जबलपुर न्यूज़ (Jabalpur News) बड़ी खबर मध्‍यप्रदेश

शिवराज सरकार ने हाईकोर्ट से कहा-दिसम्बर तक 18 प्लस के सभी लोगों को लग जाएगी वैक्सीन

जबलपुर। मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) में छाए कोरोना संकट (Corona Crisis) को लेकर स्वत संज्ञान वाली याचिका पर जबलपुर हाईकोर्ट (Jabalpur High Court) में सुनवाई हुई. राज्य सरकार की ओर से कोरोना मामले पर 11वीं एक्शन टेकन रिपोर्ट हाईकोर्ट में पेश(11th Action Taken Report presented in High Court) की गई. राज्य सरकार ने इसमें कोरोना संकट काल के दौरान किए गए काम का विवरण दिया. और आने वाले भविष्य में सरकार की क्या तैयारियां है इसकी विस्तृत जानकारी भी दी.
हाईकोर्ट (HIgh Court) के सामने रखी राज्य सरकार ने अपनी रिपोर्ट में बताया है कि सितंबर 2021 तक प्रदेश की 18 प्लस आबादी को सिंगल डोज लगा दिया जाएगा. इसके साथ ही दिसंबर 2021 तक प्रदेश भर की 18 प्लस आबादी पूरी तरह से वैक्सीनेट(Vaccinate) हो जाएगी. मध्यप्रदेश में ऑक्सीजन की कमी अब आने वाले समय में नहीं होगी क्योंकि राज्य सरकार की ओर से अलग-अलग जिलों में 188 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा रहे हैं. इनमें से 61 ऑक्सीजन प्लांट लगाए जा चुके हैं और बाकी भी जल्द लगाने की तैयारी है. वहीं 52 जिलों में से 14 जिलों में सिटी स्कैन मशीन लगाई हुई है. लेकिन बाकी जिलों में संसाधनों की कमी की वजह से ही सिटी स्कैन मशीन नहीं लग पाई है. सरकार ने इसके लिए टेंडर जारी कर दिया है.



इसके साथ ही सरकार ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि मध्य प्रदेश के 13 मेडिकल कॉलेजों में 1280 वेंटिलेटर उपलब्ध किए जा चुके हैं. सितंबर 2021 तक प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में 16977 बेड इलाज के लिए उपलब्ध हो जाएंगे. ऑक्सीजन, आईसीयू, एचडीयू और पीआईसीयू के 7595 बैड भी उपलब्ध हो जाएंगे. राज्य सरकार की ओर से पेश की गई एक्शन टेकन रिपोर्ट से हाई कोर्ट संतुष्ट नजर आया. इस मामले पर अगली सुनवाई 6 सितंबर को तय की गई है.

Share:

Next Post

EOS-03 Satellite : आसमान में कल 'निगहबान' तैनात करेगा ISRO, Gisat-1 उपग्रह की लॉन्चिंग का काउंटडाउन शुरू

Wed Aug 11 , 2021
श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) कल यानी गुरुवार को नया कीर्तिमान रचने जा रहा है। भारत 75वें स्वतंत्रता दिवस से तीन दिन पहले अंतरिक्ष (Space) में एक बड़ी छलांग लगाने जा रहा है। इसके तहत अब अंतरिक्ष से भी देश पर नजर रखी जा सकेगी। दरअसल, इसरो पृथ्वी (Earth) की निगरानी करने वाले अपने […]