खेल

पूजा वस्त्रकार ने 8वें नंबर पर बैटिंग करते हुए बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड

नई दिल्ली: पूजा वस्त्राकर (Pooja Vastrakar) आठवें या इससे नीचे के नंबर पर सबसे अधिक फिफ्टी लगाने वालीं महिला क्रिकेटर बन गई हैं. 22 साल की पूजा ने गुरुवार को श्रीलंका (श्रीलंका ) के खिलाफ तब अर्धशतकीय पारी खेली, जब भारतीय महिला टीम (Indian women’s team) जल्दी-जल्दी 6 विकेट गंवाकर संकट में थी. पूजा वस्त्राकर (Pooja Vastrakar) ने भारत को ना सिर्फ संभाला, बल्कि अपनी दमदार बैटिंग की बदौलत टीम का स्कोर 255/9 तक पहुंचा दिया. वे 65 गेंद पर 56 रन बनाकर नाबाद रहीं.

यह पूजा वस्त्राकर (Pooja Vastrakar) का आठवें नंबर पर दूसरा अर्धशतक है. वे नौवें नंबर पर भी एक अर्धशतक लगा चुकी हैं. इस तरह उनके 8वें नंबर पर या इससे निचले नंबर को मिलाकर कुल 3 अर्धशतक हो गए हैं, जो विश्व रिकॉर्ड भी है. इससे पहले यह रिकॉर्ड न्यूजीलैंड की निकोल ब्राउन के नाम था. निकोल ने आठवें नंबर पर दो अर्धशतक लगाए हैं.

भारत और श्रीलंका की महिला टीमों के बीच गुरुवार को तीसरा वनडे मैच खेला गया. पहले दो मैच जीत चुकी भारतीय टीम की शुरुआत खराब रही. ओपनर स्मृति मंधाना 6 रन बनाकर पैवेलियन लौट गईं. शेफाली वर्मा (49) और यस्तिका भाटिया (30) ने दूसरे विकेट के लिए 59 रन की साझेदारी कर टीम को संभाला. यस्तिका के आउट होने पर जब यह जोड़ी टूटी, तब भारत का स्कोर 89 रन था. इसके बाद भारत ने जल्दी-जल्दी विकेट गंवाए और देखते ही देखते टीम का स्केर 6 विकेट पर 124 रन हो गया.

छठा विकेट गिरने पर पूजा वस्त्रकार बैटिंग के लिए आईं. उनका साथ देने के लिए कप्तान हरमनप्रीत कौर पहले से क्रीज पर थीं. इन दोनों की जोड़ी ने श्रीलंकाई गेंदबाजों पर पलटवार करते हुए तेजी से रन बनाए. हरमन और पूजा ने 97 रन की साझेदारी की. यह साझेदारी हरमन के आउट होने से टूटी. उन्होंने 75 रन बनाए. पूजा वस्त्राकर दूसरे छोर पर अंत तक डटी रहीं. उन्होंने मेघना सिंह (8), रेणुका सिंह (3) और राजेश्वरी गायकवाड़ (3) के साथ मिलकर टीम को 250 के पार

घरेलू क्रिकेट में मध्य प्रदेश के लिए खेलने वालीं पूजा वस्त्राकर छोटे से शहर शहडोल से आती हैं. पूजा ने अपनी तेज गेंदबाजी की बदौलत महज 18 साल की उम्र में इंटरनेशनल क्रिकेट में डेब्यू किया. इसके बाद उनकी बैटिंग में लगातार सुधार हो रहा है. अब टीम इंडिया उन्हें बतौर ऑलराउंडर इस्तेमाल करती है. पूजा को अक्सर रनरेट बढ़ाने के लिए बैटिंग में प्रमोट भी किया जाता है. पूजा 4 साल के करियर में 2 टेस्ट, 23 वनडे और 27 टी20 इंटरनेशनल मैच खेल चुकी हैं.

Share:

Next Post

बेटे माधवराव सिंधिया के खिलाफ आमरण अनशन पर क्यों बैठी थीं राजमाता

Thu Jul 7 , 2022
भोपाल: ग्वालियर के सिंधिया परिवार (Scindia family of Gwalior) की समृद्धि किसी से छिपी नहीं है। संपत्ति के लिए सिंधिया परिवार में चल रहा विवाद भी वर्षों पुराना है। इसकी शुरुआत राजमाता विजयाराजे सिंधिया (Rajmata Vijayaraje Scindia) के जीते जी ही हो गई थी। राजमाता और उनके बेटे माधवराव सिंधिया (Madhavrao Scindia) के बीच संपत्ति […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.