देश

सागर राणा हत्याकांड: पहलवान सुशील कुमार के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

नई दिल्ली। दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम (Chhatrasal Stadium in Delhi) में हुए युवा पहलवान सागर राणा (Young wrestler Sagar Rana) हत्याकांड (Murder Case) में फरार चल रहे दो बार के ओलंपिक पदक विजेता(Olympic medalist) सुशील कुमार(Sushil Kumar) के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी(Non bailable warrant issued) किया गया है।
वहीं सूत्रों का कहना है कि कानूनी सलाह लेने के बाद सुशील कुमार(Sushil Kumar) जल्द ही मामले में अग्रिम जमानत की याचिका दायर कर सकता है। सुशील को अच्छी तरह पता है कि पुलिस के पास उसके खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। इसलिए सुशील अपने बचाव में हर संभव प्रयास कर रहा है।
मामले की छानबीन कर रहे एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि छत्रसाल स्टेडियम में हुए झगड़े के बाद पुलिस की टीम को उम्मीद थी कि सुशील पुलिस की पूछताछ में शामिल हो जाएगा। ऐसा होता तो शायद सुशील की मुश्किलें कम होती। लेकिन भागकर सुशील ने अपनी मुश्किलें बढ़ा ली हैं। पुलिस ने सुशील के खिलाफ घायल अमित, सोनू, रविंद्र और भगत सिंह के बयान दर्ज किए हैं। सभी ने सुशील व उसके बाकी पहलवानों के खिलाफ बयान दिए हैं। वहीं प्रिंस दलाल के मोबाइल से मिली वीडियो फुटेज भी सुशील के खिलाफ अहम सबूत है। ऐसे में सुशील और उसके साथियों के खिलाफ शिकंजा सख्त होता जा रहा है।


दूसरी ओर सुशील के करीबियों का कहना है कि सुशील को जानबूझकर फंसाया जा रहा है। सुशील का कसूर सिर्फ इतना है कि हमला करने वाले सुशील के साथी पहलवान हैं। आरोप है कि सुशील और उसके साथी पहलवानों ने मॉडल टाउन के एक फ्लैट से जबरन अमित, सोनू और सागन नामक पहलवान को उठाकर छात्रसाल स्टेडियम ले आए थे। आरोपियों ने छत्रसाल स्टेडियम की पार्किंग में इनकी जमकर पिटाई की। इसमें सोनू, अमित, सागर, रविंद्र और भगत सिंह घायल हो गए। अस्पताल ले जाने पर सागर की इलाज के दौरान मौत हो गई। सागर पूर्व जूनियर नेशनल चैंपियन था।
सागर ओलंपिक की तैयार रहा था। उसके पिता अशोक कुमार दिल्ली पुलिस में हवलदार हैं और उनकी तैनाती रोहिणी जिले में हैं। वारदात में सुशील का नाम आने के बाद से वह अपने साथियों संग फरार है।

Next Post

Ujjain: 5 मई के बाद किए गए विवाहों का पंजीयन नहीं होगा गलती से जारी हुए विवाह पंजीयन निरस्त होंगे

Sat May 15 , 2021
उज्जैन। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी श्री आशीष सिंह ने उज्जैन जिले में कोरोना संक्रमण को रोकने की दृष्टि से 5 मई से धारा 144 के तहत विवाह पर रोक लगाने के आदेश जारी किए हैं तथा पूर्व में दी गई विवाह की सभी अनुमति को निरस्त किया गया है। यह संज्ञान में आया कि कतिपय […]