बड़ी खबर

रूस ने तेज किए यूक्रेन पर हमले, इन पांच रास्तों से बॉर्डर क्रॉस कर सकते हैं भारतीय छात्र

नई दिल्ली: रूस ने यूक्रेन पर हमले तेज कर दिए हैं. अब रूसी मिसाइलें सिर्फ यूक्रेन आर्मी पर नहीं बल्कि वहां के आम लोगों पर भी बरस रही हैं. यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने रूसी मिसाइल हमलों के बीच भारतीय नागरिकों को जल्द से जल्द देश छोड़ने के तीन दिन बाद वहां से बाहर निकलने के लिए पांच विकल्पों का सुझाव दिया है. बॉर्डर क्रॉस करने के लिए भारतीय नागरिकों के पास वैध पासपोर्ट, यूक्रेनी निवासी परमिट, स्टूडेंट कार्ड या छात्र प्रमाण पत्र और फ्लाइट का एक टिकट होना जरूरी है.

क्रीमिया ब्रिज पर हमले के बाद रूस-यूक्रेन युद्ध काफी तेज हो गया है. रूसी मिसाइलें यूक्रेन के कई शहरों को तबाह कर रही हैं. यहां पर हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं. भारतीय छात्रों की अच्छी खासी संख्या वहां पर है. दूतावास की ओर से सबसे पहले लोगों को वहां की यात्रा न करने की अपील की गई थी. तीन दिन पहले भारतीय एंबेसी ने जल्द से जल्द देश छोड़ने को कहा था. एबेंसी ने पांच विकल्प बताए हैं जहां से भारतीय स्वदेश वापस लौट सकते हैं. इसमें से पहला यूक्रेन-हंगरी सीमा दूसरा यूक्रेन-स्लोवाकिया सीमा, तीसरा यूक्रेन-मोल्दोवा सीमा चौथा यूक्रेन-पोलैंड सीमा और पांचवा यूक्रेन-रोमानिया सीमा. इन मार्गों से बॉर्डर क्रॉस कर सकते हैं लेकिन इसके आपके पास पूरे दस्तावेज होने चाहिए.

स्लोवाकिया बॉर्डर से निकलने के लिए वीजा जरूरी
दूतावास ने एक बयान में कहा कि यूक्रेन-हंगरी सीमा के लिए चौकियां जकारपथिया क्षेत्र में स्थित हैं और ट्रेन से चोप शहर की यात्रा करना है. यूक्रेन-स्लोवाकिया सीमा से निकलने के लिए भारतीय नागरिकों को सीमा चेक पोस्ट पर एक वैध शेंगेन/स्लोवाक वीजा प्राप्त करने की आवश्यकता होगी. दूतावास ने अपने विस्तृत बयान में इन सीमावर्ती क्षेत्रों में सभी चौकियों के नाम और स्थान साझा किए हैं और सीमा पार करने के संबंध में सहायता के लिए उपर्युक्त देशों के दूतावासों के संपर्क नंबर भी साझा किए हैं.

रूस ने यूक्रेन के बिजली सयंत्रों पर किया हमला
रूस-यूक्रेन युद्ध एक नए चरण में प्रवेश कर गया है. मॉस्को ने यूक्रेन की बिजली संयंत्रों पर मिसाइल और ड्रोन हमले किए हैं. इसके कारण यहां पर बिजली का भयंकर संकट पैदा हो गया है. यहां पर ठंडक बढ़ती जा रही है और बिजली की कमी के कारण लोग ठंड में ठिठुर रहे हैं. रूस ने यूरोपीय देशों को गैस की सप्लाई रोक दी है या बिल्कुल न के बराबर ही कर रहा है. इसके कारण पश्चिमी देशों में बिजली का अकाल पड़ गया है. यहां पर बिजली की कीमतें भी आसमान छू रही हैं. यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन ने कहा कि रूस ने 36 मिसाइल दागी जिनमें अधिकतर को गिरा दिया गया.उन्होंने कहा, बेहद महत्वपूर्ण सुविधाओं पर ये हमला आतंकवादियों की विशिष्ट रणनीति हैं. दुनिया को इस आतंकवाद को रोकना चाहिए.

रूस के नियंत्रण में है खेरसान
खेरसॉन फरवरी में रूसी आक्रमण किये जाने के बाद से रूस के नियंत्रण में है. यह शहर इसी नाम के क्षेत्र की राजधानी है. यह उन चार क्षेत्रों में शामिल है जिसे रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने पिछले महीने अवैध रूप से रूस में मिला लिया और फिर वहां रूसी मार्शल लॉ लगा दिया. शुक्रवार को, यूक्रेनी सेना ने प्रांत में रूसी मोर्चे पर बमबारी की और वे इसकी राजधानी पर पूर्ण हमला करने के और करीब पहुंच गये. वे क्रेमलिन समर्थित सेना के पुन: आपूर्ति मार्गों को निशाना बना रहे हैं.

Share:

Next Post

40 फीसदी कमीशन सरकार चल रही है कर्नाटक में : राहुल गांधी

Sun Oct 23 , 2022
रायचूर । राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने आरोप लगाया कि (Alleged that) कर्नाटक में (In Karnataka) 40 फीसदी कमीशन सरकार (40 Per cent Commission Government) चल रही है (Is Running) और इसकी विविध संस्कृति को (Its Diverse Culture) विकृत किया जा रहा है (Is being Distorted) । कर्नाटक में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के 22 दिवसीय […]