इंदौर न्यूज़ (Indore News)

एक लाख लाड़ली बहनों में से 11 हजार सेना में शामिल; विशेष ड्रेसकोड होगा, लाल साड़ी, हाथ में डंडा और लहरिया पगड़ी

इन्दौर। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) द्वारा लाड़ली बहना योजना (Ladli Behna Yojana) की दूसरी किस्त इंदौर (Indore) से जारी करने के लिए महासम्मेलन आयोजित किया जा रहा है। दो दिन बाद आयोजित सम्मेलन में एक लाख लाड़ली बहनों में से 11 हजार को सेना में शामिल किया गया है। लाड़ली सेना (Ladli Sena) की सैनिक जहां लाल साड़ी व लहरिया पगड़ी के विशेष ड्रेसकोड (special dress code) में नजर आएंगी, वहीं हाथ में डंडा लेकर अनुशासन का भी प्रचार करेंगी।

महिला एवं बाल विकास विभाग ने जिले के 609 गांवों और 213 वार्डों में 822 लाड़ली लक्ष्मी सेना का गठन किया है। यह महिलाएं जहां गांव-गांव में जाकर सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार करने के लिए तैयार की गई हैं, वहीं महासम्मेलन में अनुशासन का प्रचार भी करेंगी। मुख्यमंत्री के रोड शो के दौरान यह महिलाएं लाड़ली बहनों को अनुशासन में रखने और सशक्तिकरण का परिचय देते हुए चलेंगी। सुपर कॉरिडोर पर होने वाले आयोजन को लेकर प्रशासन स्तर पर तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। वहीं महिला एवं बाल विकास विभाग ने लाड़ली बहना सेना को उक्त आयोजन के लिए विशेष तरह की ट्रेनिंग दी है। प्रत्येक सेना में 21 से अधिक महिलाओं का सिलेक्शन किया गया है, जिसमें लाड़ली सेना प्रभारी व लाड़ली बहना सहसेना का भी चयन किया जा चुका है। 23 से 60 वर्ष तक की आयु की महिलाएं अब शासन की प्रहरी बनकर काम करेंगी।


सीएम दिलाएंगे शपथ

अधिकारियों के अनुसार रोड शो के बाद मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान जहां कत्र्तव्यपथ पर चलने की शपथ दिलाएंगे, वहीं सेना में शामिल महिला हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलाने के लिए संबोधित करेंगे। नागरिकों को सजग बनाने, सामाजिक कुरीतियों को खत्म करने, महिला अत्याचार को रोकने व दहेज के लिए बलि चढ़ रही महिलाओं के हित में खड़े रहने के लिए शपथ दिलाई जाएगी।

बसों में भरकर जाएगा काफिला 

महिला एवं बाल विकास विभाग अधिकारी रामनिवास बुधोलिया के अनुसार सेना के रूप में जहां 1500 से कम महिलाएं वार्ड या गांवों में हैं, वहां 11 और जहां 1500 से अधिक बहना हैं, वहां से 21 महिलाओं का चयन किया गया है। आयोजन में एक लाख महिलाओं को गांव-गांव और मोहल्ले- मोहल्ले से बस व अन्य वाहनों के माध्यम से सम्मेलन स्थल तक ले जाया जाएगा। इन वाहनों में भाजपा के महिला मोर्चा की एक-एक कार्यकर्ता सवार रहेगी, जो पूरे रास्ते बहनाओं का खास ख्याल रखेंगी। महिला एवं बाल विकास विभाग के अनुसार 4 लाख 39 हजार महिलाओं का लाड़ली बहना के लिए चयन किया गया है, लेकिन अब भी 7 हजार से अधिक महिलाओं की डीबीटी प्रक्रिया बाकी है, जिसके कारण इन महिलाओं को एक हजार रुपए की राशि नहीं मिल सकी है।

Share:

Next Post

बालटाल के हैलीपेड पर फंसे इंदौर के 30 यात्री, गिरने लगे पहाड़; कई पहलगाम के मार्ग पर भी फंसे

Sat Jul 8 , 2023
इंदौर। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) में हो रही भारी बारिश (Barish) के कारण अमरनाथ यात्रा (amarnath yatra) रोक दी गई है। इसमें इंदौर (indore) से गए श्रद्धालु भी फंस गए हैं। पहलगाम के रास्ते जो लोग गए थे उन्हें वापस बेसकैंप में पहुंचा दिया गया है तो हेलिकाप्टर से जाने वाले लोगों को भी रोक […]