इंदौर देश

महंगा हुआ रावण… 50 हजार लीटर सैनेटाइजर भी बरसाएगा


इंदौर। महंगाई (inflation) का असर रावण (Ravan) पर भी पड़ा है। कोरोना संक्रमण (corona transition) के चलते और गाइडलाइन (guideline) के चलते हालांकि बड़े आयोजन नहीं हो रहे हैं। बावजूद इसके कई संस्थाओं, टाउनशिप और ग्रुप द्वारा रावण तैयार करवाए गए हैं। 50 हजार लीटर सैनेटाइजर (Sanatizer) की बारिश करने वाले रावण का निर्माण जहां उषागंज एकता सहयोग समिति द्वारा किया गया है, जहां पर 15 अक्टूबर को रात 8 बजे उषागंज हाईस्कूल मैदान (Ushaganj High school ground) पर इस रावण का दहन किया जाएगा, तो 21 फीट के रावण का इंजेक्शन से दहन होगा, वहीं रेडिमेड रावण (Redimed ravan) भी हर बार की तरह बनाए जा रहे हैं। हालांकि कीमत बढ़ गई है, क्योंकि रावण के पुतले बनाने में इस्तेमाल होने वाली सामग्री से लेकर पटाखों (crackers) के भाव भी ऊंचे हैं, जिसके चलते रावण का कद तो घट गया, मगर कीमत ऊंची हो गई।

इंदौर (Indore) में अजब-गजब रावणों का भी निर्माण और दहन दशहरे पर होता रहा है। इसमें उषागंज हिन्दू-मुस्लिम एकता समिति (Ushaganj Hindu-Muslim Ekta Samiti) सदैव अव्वल रही है, जो नित नए तरीके के रावणों का निर्माण करती रही है। एकता सहयोग समिति के अध्यक्ष कपिल तिवारी, संयोजक किशोर मीणा, आयोजक अतुल गोयल, जीतू मीणा, निर्माणकर्ता मो. आजम खान, शम्मी मीणा, लव-कुश, शिवम, सचिन, संदीप और जावेद भाई (President Kapil Tiwari, Convenor Kishore Meena, Organizer Atul Goyal, Jeetu Meena, Producer Mohd. Azam Khan, Shammi Meena, Luv-Kush, Shivam, Sachin, Sandeep and Javed Bhai) ने बताया कि इस बार भी समिति द्वारा रावण दहन कार्यक्रम 15 अक्टूबर को रात 8 बजे उषागंज हाईस्कूल मैदान पर किया जाएगा। इस बार का रावण कोरोना जैसी महामारी को विदाई देने हेतु 50 हजार लीटर सैनेटाइजर की बारिश करेगा। पूर्व में भी समिति द्वारा कई तरह के रावण बनाए जा चुके हैं, जो देशभर में चर्चित भी रहे। समिति के आयोजक किशोर मीणा ने बताया कि यह रावण भी पूरी तरह से वाटरप्रूफ बनाया गया है, ताकि बारिश में भी इसके दहन में कोई परेशानी ना हो। 100 फीट दूर तक सैनेटाइजर की बौछार करेगा और ये चलित रावण 40 फीट आगे-पीछे भी होगा, जिसके लिए लोहे की ट्राली और चार बैरिंग का इस्तेमाल किया गयाा है। सैनेटाइजर की बौछार के लिए मैदान में अलग से लाइन डाली गई है, जिसे टंकी से जोड़ा गया है। इसी तरह एक अनूठा रावण 21 फीट ऊंचा संस्था सूर्य मंच द्वारा बनाया जा रहा है। इंजेक्शन (injection) रूपी मशाल से इस रावण का दहन किया जाएगा, जो इस बात का प्रतीक होगा कि कोरोना जैसी सामाजिक बुराई, जिसने कई लोगों का जीवन भी समाप्त कर दिया, लिहाजा वैक्सीन रूपी मशाल से उसका दहन होगा।

पूर्व राज्यमंत्री महामंडलेश्वर राधे-राधे बाबा (Former MoS Mahamandaleshwar Radhe-Radhe Baba) द्वारा कोरोना रूपी रावण के पुतले का दहन किया जाएगा। फेसबुक पेज (Facebook Page) पर भी इसका दहन लाइव दिखाया जाएगा, ताकि कार्यक्रम स्थल पर अधिक भीड़ न हो। मुंबई के कलाकारों द्वारा धार्मिक नृत्यों की प्रस्तुति और फिर रावण दहन पश्चात 151 किलो गिल्की के भजियों का प्रसाद वितरण भी होगा। इस रावण को तैयार करवाने वाले संस्था के संयोजक सन्नी पठारे ने बताया कि निर्माण में जो लगभग 1 लाख रुपए का खर्च हुआ है, वह राशि संस्था के 25 सदस्यों ने मिलकर वहन की है। श्रीकृष्ण टाकीज के सामने रात 9 बजे दशहरे के दिन इस रावण का दहन होगा।

Share:

Next Post

ई एफआईआर हुई कामयाब, 40 प्रकरणों में से ज्यादातर मामलों में पुलिस को मिली सफलता

Wed Oct 13 , 2021
  इंदौर। प्रदेश में एक माह पहले ई-एफआईआर (E-FIR) की शुरुआत हुई थी। अब तक इंदौर (Indore)  में 40 ई-एफआईआर (E-FIR) हुई हैं और ज्यादातर में लोगों को न्याय मिल गया है। बताते हैं कि ऐसे ही मामलों में एफआईआर (FIR) दर्ज की जा रही है, जिनमें आसानी से आरोपी मिल जाएं। 12 अगस्त को […]