देश भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

मध्य प्रदेश में बिजली बिल बकाएदारों की सूची में राजस्व मंत्री अव्वल

भोपाल। मध्य प्रदेश के राजस्व और परिवहन मंत्री (Minister of Revenue and Transport) गोविंद सिंह राजपूत (Govind Singh Rajput) राज्य बिजली विभाग द्वारा जारी किए गए बिजली के बिल की बकाएदारों की सूची में सबसे ऊपर है। सूची में सिर्फ ये ही नहीं बल्कि उनके बड़े भाई गुलाब सिंह राजपूत, कलेक्टर का बंगला, एसपी कार्यालय, कैंट के सीईओ सहित डॉक्टर, अभिनेता, सामाजिक कार्यकर्ता और कॉलोनाइजर का नाम भी शामिल है।

बिजली विभाग (Electricity Department) के अनुसार राजपूत ने सूची में टॉप किया है, उनके खिलाफ 84,388 रुपये बकाया है। इस लिस्ट में उनके भाई गुलाब सिंह पांचवें स्थान पर हैं। उसके खिलाफ 34,667 रुपये की राशि बकाया है। वही, विद्युत विभाग के अनुसार कलेक्टर के बंगले पर 11,445 रुपये, कैंट के सीईओ पर 24,700 रुपये, वकीलचंद गुप्ता को 40,209 रुपये, कार्यालय के पुलिस अधीक्षक (एसपी) पर 23,428 रुपये, सूर्यांश सुशील का बकाया है। डिफाल्टरों की सूची में तिवारी के पास 27,073 रुपये और एसएएफ (SAF) 16 बटालियन के कार्यालय को 18,650 रुपये देने हैं।


बिजली विभाग ने भी बकाएदारों को एसएमएस (SMS) के जरिए बिल भरने की सूचना दी है। साथ ही बकाया राशि जल्द से जल्द जमा करने का अनुरोध किया गया है। बिल के भुगतान न होने पर विभाग कनेक्शन काट सकता है।

इस बीच, ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह ने बताया कि उपभोक्ताओं से अपील की कि वे अपने बिल तुरंत जमा करें। “मैं उन उपभोक्ताओं से अपील करता हूं जो जनहित में तुरंत अपने बिलों का भुगतान करने में सक्षम हैं और यदि वे नहीं करते हैं, तो निश्चित रूप से सरकार अपना काम करेगी। जो सक्षम हैं और यदि वे अपने बिलों का भुगतान नहीं करते हैं, तो उनके बिजली कनेक्शन कोई भी कानून से ऊपर नहीं है, चाहे वह मैं ऊर्जा मंत्री हूं। कानून सबके लिए समान हैं।”

Share:

Next Post

अब पाकिस्तान से आए शरणार्थियों को मिलेगा संपत्ति का मालिकाना हक, डीडीए ने जारी की सूचना

Thu Dec 23 , 2021
नई दिल्ली। मुल्क का बंटवारा होने के बाद पाकिस्तान(Pakistan) से हिंदुस्तान (India) आए लोगों की 70 साल पुरानी समस्या हल होने जा रही है। दिल्ली विकास प्राधिकरण Delhi Development Authority (DDA) की ओर से 1950 से 1960 के दौरान पाकिस्तान से आए शरणार्थियों (refugees from pakistan) को उनकी संपत्तियों का मालिकाना हक(ownership of properties) दिया […]