उज्‍जैन

महाकाल क्षेत्र में तहसीलदार और प्रशासन की टीम पहुँची, पहले चारधाम मंदिर क्षेत्र के मकान तोड़े इसके बाद महाकाल के बाहर होगी हटाने की कार्रवाई

उज्जैन। महाकाल के आसपास के क्षेत्र को 70 से 100 मीटर तक चौड़ा किए जाने के लिए आज से निर्णायक कार्रवाई शुरू हो गई और तहसीलदार अभिषेक शर्मा के नेतृत्व में प्रशासन तथा नगर निगम का दल कार्रवाई में जुटा था। सबसे पहले चारधाम मंदिर के समीप रोड पर बने निर्माण को हटाया जा रहा है। महाकाल विस्तारीकरण की दिशा में जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम ने आज सुबह महाकाल क्षेत्र में बड़ी कार्रवाई शुरू की। प्लानिंग के मुताबिक यहाँ आज यहाँ महाकाल मंदिर के ठीक सामने स्थित 11 मकानों को तोड़ा जाना है लेकिन इसके पहले प्रशासन और नगर निगम की टीम ने त्रिवेणी संग्रहालय से जयसिंहपुरा के मध्य चारधाम मंदिर के पास वाले 9 मकानों का अतिक्रमण तोडऩा शुरू किया। हालांकि लोगों का कहना था कि उन्होंने टीम के आने से पहले ही अपने हाथों से मकान तोडऩा शुरू कर दिए थे। अधिकारियो का कहना था कि पहले चारधाम मंदिर के आसपास के उपरोक्त नौ मकान तोड़े जा रहे हैं। इसके बाद पूरी टीम महाकाल मंदिर के ठीक सामने स्थित 11 मकानों को जमींदोज करेगी।

उल्लेखनीय है कि महाकाल मंदिर के सामने वाले 11 मकानों का 13 करोड़ से ज्यादा का मुआवजा जिला प्रशासन मकान मालिकों को दे चुका है। इधर महाकाल क्षेत्र में कार्रवाई के लिए नगर निगम के झोन नंबर 3 में दो दिन पहले से तैयारियाँ शुरू हो गई थीं। निगमायुक्त अंशुल गुप्ता ने इस कार्रवाई के लिए मौके पर आज झोन 3 के झोन अधिकारी से लेकर अन्य कर्मचारियों की भी ड्यूटी लगा दी थी। आज सुबह से ही कार्रवाई के लिए तहसीलदार अभिषेक शर्मा के अलावा नगर निगम के अधिकारी मौके पर पहुंच गए थे। नगर निगम की गैंग भी यहाँ जेसीबी, डम्पर और अन्य संसाधन लेकर कार्रवाई के लिए पहुंच गई थी। एक ओर चारधाम क्षेत्र में नगर निगम की टीम मकान तोड़ रही थी, वही दूसरी ओर महाकाल मंदिर के सामने वाले प्रभावित क्षेत्र के मकान के लोगों ने कार्रवाई के पहले अपना रहा-सहा सामान समेटना शुरू कर दिया था। इस कार्रवाई को लेकर दो दिन पहले ही बैठक में कलेक्टर ने साफ कह दिया था कि गुरुवार से महाकाल के सामने के 11 मकान और जयसिंहपुरा से त्रिवेणी संग्रहालय के बीच के 11 मकानों पर कार्रवाई की जाएगी। शाम तक दोनों क्षेत्रों में कार्रवाई पूरी करने की बात अधिकारियों ने कही। महाकाल मंदिर के सामने 11 मकानों की रिक्त हुई जमीन पर यात्रियों के लिए सुविधाएँ जुटाई जाएंगी। यहाँ शिखर दर्शन आसानी से हो सकें, इससे संबंधित निर्माण भी किए जाएंगे। चारधाम मंदिर से हटाए जा रहे 9 मकानो की जमीन पर पार्किंग और अन्य विकास कार्य किए जाएंगे। महाराजवाड़ा स्कूल भवन में भी हैरिटेज होटल के साथ-साथ सिंहस्थ संग्रहालय का निर्माण किया जाएगा। इस कार्रवाई को लेकर कई दिनों से संशय की स्थिति थी लेकिन आज से इसे आरंभ कर दिया गया।

Share:

Next Post

नाबालिगा का मामला सुनकर हतप्रभ रह गए प्रभारी मंत्री

Thu Nov 25 , 2021
बोले मुझे इस बारे में पता ही नहीं था, तत्काल की एसपी से की मामले को लेकर बात जबलपुर। जिले के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव आज सुबह शहर प्रवास पर सर्टिक हाउस पहुंचे। जहां पर प्रत्रकार वार्ता के दौरान अग्निबाण के संवाददाता द्वारा प्रभारी मंत्री से नाबालिग मामले को लेकर सवाल किए। दिलचश्प पहलू यह […]