बड़ी खबर

मिशन 2024 के लिए एकजुट हो रहा विपक्ष, पवार की सलाह पर उद्धव-ममता से मिल सकते हैं राहुल

नई दिल्‍ली (New Delhi) । 2024 के लिए देश में विपक्षी दलों को एक करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। सूत्रों ने कहा है कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) दिल्ली में एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) से मुलाकात के बाद मुंबई जाकर उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) से मिल सकते हैं। दोनों नेताओं की मुलाकात मातोश्री में हो सकती है। बताया जा रहा है कि पवार ने ही राहुल को मुंबई जाकर उद्धव से मिलने की सलाह दी है। बैठक के दौरान, पवार ने राहुल को सभी विपक्षी दलों के नेताओं के पास जाकर उनसे मिलने की सलाह दी है। इसमें ममता बनर्जी का नाम भी शामिल है, जिन्होंने लंबे वक्त से खुद को कांग्रेस से दूरी बनाकर रखी है।

उद्धव खेमे के नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि देश में विपक्षी दलों को एक करने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 2024 का चुनाव सभी विपक्षी दल मिलकर लड़ेंगे। कांग्रेस एक राष्ट्रीय पार्टी है, हम एक संयुक्त मोर्चा बनाने के लिए विपक्षी पार्टी के नेताओं से मिलने की पार्टी की पहल का स्वागत करते हैं। राहुल गांधी विपक्षी नेताओं से मिल रहे हैं… अगले हफ्ते सोमवार की शाम को कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपालजी उद्धव से मुलाकात करेंगे और उस बैठक के दौरान (राहुल-उद्धव बैठक पर) फैसला लिया जाएगा। बैठक के दौरान तमाम मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। हम (एमवीए) महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से 40 पर जीत हासिल करेंगे।”


एकजुट हो रहा विपक्ष!
उन्होंने कहा कि 2024 में देश में सत्ता परिवर्तन होगा और विपक्ष को एकजुट करना इस दिशा में पहला कदम है। भाजपा विपक्ष को एकजुट होने से रोकने की साजिश कर रही है, लेकिन उनकी कोशिश नाकाम कर दी जाएगी। 2024 में पूरा विपक्ष एकजुट होगा और चुनाव के बाद देश में सत्ता परिवर्तन होगा। विपक्ष के बीच सकारात्मक माहौल बनाने के लिए विपक्षी दलों की बैठक हो रही है। शिवसेना (यूबीटी) देश में मजबूत विपक्ष और महाराष्ट्र में मजबूत एमवीए के लिए है।

ममता को साथ लाएगी कांग्रेस!
राउत ने यह भी कहा कि एमवीए महाराष्ट्र की 48 लोकसभा सीटों में से 40 पर जीत हासिल करेगी और कहा कि, “खड़गे और उद्धव ने भी फोन पर बात की है, वे जल्द ही तय करेंगे कि राहुल गांधी मुंबई कब आएंगे।” खड़गे और राहुल के साथ बैठक के बाद, पवार ने मीडिया से कहा था कि विपक्षी दलों को एकजुट होना चाहिए और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी सहित उन सभी तक पहुंचने की कवायद की जानी चाहिए।

उधर, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले ने हालांकि कहा कि उद्धव से मिलने का अभी कोई कार्यक्रम तय नहीं है लेकिन विपक्ष को एकजुट करने की प्रक्रिया जारी है. उन्होंने कहा, ‘विपक्षी एकता को मजबूत करने के लिए राहुल गांधी मुंबई आएंगे। विपक्षी मोर्चे को मजबूत करने की प्रक्रिया चल रही है.. हालांकि राहुल गांधी का मुंबई आना तय है, लेकिन हमें अभी तक उनके दौरे का कार्यक्रम नहीं मिला है।

Share:

Next Post

Rajasthan: गहलोत-पायलट विवाद को सुलझाने में जुटी कांग्रेस, प्रियंका ने की राहुल गांधी से मुलाकात

Sat Apr 15 , 2023
नई दिल्ली (New Delhi)। राजस्थान (Rajasthan) में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Chief Minister Ashok Gehlot) और पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Former Deputy Chief Minister Sachin Pilot) के बीच विवाद का कांग्रेस स्थायी हल निकालने की कोशिश में है। पार्टी जल्दबाजी में कोई फैसला करने के बजाए प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले (before assembly elections) इस […]