विदेश

इस देश में है अजीबो गरीब नियम, शादी के बाद तीन दिनों तक Toilet नहीं जा सकते दूल्हा-दुल्हन

डेस्क: शादी किसी भी धर्म या संस्कृति के लोगों के जीवन में बहुत महत्व रखती है. इसलिए इसे खास बनाने के लिए दुनियाभर में अलग-अलग तरह के रीति-रिवाज और रस्में निभाई जाती हैं. लेकिन कुछ रस्में ऐसी भी होती हैं जो आपको अचरज में डाल देती हैं. आज हम आपको एक देश की ऐसी ही एक रस्म के बारे में बताएंगे जहां पर शादी के बाद 3 दिनों तक दूल्हा-दुल्हन टॉयलेट नहीं जा सकते हैं.

द स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, शादी के बाद ये अनोखी रस्म इंडोनेशिया के टीडॉन्ग नामक समुदाय में निभाई जाती है. इस रस्म को लेकर कई मान्यताएं हैं जिसके चलते लोग इसे निभाते हैं. इसलिए शादी के तीन दिन बाद तक नवविवाहित जोड़ा टॉयलेट नहीं जाता.

इस रिवाज के पीछे मान्यता है कि शादी एक पवित्र समारोह होता है यदि वर-वधू टॉयलेट जाते हैं तो उनकी पवित्रता भंग होती है, और वे अशुद्ध हो जाते हैं. इसलिए शादी के तीन दिन तक दुल्हा-दुल्हन के टॉयलेट जाने पर पाबंदी रहती है. अगर कोई ऐसा करता है तो उसे अपशगुन मानते हैं.

इतना ही नहीं, इस रस्म को निभाने के पीछे दूसरा कारण नवविवाहित जोड़े को बुरी नजर से बचाना होता है. इस बिरादरी के लोगों की मान्यताओं के अनुसार, जहां पर मल त्याग किया जाता है वहां गंदगी होती है, जिसके कारण वहां पर नकारात्मक शक्तियां होती है. ऐसी मान्यता है कि अगर दुल्हा-दुल्हन शादी के तुरंत बाद शौचालय जाते हैं तो उनपर नकारात्मता का प्रभाव हो सकता है.

जिससे उनके दांपत्य जीवन में परेशानियां आ सकती हैं, रिश्ते में दरार पड़ सकती हैं और नवविवाहित जोड़े की शादी टूट सकती है. शादी के तीन दिनों तक दुल्हा-दुल्हन को कोई परेशानी न हो और वे रस्म को अच्छे से निभा सकें इसके लिए उन्हें कम खाना-पानी दिया जाता है और इस बात का ध्यान रखा जाता है कि वे शौचालय न जाएं. यहां पर ये रस्म बहुत ही कड़ाई के साथ निभाई जाती है.

Share:

Next Post

INDORE : शराब बेचने के आरोप में घिरे युवक की थाने में मौत

Sat Jul 31 , 2021
  पिता के तीसरे में पहुंची पुलिस…मेहमानों को पकडक़र ले गई इंदौर। शराब (Liquor) बेचने के आरोप में एक युवक को थाने बुलाने के लिए पुलिस (police) ने गैरव्यावहारिक तरीका अपनाते हुए उसके पिता के तीसरे में पहुंचकर मेहमानों को पकडक़र थाने में बिठवा दिया। रात में जैसे ही युवक खेड़ीघाट (Khedighat) पर कार्यक्रम कर […]