बड़ी खबर

ट्विटर ने सरकार से कहा- गाइडलाइंस का पालन करने के लिए हर संभव प्रयास जारी

नई दिल्ली. सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय (IT Ministry) की ओर से जारी इंटरमीडियरी गाइडलाइंस को के बाद माइक्रो ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म ट्विटर (Twitter) ने अपनी सफाई दी है ट्विटर ने कहा है कि वह भारत के प्रति पूरी तरह से प्रतिबद्ध रहा है और अपने प्लेटफार्म पर इस संबंध में सार्वजनिक चर्चा की सुविधा भी दे रहा है. ट्विटर ने कहा कि हमने भारत सरकार को आश्वासन दिया है कि ट्विटर नई गाइडलाइंस का पालन करने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है.

गौरतलब है कि आईटी मंत्रालय के मुताबिक बड़े सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स अपनी मूल कंपनी या किसी अन्य सहायक कंपनी के जरिए भारत में सेवाएं देते हैं. इनमें से कुछ आईटी अधिनियम और नए नियमों के तहत महत्वपूर्ण सोशल मीडिया मध्यस्थ (SSMI) की परिभाषा के अंतर्गत आते हैं.

ऐसे में इन नियमों के अनुपालन को सुनिश्चित करने के लिए सोशल मीडिया प्‍लेटफॉर्म्‍स ऐप का नाम, वेबसाइट और सर्विसेस जैसी डिटेल्‍स के अलाव तीन प्रमुख कर्मियों के ब्‍योरे के साथ भारत में प्‍लेटफॉर्म का फिजिकल एड्रेस मुहैया कराएं. पत्र में कहा गया है कि अगर आपको एसएसएमआई नहीं माना जाता है तो हर सेवा पर रजिस्‍टर्ड यूजर्स की संख्या समेत इसके कारण की जानकारी दी जाए.

नियमों का पालन नहीं करने पर सोशल मीडिया कंपनियों को अपनी मध्यस्थ इकाई का दर्जा खोना पड़ सकता है. दूसरे शब्दों में अनुपालन के मामले में उन पर आपराधिक कार्रवाई की जा सकती है. नए नियमों के मुताबिक, अधिकारियों की ओर से अगर किसी सामग्री को लेकर आपत्ति जताई जाती है और उसे हटाने के लिए कहा जाता है तो उन्हें 36 घंटे के भीतर कदम उठाना होगा.

Next Post

राजस्‍थान के हजारों किसानों को गहलोत सरकार का तोहफा, किया बड़ा ऐलान

Thu Jun 10 , 2021
जयपुर. राजस्थान में गहलोत सरकार (Gehlot Government) कृषि विद्युत कनेक्शनों पर हर महीने 1 हजार रुपए अनुदान देगी. इसकी पूरी तैयारियां कर ली गई हैं. सीएम अशोक गहलोत ने ‘मुख्यमंत्री किसान मित्र ऊर्जा योजना’ (Chief Minister Kisan Mitra Energy Scheme) के मसौदे को मंजूरी दे दी है. योजना के तहत मीटर्ड कृषि उपभोक्ताओं को बिजली […]