उज्‍जैन न्यूज़ (Ujjain News) देश मध्‍यप्रदेश

उज्जैन में आदिवासी महिला से गैंगरेप, 1.5 किलोमीटर तक अर्धनग्न हालत में भागकर बचाई जान

ताजपुर: उज्जैन (Ujjain) जिले में काम की तलाश में आई एक आदिवासी महिला (tribal woman) के साथ सामूहिक दुष्कर्म (Gang Rape) की घटना को अंजाम दिया गया. इस घटना में शामिल दो आरोपियों ने काम दिलाने की के बहाने महिला को उज्जैन से लगभग 20 किलोमीटर दूर ताजपुर (Tajpur) ले जाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

पंवासा थाना प्रभारी ने बताया कि थाना क्षेत्र में एक महिला अर्धनग्न (female half naked) हालत में घूम रही है. महिला के साथ किसी ने दुष्कर्म किया था. जानकारी होने के बाद जब जांच-पड़ताल की गई तो घटना सही पाई गई. इसके बाद पुलिस ने धरपकड़ कर आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. थाना प्रभारी ने बताया कि जबलपुर और मंडला निवासी दो प्रेमी युगल घर से भाग गए थे. पहले इन्होंने शादी की, फिर इंदौर से उज्जैन पहुंच गए. यहां पर दोनों काम की तलाश में इंदिरा नगर क्षेत्र में घूम रहे थे, तभी इन्हें रवि नाम का एक युवक मिला. रवि दोनों को काम देने का झांसा देकर अपनी बाइक पर बैठाया और यहां से ताजपुर ले गया.


दंपति को लगा था कि अब उनका जीवन सुखमय हो जाएगा, लेकिन उनको काम का झांसा देकर ले गए रवि के मन में कुछ और ही चल रहा था. रवि ने अपने एक और दोस्त इमरान को झोपड़ी के पास बुलाया और वह महिला के पति को जरूरत का सामान दिलाने के लिए उज्जैन ले आया. वहां महिला का पति कुछ सामान खरीदता, इसके पहले ही बहाना बनाकर रवि उसे छोड़कर फिर ताजपुर पहुंच गया. यहां इमरान पहले ही महिला के साथ झोपड़ी में दुष्कर्म कर चुका था. इस दौरान महिला डरी और घबराई हुई थी, लेकिन फिर भी रवि ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया.

सामूहिक दुष्कर्म के बाद महिला ने जैसे-तैसे हिम्मत जुटाई और अर्धनग्न अवस्था में ही वह झोपड़ी से गांव की ओर भागने लगी, करीब डेढ़ किलोमीटर भागने के बाद उसे कुछ लोग खेत पर काम करते हुए दिखे. महिला उन लोगों के पास पहुंच गई. लोगों ने इसकी सूचना पुलिस को दी. सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस महिला को अपने साथ थाने ले आई. रेप के इस मामले को सुलझाने के लिए पुलिस को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा. सबसे पहले तो पुलिस दुष्कर्म पीड़िता की भाषा नहीं समझ पा रही थी.

इसके लिए चिमनगंज थाने के ASI दिनेश बरकड़े को बुलाना पड़ा, जिन्होंने महिला की बात सुनी और उसके साथ हुई पूरी आपबीती थाना प्रभारी को बताई. थाना प्रभारी ने आरोपियों की धरपकड़ के लिए सर्चिंग शुरू कर दी. करीब तीन दर्जन CCTV फुटेज खंगालने के बाद आरोपियों की पहचान हो पाई. फिर कड़ी मशक्कत के बाद पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया. आरोपियों को पकड़ने के दौरान स्थितियां कुछ ऐसी बनी की आरोपी भागते-भागते घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

Share:

Next Post

MP: तबेले से गायब हुई 4 भैंसें, थाने तक पहुंची बात; खोज में जुटी पुलिस

Fri Jun 21 , 2024
जबलपुर: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के जबलपुर (Jabalpur) की पुलिस (Police) चोरी हुई भैंसों (stolen buffaloes) की तलाश में जुटी हुई है. पुलिस उनकी भैंसों की खोज में लोगों से पूछताछ कर रही है. पशु चोरों ने पुलिस को परेशानी में डाल दिया है. रात के अंधेरे में मौका पाते ही चोर भैंसों के तबेले […]