बड़ी खबर राजनीति

राहुल गांधी ने कहा, देश की राजनीति के लिए उत्तरप्रदेश अहम, रायबरेली से हमारा पुराना रिश्ता


नई दिल्ली। कांग्रेस नेता (Congress leader) राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू (Interview) में बताया कि उनके लिए वायनाड (Wayanad) सीट छोड़ने का फैसला लेना कितना मुश्किल था. साथ ही राहुल गांधी ने बताया कि उन्होंने ऐसा क्यों किया. राहुल गांधी ने बताया कि रायबरेली (Rae Bareli) सीट छोड़ने का फैसला बहुत ही मुश्किल था, क्योंकि उनका रायबरेली और वायनाड दोनों ही जगहों से इमोशनल रिश्ता है. रायबरेली से हमारा पुराना रिश्ता है. उन्होंने देश की राजनीति के लिए उत्तर प्रदेश को अहम बताया है.


‘वायनाड से सांसद रहने का अनुभव अच्छा रहा’
राहुल गांधी ने बताया कि वह पिछले पांच सालों से वायनाड लोकसभा सीट से सांसद हैं. यहां से सांसद रहने का अनुभव अच्छा रहा. वायनाड की जनता से उनको बहुत प्यार मिला. मगर कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि मुझे रायबरेली से सांसद रहना चाहिए.

रायबरेली से सांसद बने रहने का क्यों लिया फैसला?
कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने इस सवाल के जवाब में बताया कि देश में जो हालात हैं, उनको देखकर लगता है कि मैन लड़ाई उत्तर प्रदेश में है. रायबरेली से कांग्रेस का पुराना रिश्ता है, इसलिए रायबरेली से सांसद बने रहने का फैसला लिया. अब वायनाड से प्रियंका गांधी चुनाव लड़ेंगी.

प्रियंका गांधी का ये पहला चुनाव होगा, कैसे देखते हैं?
राहुल गांधी ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि प्रियंका गांधी वायनाड से चुनाव लड़ेंगी. मैं भी प्रियंका के सपोर्ट के लिए वायनाड जाऊंगा. वायनाड के लोगों से हमने जो वादे किए हैं, हम उनको जरूर पूरा करेंगे. मुझे गर्व है कि मेरी बहन प्रियंका वायनाड से चुनाव लड़ेगी.’ राहुल गांधी ने कहा कि उनको वायनाड के लोगों से बहुत प्यारा मिला है. वायनाड उनके लिए हमेशा से ही दूसरा घर है.

यूपी में जीतीं 6 सीटें, जनता को क्या कहेंगे?
यूपी में कांग्रेस के अच्छे प्रदर्शन को लेकर राहुल गांधी ने कहा कि यूपी के नतीजों ने देश की राजनीति बदली है. नफरत की राजनीति का जवाब यूपी की जनता ने दिया है. बीजेपी का अयोध्या में हारना एक सीधा संदेश है कि बीजेपी ने जो नफरत की राजनीति फैलाई है, उसे स्वीकारा नहीं जाएगा. यूपी में चुनाव आ रहे हैं, ऐसे में अब लड़ाई उत्तर प्रदेश में होगी. उन्होंने आगामी

यूपी विधानसभा चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करने की उम्मीद जताई
गौरतलब है कि आम चुनाव में राहुल गांधी ने केरल की वायनाड और उत्तर प्रदेश के रायबरेली संसदीय क्षेत्र से धमाकेदार जीत दर्ज की थी. नियमों के अनुसार, राहुल गांधी सिर्फ एक ही सीट से सांसद रह सकते हैं. ऐसे में उन्होंने वायनाड लोकसभी सीट को छोड़ने का फैसला लिया है. अब इस सीट पर होने वाले उपचुनाव में राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी चुनाव लड़ेंगी.

Share:

Next Post

ये बड़ा ग्रह बना रहा भद्र पंच महापुरुष का योग, इन 3 राशियों के भाग्य को मिलेगी नई दिशा

Tue Jun 18 , 2024
नई दिल्‍ली(New Delhi) । ज्योतिष शास्त्र(Astrology) के अनुसार, हर ग्रह एक निश्चित अवधि(The planet has a certain period) में अपनी स्थिति में बदलाव करता है। ग्रहों की राशि (zodiac signs of planets)या अवस्था में परिवर्तन(change in state) से कई शुभ-अशुभ योगों का निर्माण होता है। 14 जून की देर रात बुध ने स्वराशि मिथुन में […]