खेल

पाकिस्तानी तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने किया जल्दी संन्यास लेने का खुलासा

 

लाहौर। पाकिस्तान (Pakistan) के पूर्व तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) का कहना है कि वह इस बात का खुलासा नहीं करना चाहते कि उन्होंने किन हालातों में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट (International cricket) से संन्यास लिया, क्योंकि इसके पीछे की दास्तां भयावह है. आमिर अपने करियर के शुरुआती दौर में स्पॉट फिक्सिंग (spot fixing) के आरोपों के चलते पांच वर्षो का प्रतिबंध झेल चुके थे. आमिर ने 2019 में टेस्ट क्रिकेट (Test Cricket) से संन्यास (Retirement) लिया था जबकि पिछले साल अगस्त में उन्होंने क्रिकेट के सभी प्रारूप को अलविदा कह दिया था. आमिर ने कहा, अपने देश के लिए जिस खेल को खेलते हैं उससे संन्यास लेना आसान नहीं होता है. मैंने इस फैसले को लेने से पहले काफी सोचा. मैंने अपने करीबियों से इस बारे में चर्चा और तब फैसले पर पहुंचा था.

उन्होंने कहा, अगर मैं विस्तृत जानकारी में जाऊं और उन चैप्टर को दोबारा खोलूं तो यह काफी भयावह हैं. मैं उम्मीद करता हूं कि हमारे खिलाड़ी, विशेषकर युवा भविष्य में इन चीजों का सामना नहीं करेंगे जो मुझे करना पड़ा. मैं नहीं चाहता कि हमारे युवा खिलाड़ी अपने करियर का बलिदान दें जैसा मैंने किया. आमिर के आलोचकों का कहना है कि वह देश के बजाए फ्रेंचाइजी लीग में खेलना पसंद करते हैं, इस पर उन्होंने कहा कि उन्हें वैसा सम्मान नहीं मिला जिसके वह हकदार थे. आमिर ने कहा, मेरे लिए सम्मान ज्यादा मायने रखता है और मुझे लगता है कि मुझे वो सम्मान नहीं मिला जिसका मैं हकदार था और इसलिए मैंने संन्यास लेने का फैसला किया.

बाबर आजम ने बनाया रिकॉर्ड
बाबर आजम (Babar Azam) की कप्तानी में पाकिस्तान ने दक्षिण अफ्रीका (South Africa) के खिलाफ दो टेस्ट जीते थे जबकि जिम्बाब्वे के खिलाफ भी उसने दो टेस्ट मुकाबले जीते. वनडे में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज बाबर के पास इस फॉर्म को आगे भी बढ़ाने का मौका रहेगा. पाकिस्तान को वेस्टइंडीज और बांग्लादेश के खिलाफ अगस्त व सितंबर में दो-दो टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है. पाकिस्तान ने इस साल दक्षिण अफ्रीका को घरेलू सीरीज में टेस्ट और टी20 में मात दी थी. यह छठी बार है जब पाकिस्तान ने छह या उससे अधिक सीरीज जीती है. पाकिस्तान ने 2011-12 में लगातार 13 सीरीज, 2015-16 में नौ, 2001-02 में आठ, 1993-94 में छह और 2017-18 छह सीरीज जीती थी.

जिम्बॉब्वे का उसके घर में किया क्लीन स्वीप
मैच में नाबाद दोहरा शतक लगाने वाले पाकिस्तान के बल्लेबाज आबिद अली को मैन आफ द मैच का पुरस्कार मिला. फोलोऑन का सामना कर रही जिम्बाब्वे की टीम दूसरी पारी में 231 रन पर आलआउट हो गई. रेगिस चकाब्वा ने 137 गेंदों पर 13 चौकों और दो छक्कों की मदद से 80, कप्तान ब्रेंडन टेलर ने 49, केविन कासुजा ने 22 और मिल्टन शुम्बा ने 16 रन बनाए. पाकिस्तान ने अपनी पहली पारी आठ विकेट पर 510 रन पर घोषित की थी और उसने जिम्बाब्वे की पहली पारी 132 पर ढेर कर 378 रन की बढ़त ली थी तथा उसे फोलोऑन खेलाया.

Next Post

अंतिम संस्कार होने से रोका, कहा- धुएं से फैल जाएगा कोरोना

Wed May 12 , 2021
जोधपुर। कोरोना(Corona) काल में लोगों की मौत (Deaths) तो बड़ी संख्या में होती दिख ही रही है, इसके अलावा इंसानियत भी हर मोड़ पर शर्मसार हो रही है. महामारी (Pandemic) का डर कह लीजिए या फिर सिर्फ किसी को परेशान करने का एक बहाना, कुछ लोग अब श्मशान घाट में अंतिम संस्कार (Funeral) भी नहीं […]