भोपाल न्यूज़ (Bhopal News)

उपचुनाव का घमासान… विरासत छीनने की खिलाफत

  • कांग्रेस में दीपक भूरिया ने की बगावत, भाजपा में भी सुलोचना रावत का विरोध

भोपाल। मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 30 अक्टूबर को होने वाले उपचुनाव के लिए शुक्रवार को नामांकन पत्र (Nomination Letter) दाखिल करने का आखिरी दिन था। चारों सीटों के लिए आखिरी दिन नामांकन दाखिल करने वाले प्रत्याशियों की भीड़ लगी रही। अलीराजपुर की जोबट सीट के लिए कांग्रेस-भाजपा (Congress_BJP) प्रत्याशियों ने पर्चे भरे लेकिन यहां कांग्रेस को परेशानी में डाल दिया पार्टी के अनाधिकृत प्रत्याशी दीपक भूरिया (Unauthorized candidate Deepak Bhuria) ने। अलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा सीट पर उप चुनाव है। ये सीट कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया (Congress MLA Kalavati Bhuria) के निधन से खाली हुई है। उनका कोरोना (Corona) के कारण निधन हो गया था। जोबट सीट के लिए कांग्रेस की तरफ से महेश पटेल और भाजपा की सुलोचना रावत (Sulochana Rawat) ने पर्चे भरे। सुलोचना रावत उप चुनाव से ऐन पहले दल बदल कर कांग्रेस (Congress) से भाजपा में गयी हैं और वहां टिकट भी हासिल कर लिया।



लेकिन चर्चा रही दीपक भूरिया की जो कांग्रेस नेता हैं और स्व. कलावती भूरिया के भतीजे हैं। उन्होंने अपनी बुआ की सीट पर दावा ठोकते हुए निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर नामांकन पत्र दाखिल कर दिया। कांग्रेस हो या भाजपा झाबुआ और अलीराजपुर का इलाका भूरिया परिवार की राजनीति के लिए जाना जाता है। लेकिन इस बार कांग्रेस ने भूरिया परिवार को टिकट न देकर महेश पटेल को प्रत्याशी बना दिया। इससे नाराज कांग्रेस की दिवंगत विधायक कलावती भूरिया के भतीजे दीपक भूरिया ने टिकट नहीं मिलने पर निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर अपना नामांकन दाखिल कर दिया।

समर्थकों में नाराजगी
दीपक भूरिया को टिकट न मिलने पर उनके समर्थक मायूस और निराश हैं। नामांकन पत्र करने साथ आए उनके समर्थको ने जमकर नारेबाजी की। दीपक भूरिया ने कहा वह अपनी बुआ और दिवंगत विधायक कलावती भूरिया के सम्मान में उपचुनाव लडऩे जा रहे हैं। जोबट की जनता के लिए यह चुनाव लड़ रहे हैं। अगर दीपक अपना नाम वापिस नहीं लेते हैं तो इससे कांग्रेस की मुश्किल बढ़ सकती है। क्योंकि जोबट सीट पर भूरिया परिवार का खासा असर है।

भाजपा का भी यही हाल
भाजपा में भी बगावत तो नहीं लेकिन अंदरूनी असंतोष है। पार्टी ने यहां पिछले हफ्ते ही कांग्रेस छोड़ भाजपा में आयी सुलोचना रावत को टिकट दे दिया है। इसलिए जोबट में इसका विरोध हो रहा है। भाजपा के कई कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया, जबकि कुछ कार्यकर्ताओं के इस्तीफा देने की बात भी सामने आई है। इसलिए भाजपा भी अपने कार्यकर्ताओं को मनाने में जुट गई हैं।

Share:

Next Post

कर्ज वसूली के लिए सरकार करेगी समझौता

Sat Oct 9 , 2021
गृह निर्माण सहकारी संस्था व सदस्यों को दिया गया था ऋण समझौता योजना में दंड ब्याज से छूट देने का होगा प्रवधान पूरी राशि चुकाने के लिए दिया जाएगा छह महीने का समय भोपाल। आवास बनाने के लिए गृह निर्माण सहकारी संस्थाओं (House Building Cooperatives) और उनके सदस्यों को 15 साल पहले जो कर्ज दिया […]