illegal colony), इसके अलावा अवैध शराब, गांजा, भांग, ड्रग्स बिकने वाले ठिकानों के साथ-साथ अवैध कब्जा (illegal occupation) कर बनाए गए स्थायी व अस्थायी निर्माणों को चिह्नित कर लिया गया है। कुल मिलाकर इस मामले में एमपीआईडीसी अबकी बार आर-पार की कठोर कार्रवाई करने जा रहा है।


सेक्टर एक से तीन तक 250 से ज्यादा अवैध कब्जे
बॉम्बे अस्पताल में इलाज करा रहे घायल सहायक यंत्री परविंदरसिंह (Assistant Engineer Parvinder Singh) ने बताया कि स्थानीय राजनीतिक व बड़े अपराधियों के संरक्षण के चलते पीथमपुर के औद्योगिक क्षेत्र के सेक्टर एक, दो और तीन में लगभग 250 से ज्यादा अवैध कब्जे और अतिक्रमण हैं। जहां-जहां अवैध कब्जे हैं उनमें से अधिकांश ठीये अवैध शराब, गांजा व सफेद पाउडर बेचने के ठिकाने बन चुके हैं। एकेवीएन यानी मध्यप्रदेश औद्योगिक विकास निगम कई बार इनके खिलाफ मुहिम चलाकर अवैध कब्जे हटा चुका है, मगर वोट बैंक की राजनीति के चलते यहां फिर से कब्जे हो जाते हैं। यहां पर अतिक्रमण की शुरुआत झुग्गी-झोपड़ी से होती है। फिर धीरे-धीरे अतिक्रमण करने वालों का स्थायी कब्जा हो जाता है।


चार हेक्टेयर सरकारी जमीन पर बस गई कालोनी
पीथमपुर औद्योगिक क्षेत्र (Pithampur Industrial Area ) में अवैध कब्जे करने वालों के हौसले कितने बुलंद हैं इसका अनुमान इसी बात लगाया जा सकता है कि एकेवीएन की लगभग चार हेक्टेयर जमीन पर पीथमपुर में लेडी डॉन के नाम से चर्चित महिला जमीला ने कब्जा कर रखा है। प्रशासनिक अधिकारियों के अनुसार जमीला ने कई लोगों से पैसे लेकर औद्योगिक जमीन पर चूने की लाइन डालकर लगभग 80 से ज्यादा प्लॉट बेच दिए हैं, जिन पर स्थायी या अस्थायी निर्माण होते जा रहे हैं।
दोनों अधिकारियों पर हमला करने वाले सोनू पाठक व राहुल मिश्रा के खिलाफ आईपीसी की धारा 307 के अलावा 7 अन्य धाराओं 353, 333, 332, 294, 506, 325, 335 के अंतर्गत मुकदमा दर्ज कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। यह औद्योगिक क्षेत्र में सालों से अवैध कब्जा कर अवैध शराब बेचने का काम करते हैं।
तरुणेंद्रसिंह बघेल , सीएसपी, पुलिस प्रशासन, पीथमपुर (धार)

Share:

Next Post

विवाद: वीर दास ही नहीं इन सितारों की बातों पर भी मच चुका है बवाल, केस दर्ज होने से ट्रोलिंग के हुए शिकार

Thu Nov 18 , 2021
डेस्क। बॉलीवुड अभिनेता और स्टैंडअप कॉमेडियन वीर दास इन दिनों अपनी कविता को लेकर जबरदस्त आलोचना का शिकार हो रहे हैं। दरअसल वीर दास ने कहा था कि, ‘मैं एक ऐसे भारत से आता हूं, जहां दिन में औरतों की पूजा होती है और रात में उनके साथ दुष्कर्म होता है। हालांकि, अपने इस बयान […]